चार कच्चे मकान, पांच गोशालाएं ध्वस्त

बिलासपुर में बारिश का कहर; किचन की उड़ी छत, पानी का टैंक फटा

 घुमारवीं – बिलासपुर जिला में आसमान से आपदा बरस रही है।  तेज बारिश होने के कारण लोगों का जीना मुहाल हो गया है। जानकारी के मुताबिक जिला में हो रही बारिश से चार कच्चे मकान गिर गए है, जिनमें सदर खंड के जमथल में कच्चा मकान गिरने से 75 हजार रुपएउ, धौण कोठी में गिरे कच्चे मकान का 75 हजार रुपए, सलणू में गिरे मकान का 50 हजार रुपए तथा झंडूता खंड के धनीपखर गडयाना में गिरे कच्चे मकान का 50 हजार रुपए का नुकसान हुआ है। इसके अलावा पांच गोेशालाएं भी ध्वस्त हुई हैं, जिनके गिरने से करीब तीन लाख रुपए का नुकसान का अनुमान है। इसके अलावा बारिश के साथ चली तेज हवाओं से पंजैल खुर्द में एक किचन की छत उड़ गई, जिससे 30 हजार रुपए का नुकसान का अनुमान है। इसके अलावा सुई में पानी का एक पक्का टैंक फटने से लगभग 70 हजार रुपए का नुकसान बताया जा रहा है। इसके अलावा कई जगहों पर किसानों को फसलों का नुकसान भी हुआ है।

बम्म-झड़ोल सड़क पर गिरा बांस-मलबा

शुक्रवार सुबह तेज बारिश के कारण बम्म-झड़ोल सड़क पर बांस का पेड़ मलबे सहित सड़क पर गिर गया। इससे सड़क कुछ देर के लिए बंद रही। इससे यहां से गुजरने वाले लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। सड़क को करीब 11 बजे यातायात के लिए बहाल कर दिया था।

झंडूता-शाहतलाई सड़क पर गिरते रहे पत्थर

झंडूता उपमंडल के झंडूता-मांडवां-शाहतलाई सड़क पर शुक्रवार को भी पहाड़ी से पत्थर व मलबा गिरता रहा। इससे यहां से गुजरने वाले वाहन चालकों व राहगीरों को परेशानी झेलनी पड़ी। सड़क पर रुक-रुक कर पत्थर व मलबा गिरने से लोगों को खतरा सताता रहा। बताया जा रहा है कि करीब तीन बजे सड़क को पूरी तरह से बहाल कर दिया था।

पीडब्ल्यूडी को करोड़ों का नुकसान

जिला में बारिश से पीडब्ल्यूडी को करोड़ों रुपयों का नुकसान हुआ है। घुमारवीं डिविजन को 57 लाख 85 हजार, जबकि बिलासपुर डिविजन एक तथा दो को एक करोड़ 44 लाख 56 हजार व 43 लाख रुपए का नुकसान पहुंचा है।

चांदपुर स्कूल की जमीन धंसी

राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला चांदपुर में भारी वर्षा के कारण खेल के मैदान व भवन के साथ लगती जमीन धंस गई। इसके कारण वहां नाला बन गया। जमीन धंसने से भवन व शौचालय को नुकसान पहुंचने का खतरा बना हुआ है, जबकि एक बड़ा शहतूत के पेड़ के गिरने का भी खतरा बना हुआ है। प्रधानाचार्य निर्मला देवी व पंचायत प्रधान चांदपुर ने मौके का निरीक्षण किया। उन्होंने प्रशासन से सुरक्षा दीवार लगाने तथा शहतूत के पेड़ को काटने की अनुमति देने की मांग की। प्रधानाचार्य ने बताया कि पहली अगस्त से स्कूल की कक्षाएं शुरू हो जाएंगी। अगस्त महीने में ही स्कूल में खेलकूद प्रतियोगिताओं का आयोजन होगा। उन्होंने विभाग व प्रशासन उचित समय पर सुरक्षा दीवार लगवाने की मांग की है।

You might also like