जान लेने पर उतरी बेरहम बरसात

गिरि नदी में फंसे आठ लोग सुरक्षित निकाले

पांवटा साहिब— पांवटा साहिब के बांगरण के निकट गिरि नदी में अचानक आई बाढ़ की चपेट में फंसे सभी आठ लोगों को प्रशासन ने सुरक्षित बाहर निकाल लिया है। हालांकि इसके लिए रेस्क्यू आपरेशन दो चरणों में करना पड़ा। पहले चरण में गुरुवार देर रात तक पांच लोगों को निकाला गया, लेकिन अंधेरा ज्यादा होने और नदी का जलस्तर बढ़ने से बाकी के तीन लोगों को शुक्रवार सुबह निकाला जा सका। देर रात तक पांवटा साहिब के विधायक सुखराम चौधरी भी मौके पर डटे रहे और रेस्क्यू टीम का हौसला बढ़ाते रहे। गुरुवार शाम को ग्राम पंचायत डोबरी सालवाला निवासी आठ लोग नदी के बीच बने टापू में फंस गए थे। भारी बारिश के कारण जटौन स्थित डैम के सभी गेट खोल दिए गए थे, जिससे गिरि नदी में अचानक ही पानी बढ़ गया। नायब तहसीलदार निहाल सिंह कश्यप व सिंगपुरा पुलिस टीम ने मौके पर पहुंचकर राहत व बचाव कार्य शुरू कर दिया। विधायक सुखराम चौधरी और डीएसपी पांवटा प्रमोद चौहान भी मौके पर पहुंचे। स्थानीय गोताखोरों की सहायता से तीन लोगों को शाम आठ बजे तक सुरक्षित बाहर निकाला गया। उसके बाद डीसी ललित जैन ने एनडीआरएफ देहरादून से संपर्क कर एक टीम बुलाई। रात दस बजे के करीब टीम मौके पर पहुंची और देर रात 12 बजे तक दो ओर लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला गया, जिसमें एक महिला व 12 साल का बच्चा शामिल था। रात को अंधेरा होने और पानी का स्तर बढ़ने से रेस्क्यू आपरेशन स्थगित कर दिया।

कई मवेशी बचाए

शुक्रवार सुबह आपरेशन फिर से शुरू कर तीन अन्य घुमंतू गुज्जरों सहित 35 भैंसों और 20 बकरियों को भी सुरक्षित बाहर निकाला गया। नायब तहसीलदार पांवटा निहाल सिंह कश्यप ने पटवारी, नंबरदार, पंचायत प्रधान और संस्थाओं को फिर से एडवाइजरी जारी कर लोगों को नदी से दूर रहने के लिए सचेत करने को कहा है।

धांधल में पुल ढहा लाहुल से पांगी कट

केलांग — धांधल नाल पुल बाढ़ में बह जाने से तांदी संसारी नाला सड़क मार्ग ट्रैफिक के लिए बंद हो गया है। उदयपुर से करीब 14 किमी आगे धांधल में पुल ढह जाने से पांगी घाटी का लाहुल से सड़क संपर्क पूरी तरह कट गया है। कडूनाला में भी चिनाव का जलस्तर बढ़ने से करीब सड़क का दस मीटर हिस्सा ढह गया है। धांधल नाले के दोनों तरफ  दर्जनों वाहन फंस जाने से यात्रियों की दिक्कतें बढ़ गई हैं। एचआरटीसी के आरएम मंगलचंद मानेपा ने बताया कि धांधल नाला पुल बाढ़ में बह जाने से निगम की किलाड़ की तरफ जाने वाली सभी बस सेवा बंद है। बताया जा रहा है कि गुरुवार देर रात बादल फटने के कारण धांधल नाले में बाढ़ आने से नाले पर बना पुल बह गया, जिससे किलाड़ का संपर्क कट गया है। आवासीय आयुक्त पांगी चमन शर्मा ने बीआरओ से अपील की है कि नाले में जल्द पुल तैयार कर तथा कडू नाला में सड़क मरम्मत कर पांगी के किसानों को राहत पहुंचाई जाए। सड़क मार्ग बंद होने से किलाड़ की तरफ सप्लाई होने वाली खाद्य सामान उदयपुर के आसपास फंसा है, जबकि भारी तदाद में यात्री फंसे हुए हैं।

98 सड़कें बंद, 69 की बहाल

शिमला— प्रदेश में बारिश कहर बनकर बरस रही है। भारी बारिश के चलते जगह-जगह भू-स्खलन होने से गाडि़यों के पहिए थम गए हैं। भारी बारिश के चलते शुक्रवार को राज्य में 98 मार्गों में वाहनों की आवाजाही ठप रही। जिला शिमला में बारिश ने सबसे अधिक कहर बरपाया है। बारिश से शिमला में सबसे अधिक मार्ग अवरुद्ध हुए हैं। मार्ग बहाल करने का कार्य प्रगति पर है। खबर लिखे जाने तक 69 मार्ग  बहाल कर दिए गए थे, जबकि 25 मार्ग शनिवार को बहाल हो जाएंगे। चार मार्ग रविवार को वाहनों की आवाजाही के लिए बहाल होंगे। भारी बारिश के चलते शुक्रवार को सोलन में दस, शिमला में 11, रामपुर-किन्नौर में नौ, नाहन में दस, रोहड़ू में चार, मंडी में 19, कुल्लू में 19, जोगिंद्रनगर में छह, हमीरपुर में तीन, पालमपुर में दो, डलहौजी में दो और नूरपुर में तीन मार्ग वाहनों की आवाजाही के लिए अवरुद्ध हो गए थे।

सुंदरनगर से कटा 30 गांवों का संपर्क

डैहर — डैहर उपतहसील में गुरुवार रात से जारी मूसलाधार बारिश से डैहर-कांगू संपर्क मार्ग पर गासीनाला स्थान पर नाले में भारी मात्रा में पानी आने से मार्ग पर यातायात ठप पड़ गया है। इससे क्षेत्र के 30 से ज्यादा गांवों का संपर्क सुंदरनगर से कट गया है। भारी वर्षा से गासीनाले में आए भारी मात्रा में पानी में संपर्क मार्ग का 100 मीटर का भाग और वर्षाशालिका पूर्ण रूप से पानी में डूब गई है।

You might also like