ज्वालामुखी में डंगा लगाएगा एडीबी

 ज्वालामुखी —एशियन डिवलेपमेंट बैंक ज्वालामुखी मंदिर के पहाड़ी की ओर डंगे का निर्माण भी करेगा और यहां पर कैनोपी का नए आधुनिक तरीके से निर्माण भी करेगा। इससे यहां पर आने वाले यात्रियों की सुरक्षा में बढ़ोतरी होगी।  वहीं, दुकानदारों को भी राहत मिलेगी जो मौत का कफन सिर पर बांध कर दुकानदारी करने पर मजबूर हैं इस मंदिर मार्ग पर कई बार भू-स्खलन हो चुका है और जान-माल का नुकसान भी हो चुका है। इसे डेंजर जोन करार दिया जा चुका है, परंतु यहां पर डंगे लगाने के लिए करोड़ों रुपए चाहिए, जिसे खर्च करने के लिए प्रदेश सरकार, वन विभाग व मंदिर न्यास का हांसला नहीं हो पाया। उसके बाद एडीबी को यह काम सौंपा गया है, जो पचास करोड़ रुपए शहर के विकास कार्यों के लिए खर्च करने को आया है। कई विकास कार्य एडीबी ने पूरे भी कर दिए हैं, परंतु अभी तक पैसा पूरा खर्च नहीं हो पाया है। एडीबी के अधिकारी आए दिन मंदिर न्यास व नगर परिषद को पूछते हैं कि बताओ कहां पैसा खर्च करना है। विधायक रमेश धवाला की हाल में ही उनके साथ बैठक का नतीजा है कि मुख्य मंदिर मार्ग में पहाड़ी की ओर डंगे लगाने का जिम्मा एडीबी ने स्वीकार किया है। साथ ही यहां पर पुरानी कैनोपी को हटा कर नए सिरे से आधुनिक किस्म की कैनोपी का  निर्माण किया जाएगा। इसमें से हवा व धूप आदि सड़क पर महसूस की जा सकेगी। पुरानी कैनोपी में यह सुविधा नहीं है। जो कैनोपी यहां से हटाई जाएगी वो सीधे तारा देवी मंदिर मार्ग पर लगाई जाएगी , ताकि पैसे की बर्बादी न हों।  भैरों बाबा मंदिर तक कैनोपी लगाने की मंदिर की योजना है साथ ही परिक्रमा मार्ग की सभी सड़कों की मरम्मत करवाई जाएगी। टेढ़ा मंदिर मार्ग की मरम्मत होगी साथ ही लाइट, पानी, शौचालय, रेन शैल्टर व अन्य मूलभूत सुविधाएं इस परिक्रमा मार्ग में मुहैया करवाने के लिए एडीबी व मंदिर न्यास ने निर्णय लिया है। इससे रोजगार के अवसर युवाओं को मुहैया होंगे, शहर का विस्तार होगा, यात्रियों को आकर्षित करने के लिए शहनशाह अकबर की नहर का जीर्णोद्धार होगा। प्राचीन टेढ़ा मंदिर का सौंदर्यीकरण होगा। यहां पर रसोई व सराय आदि का निर्माण होगा। इस संदर्भ में एसडीएम राकेश शर्मा ने कहा कि मंदिर न्यास की बजट बैठक में इन सभी कार्यों को बजट का प्रावधान किया गया है। एडीबी से बड़ी योजनाओं को कराया जा रहा है।

 

You might also like