तीसा में छात्रों का भविष्य अंधेरे में

स्टाफ की कमी से नौनिहालों को झेलनी पड़ रहीं दिक्कतें

तीसा – राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला तीसा के छात्रों के एक प्रतिनिधिमंडल शुक्रवार को एसडीएम चुराह को ज्ञापन सौंप कर रिक्त पडे अध्यापकों के पद भरने की मांग उठाई है। उन्होंने कहा कि अध्यापकों के पद रिक्त होने से पाठशाला में पठन-पाठन की व्यवस्था बुरी तरह चरमरा गई है। उन्होंने जल्द अध्यापकों के रिक्त पद न भरे जाने की सूरत में पहली अगस्त से उग्र आंदोलन छेड़ने की बात भी कही। जिसकी सारी जिम्मेदारी प्रदेश सरकार व शिक्षा विभाग की होगी। एसडीएम को सौंपे ज्ञापन में छात्रों का कहना है कि पाठशाला से अध्यापकों के तबादले दूसरी जगह कर दिए गए हैं, लेकिन इन रिक्त पदों को भरा नहीं जा रहा है। उन्होंने बताया कि पाठशाला से अंग्रेजी, वाणिज्य, बायोलोजी व इतिहास के प्रवक्ताओं का तबादला हो चुका है। जिस कारण पढ़ाई बुरी तरह बाधित हो रही है। उन्होंने कहा कि सरकार व विभाग की इस कारागुजारी से बच्चों को घर-द्वार के नजदीक बेहतर शिक्षा देने की कवायद पर भी सवाल उठ खडे हुए हैं। बहरहाल, तीसा पाठशाला के छात्रों ने एसडीएम को ज्ञापन सौंपकर अध्यापकों के रिक्त पद भरने को लेकर 31 जुलाई की डेडलाइन तय कर दी है। उधर, एसडीएम चुराह हेमचंद वर्मा ने छात्रों के प्रतिनिधिमंडल को आश्वस्त किया है कि जल्द अध्यापकों के रिक्त पदों को भरने हेतु सकारात्मक कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

You might also like