दो करोड़ की मूर्ति चुराने वाला 18 साल बाद मनीमाजरा में गिरफ्तार

भावानगर— जिला किन्नौर पुलिस ने करीब अठारह साल बाद दो करोड़ की मूर्ति चोरी के आरोपी को चंडीगढ़ के मनीमाजरा से दबोचने में सफलता प्राप्त की है। प्राप्त जानकारी के अनुसार  1993 में सांगला के बौद्ध मंदिर से दो करोड़ कीमत की मूर्ति चोरी हो गई थी, जिसे बाद में इटली से बरामद किया गया था। उस चोरी के आरोप में अशोक कुमार पुत्र दोर्जे राम निवासी पानवी तहसील निचार जिला किन्नौर को पकड़ा गया था व आरोपी के खिलाफ भादस की धारा 453, 380, 411, 414 व 120बी के तहत मामला दर्ज किया गया था। केस की सुनवाई सीजेएम किन्नौर की अदालत में चल रही थी व सुनवाई के दौरान ही आरोपी अशोक कुमार भाग गया था। सीजेएम किन्नौर द्वारा 29 दिसंबर 2000 को आरोपी को भगोड़ा घोषित कर दिया गया था। किन्नौर पुलिस को सूचना प्राप्त हुई थी कि उक्त व्यक्ति मनीमाजरा में रह रहा है। एसपी किन्नौर साक्षी वर्मा की अगवाई में एक दल आरोपी को पकड़ने मनीमाजरा रवाना हुआ। दल में सांगला थाना प्रभारी एएसआई ईश्वर सिंह, जगदेव वर्मा, पूर्ण चंद व प्रदीप भी शामिल थे। आरोपी व्यक्ति को सुबह साढ़े पांच बजे मनीमाजरा  से पकड़ा गया। एसपी किन्नौर साक्षी वर्मा ने पुष्टि करते हुए बताया कि आरोपी को कोर्ट में पेश कर 30 जुलाई तक रिमांड हासिल किया गया है व आरोपी से पूछताछ की जा रही है।

You might also like