नवाज-मरियम गिरफ्तार

आबुधाबी से लाहौर एयरपोर्ट पर उतरते ही भ्रष्टाचार में फंसे बाप-बेटी को दबोचा

लाहौर— भ्रष्टाचार के केस में दोषी पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और उनकी बेटी मरियम शुक्रवार देर शाम दुबई से लाहौर के अल्लामा इकबाल इंटरनेशनल एयरपोर्ट पहुंचे। लाहौर एयरपोर्ट पर ही पुलिस ने दोनों बाप-बेटी को गिरफ्तार कर लिया। पाक मीडिया की मानें तो पूरे मामले को ध्यान में रखते हुए पंजाब सूबे में इंटरनेट सर्विस बंद कर दी गई है। पाकिस्तान में किसी भी स्थिति को बिगड़ने से रोकने के लिए शरीफ की पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) के 300 से ज्यादा कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया गया। इसके बावजूद लाहौर एयरपोर्ट के बाहर उनके समर्थक भारी संख्या में मौजूद थे। आबुधावी से लाहौर के लिए निकलने से पहले शरीफ ने अपने समर्थकों को संबोधित करते हुए कहा था कि जो मेरे बस में है और जो मेरे बस में था, वह मैंने कर दिया है। मुझे मालूम है कि लाहौर पहुंचते ही मुझे जेलखाने भेज दिया जाएगा, लेकिन पाकिस्तानी कौम को मैं बताना चाहता हूं कि यह सब मैं आप के लिए कर रहा हूं। यह कुर्बानी मैं आपकी नस्ल के लिए दे रहा हूं। लिहाजा मेरा भरपूर साथ दें। बता दें कि 2016 में पनामा पेपर केस में नाम आने के बाद नवाज शरीफ को जुलाई 2017 में प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा था। जांच के बाद शरीफ और उनकी बेटी मनी लांड्रिंग का केस चलाया गया था। पाकिस्तानी ट्रिब्यूनल कोर्ट ने पिछले शुक्रवार को शरीफ और उनकी बेटी मरियम को दोषी पाया और शरीफ को 10 साल और उनकी बेटी मरियम को सात साल की सजा सुनाई। दोनों को उनकी अनुपस्थिति में सजा सुनाई गई। दोनों उस दौरान लंदन में थे, वहीं शरीफ की पत्नी गंभीर तौर पर बीमार हैं। पाकिस्तान में चुनाव जुलाई 25 से होने हैं। इस मामले का असर पाकिस्तान के चुनाव पर भी होगा। तहरीक-ए-इंसाफ के प्रमुख इमरान खान को इसका सबसे ज्यादा फायदा होगा। शरीफ के खिलाफ याचिका देने वालों में एक इमरान खान भी थे।

समर्थकों का हंगामा

लाहौर एयरपोर्ट के बाहर नवाज शरीफ के समर्थक भारी संख्या में मौजूद थे। किसी भी तरह की गड़बड़ से निपटने के लिए दस हजार जवान तैनात किए गए थे। पुलिस ने एहतियातन 300 से ज्यादा समर्थकों को हिरासत में भी लिया। इलाके में इंटरनेट सेवाएं भी रोकनी पड़ीं।

You might also like