पंडित विद्यासागर को सम्मान

 कुल्लू  —देवसदन कुल्लू में सूत्रधार कला संगम ने 13वां सूत्रधार गुरु पूर्णिमा महोत्सव सूत्रधार संगीत अकादमी के माध्यम से धूमधाम से मनाया गया।  संस्था अध्यक्ष दिनेश सेन ने बताया कि कार्यक्रम सूत्रधार संगीत अकादमी के प्रक्षिशुओं द्वारा अपने गुरु पंडित विद्यासागर शर्मा के सम्मान में रखा गया। कार्यक्रम की शुरुआत दीप प्रज्जवलन तथा सरस्वती वंदना से हुई से हुई। संस्था अध्यक्ष दिनेश सेन ने सभी मेहमानों का स्वागत किया। सूत्रधार संगीत अकादमी के प्रक्षिशुओं द्वारा गुरु पंडित विद्यासागर शर्मा को सम्मानित किया गया। इस कार्यक्रम में सूत्रधार संगीत अकादमी के लगभग 100 प्रक्षिशुओं ने भाग लिया। इन सभी प्रशिक्षुओं द्वारा एक से बढ़कर एक बेहतरीन प्रस्तुतियां दी गईं, जिसने सभागार में बैठे सभी दर्शकों का मन मोह लिया। कार्यक्रम में पधारे विशेष मेहमान कलाकार डा. आरएस शांडिल, नीरज शांडिल, पंडित सीता राम, धीरज शांडिल तथा मदन झालटा को संस्था द्वारा कुल्लवी परंपरा और स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में पधारे प्रसिद्ध शास्त्रीय संगीतज्ञ डा. आरएस शांडिल, सेवानिवृत्त प्राध्यापक संगीत विभाग प्रमुख हिमाचल प्रदेश यूनिवर्सिटी व उनके पुत्र नीरज शांडिल, जो कि राष्ट्र स्तर पर शास्त्रीय संगीत तथा तबला वादन में अनेकं बार हिमाचल का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं, ने विशेष मेहमान कलाकार के रूप में संगीतमय प्रस्तुतियों से दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया।  तानपूरे पर धीरज शांडिल व मदन झालटा ने संगत की। कार्यक्रम का मंच संचालन संजू पठानिया तथा संस्था के महासचिव सुंदर श्याम महंत द्वारा बखूबी निभाया गया। इस अवसर पर डा. सूरत ठाकुर, प्रो. राजेंद्र प्रसाद, रविकांता कश्यप, पूनम शर्मा, ईशिता आर गिरीश, गिरीश शर्मा, दलीप शर्मा, श्याम लाल हांडा, नारायण महंत, शुभम ठाकुर, हेमा शर्मा, राम चौहान आदि अनेक गणमान्य उपस्थित रहे।

 

You might also like