पीडब्ल्यूडी को 22 लाख की चपत

बंजार में आफत की बरसात; भू-स्खलन से यातायात ठप, बादल फटने से भी तबाही

कुल्लू – जिला में पिछले दिनों से लगातार हो रही बारिश से ग्रामीण क्षेत्रों का जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। बारिश होने से जिला कुल्लू में बादल फटने भी शुरू हो गए हैं। जहां बीते दिन मणिकर्ण घाटी के ब्रह्मगंगा में बादल फटने से लाखों का नुकसान हो गया है। वहीं, लगातार बारिश होने से जिला कुल्लू की बंजार घाटी, सैंज, मणिकर्ण, लगघाटी और अप्पर वैली में भी भारी नुकसान हो गया है। बंजार उपमंडल की ही बात करें तो यहां मात्र तीन-चार दिन से भूस्खलन  का क्रम जारी है, जिससे यातायात तो पूरी तरह ठप हो रहा है, वहीं, लोक निर्माण विभाग को भी लाखों का नुकसान हो गया है। लोक निर्माण विभाग के लाखों के डंगे बरसात की भेंट चढ़ गए हैं, वहीं सड़कों पर मलबा आने से आवाजाही ठप हो गई है। लोक निर्माण विभाग बंजार की मानें तो तीन-चार दिन से लगातार हो रही बारिश से लोक निर्माण विभाग की ग्रामीण सड़कें क्षतिग्रस्त हो गई हैं। जगह-जगह भूस्खलन से डंगे गिर गए हैं। विभाग की मानें तो अब तक के आकलन में 22 लाख का नुकसान बरसात से विभाग को हुआ है।  जानकारी के अनुसार बंजार उपमंडल की बंजार, पेखड़ी और सजवाड़ की ग्रामीण सड़कें सबसे ज्यादा बरसात की भेंट चढ़ी हैं। इसके अलावा जिला कुल्लू के अन्य सब-डिवीजनों की सड़कों पर भी डंगे गिरने का सिलसिला जारी है, जिससे लोक निर्माण विभाग को लाखों का नुकसान हो रहा है।

पानी की पाइपें ध्वस्त, पेयजल संकट गहराया

बरसात से जिला कुल्लू में नदी-नालों का जल स्तर बढ़ने से कई जगह पेयजल पाइपें भी ध्वस्त हो गई हैं, जिससे लोगों को बरसात के मौसम भी पेयजल की दिक्कतें पेश आ रही हैं।

You might also like