पुराने भवनों पर होगा सर्वे, नोटिस होंगे जारी

ऊना —ऊना शहर के लिए प्रस्तावित फ्लाई ओवर निर्माण का मुद्दा नगर परिषद की बैठक में खूब गूंजा। शहर में फ्लाई ओवर के बजाय बाइपास को प्राथमिकता देने का सरकार से आग्रह किया गया। वहीं, नगर परिषद की बैठक में शहर में अन्य विषयों को लेकर भी खूब चर्चा हुई। गुरुवार को नगर परिषद ऊना की बैठक का आयोजन किया गया,  जिसकी अध्यक्षता नगर परिषद अध्यक्ष अमरजोत सिंह वेदी ने की। उन्होंने कहा कि बैठक में शहर में पुराने भवन के लिए कमेटी गठित की गई है। इसमें ईओ,एसडीओ,जेई सहित अन्य नगर परिषद मेंबर्ज होंगे। यह कमेटी शहर के पुराने भवनों को लेकर सर्वे करेगी। रिपोर्ट में यदि कोई कोताही हुई तो नोटिस भी जारी होंगे। उन्होंने कहा कि बैठक में नगर परिषद की तीन गाडि़यां लेने के लिए अंतिम स्वीकृति प्रदान की गई। वहीं, शहर में कूड़ा डोर-टू-डोर उठाने वाली कंपनी को फाइनल नोटिस एंड टर्मिनेशन की स्वीकृति दी गई। उन्होंने कहा कि कंपनी की कूड़ा उठाने को लेकर कई शिकायतें आ चुकी हैं। इसके चलते इस तरह के कदम उठाए जा रहे हैं। वहीं, स्टाफ की कमी को पूरा करने के लिए सरकार से तीन पदों के लिए आउटसोर्स करने के लिए अनुमति मांगी गई। इसके अलावा बच्चों का पार्क, डीसी कालोनी वाले पार्क में ग्रासिंग की जाएगी। साथ ही शहर में खाली जगह पर नगर परिषद द्वारा पौधारोपण किया जाएगा। उन्होंने कहा कि हर वार्ड में पांच-पांच रिपेयर वर्क के लिए सदस्यों से लिखित मांगा गया है। करीब 55 इस तरह के कार्य होंगे। उन्होंने कहा कि बैठक में 26 नक्शे पास किए गए हैं। बैठक में नगर परिषद का सालाना बजट भी पेश किया गया। पांच करोड़ 34 लाख के सालाना बजट के साथ ही नगर परिषद में विकास कार्यों को सिरे चढ़ाया जाएगा। वहीं, बैठक में फ्लाई ओवर के बजाय बाइपास होने के मुद्दे को सरकार के समक्ष उठाने के लिए आभार जताया गया। बैठक में ईओ पीसी शर्मा, उपाध्यक्ष हरजिंद्र कौर चड्ढा, पार्षद पवन कपिला, जसविंद्र कौर, सुखबिंद्र सांगड़ा, खामोश जैतक, सुमन, पुष्पा देवी, एसडीओ प्रदीप चड्ढा, जेई राजिंद्र सैणी सहित अन्य मौजूद थे।

You might also like