बदहाल सड़क पर सीएम को लिखी पाती

टांडा-पंतेहड़-बंड बिहार-मौलीचक्क सड़क पर बह रहा पानी, दो साल से नहीं ली सुध

पंचरुखी – टांडा-पंतेहड़-बंड बिहार-मौलीचक्क सड़क के प्रति विभाग के लापरवाह एवं उदासीन  रैवये के चलते स्थानीय पंचायत के लोगों ने मुख्यमंत्री को पाती लिखकर  स्थायी समाधान की गुहार लगाई है। लिखित पाती में कहा है कि  उक्त सड़क को लेकर प्रदेश लोक निर्माण विभाग मंडल बैजनाथ, उपमंडल पंचरुखी अभी तक उपरोक्त समस्या का फौरी स्थायी समाधान नहीं किया गया। पिछले दो-तीन वर्षों से सड़क के  ऐसे हालात हैं। मात्र मीडिया द्वारा मामला उठाए जाने पर  में  समस्या अस्थायी तौर पर होती है। उनका कहना है कि  सवा चार करोड़ नाबार्ड के तहत  टांडा-पंतेहड़-बंड बिहार-मौलीचक्क सड़क के लिए स्वीकृत भी हो चुका है तथा नई पुलिया निर्माण वाला सड़क  का हिस्सा भी उसमें आता है। आलम यह है कि यहां पानी सड़क में बह रहा है। सड़क के साथ विभाग शायद सब कुछ बहने का इंतजार  कर रहा है। पट्टी-पंतेहड़-होल्टा सड़क के साइड की नालियां भी नाम कीं,  उनके लिए कोई क्रॉस ड्रेन नहीं, नालियों का पानी निकासी न होने के कारण दोबारा सड़क पर आ जाता है। उनका कहना है कि पट्टी से होल्टा की दूरी 3.5 किमी., लेकिन तीन जगहों पर विभाग ने टायरिंग नहीं की है। आए दिन दोपहिया चालक हादसों का शिकार हो रहे हैं। पट्टी चौक से 100 मीटर पर, सरकारी उच्च विद्यालय पंतेहड़ के नीचे , प्रदेश कृषि विश्वविद्यालय के मत्स्य, पालन विभाग के पास 800 मीटर सड़क, लोक निर्माण विभाग तथा कृषि विश्वविद्यालय की आपसी खींचतान के कारण अति दयनीय स्थिति में है। आपसे आग्रह है कि जनहित में तथा बहुमूल्य संपदा को हो रहे नुकसान को ध्यान में रखते हुए 15 से 20 दिन के अंदर पुलिया निर्माण के आदेश दें, ताकि टायरिंग की हुई सड़क के नुकसान को जल्द रोका जा सके।

You might also like