बल्याणा खड्ड का सीना छलनी

धर्मपुर —धर्मपुर की खड्डों में हो रहे अवैध व अवैज्ञानिक खनन को लेकर लौंगणी पंचायत के पूर्व प्रधान देशराज पालसरा ने मुख्यमंत्री, उपायुक्त मंडी, एसडीएम धर्मपुर, जिला खनि अधिकारी मंडी, खन्न निरीक्षक धर्मपुर, पुलिस थाना धर्मपुर को पत्र लिखकर मांग की है कि जो खड्डों में अवैध व अवैज्ञानिक तरीके से खनन हो रहा है। इसे तुरंत रोका जाए अन्यथा लोग सड़कों पर उतरकर इसके खिलाफ आंदोलन करने को मजबूर हो जाएंगे। उन्होंने शिकायत में लिखा है कि स्टोन क्रशर मालिक हर रोज रात्रि 11 बजे से सुबह छह बजे तक बड़े पैमाने में दो जेसीबी मशीनें लगाकर बल्याणा खड्ड में बड़े पैमाने में अवैध खनन को अंजाम दे रहा है और इसकी डंपिग करवा रहा है और अगर इस समय विभाग आकर देखें तो करीब 300 ट्रक से ऊपर कच्चा माल गटका बोल्डर जमा कर रखे हैं और बड़े पैमाने पर हर रोज 50 से 100 ट्रक अवैध उठाकर जमा कर रहा है।  उन्होंने कहा कि जहां एक ओर प्रदेश सरकार ने आदेश जारी किए हैं कि बरसात के मौसम में काई भी खनन नहीं होगा और जो खनन करेगा उसके खिलाफ  कड़ी कार्रवाई की जाएगी।  वहीं, दूसरी ओर यह क्रशर मालिक प्रदेश सरकार के आदेशों को ठेंगा दिखाकर दिन-रात धड़ल्ले से अवैध खनन को अंजाम दे रहा है।  बावजूद इसके कोई भी कार्रवाई नहीं हो रही है। इस अवैध खनन की वजह से लौंगणी सनौर फिहड़ सड़क का करीब 100 मीटर डंगा इसकी भेंट चढ़ चुका है, जिसके कारण लोक निर्माण विभाग को करीब तीस लाख का नुकसान हुआ है।  उन्होंने शिकायत पत्र में लिखा है  कि खनन करने वाले लोग रात को नशे में धुत्त होकर अवैध खनन को अंजाम देते हैं और अगर कोई उन्हें रोकने की कोशिश करे तो फिर उसे डराया व धमकाया जाता है। उन्होंने मांग की कि इस पर प्रदेश सरकार व प्रशासन तुरंत कार्रवाई करे और अगर कार्रवाई नहीं होती है तो फिर लोग इसके खिलाफ   सड़कों में उतर कर विरोध करने को मजबूर हो जाएंगे,  जिसकी पूरी जिम्मेदारी प्रदेश सरकार व प्रशासन की होगी। जब इस बारे में एसडीएम धर्मपुर एचएस राणा से बात की गई तो उन्होंने कहा कि इस पर तुंरत कार्रवाई करते हुए पुलिस विभाग व माइंनिग विभाग को आदेश जारी कर दिए हैं कि वह इस पर तुरंत कार्रवाई करे। उपायुक्त मंडी से भी आग्रह किया है इस बारे में माइंनिग विभाग को आदेश जारी करें, ताकि जो अवैध खनन पर लगाम लग सके और वह स्वयं भी मौके पर जाकर अवैध खनन करने वालों पर कार्रवाई करेंगे।

You might also like