बारिश ने निचोड़ डाला सेब

आनी – आनी क्षेत्र में पिछले दो दिन से लगातार हो रही भारी बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। लगातार हो रही बारिश से क्षेत्र में इन दिनों चला सेब सीजन प्रभावित हुआ है। वर्षा से नदी-नालों का जल स्तर भी बढ़ गया है, जिससे नदी किनारे रहने वाले लोगों को एहतियात के तौर पर सतर्क रहने के निर्देश दिए गए हैं। बारिश से जगह-जगह भू-स्खलन होने और ल्हासे गिरने  से कई सड़क मार्ग अवरुद्ध हो गए हैं, जिससे परिवहन निगम के कई रूट बाधित हो गए हैं। कई जगह पर पहाड़ी से पत्थर गिरने से बसों को क्षति पहुंची है, जबकि यात्री सुरक्षित हैं। ल्हासे गिरने से क्षेत्र में कई पैदल रास्ते भी अवरुद्ध हो गए है, जिससे स्कूली बच्चों सहित आम लोगों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। बारिश से एनएच-305 लुहरी-औट-सैंज मार्ग भी जगह-जगह नालों में बाढ़ आने और भूस्खलन तथा ल्हासे गिरने से अवरुद्ध रहा, जिसे एनएच प्राधिकरण ने जेसीबी लगाकर बहाल कर दिया। सड़क पर मलबा आने से लुहरी-छोंटी सड़क मार्ग पर कारशा के पास दूध से लदा एक टैम्पो स्किड होकर सड़क पर पलट गया, जिसके बाद में मशीन की मदद से उठा लिया गया। परिवहन निगम के अड्डा प्रभारी आनी रमेश ठाकुर ने बताया कि भारी बारिश से आनी क्षेत्रों में जो बस सेवाएं प्रभावित हुई हैं, उनमें मुख्यतः आनी टिप्पर कंगुगाड़, आनी कुटवा गुगरा, आनी तराला जाओं तथा आनी रोहाचडा करशालाबाग से खनाग आदि प्रमुख हैं। उन्होंने कहा कि मार्ग खुलते ही बस रूट बहाल किए जाएंगे।

You might also like