बारिश बनी आफत, 22 रूट प्रभावित

सोलन —बीते तीन दिन से हो रही बारिश से एचआरटीसी को लाखों रुपए का नुकसान हुआ है। जानकारी के अनुसार एचआरटीसी डिपो सोलन के सोलन सहित शिमला एवं सिरमौर जिलों के कई क्षेत्रों में सड़कें अवरुद्ध होने के कारण कई बसें फंसी हुई है। इस दौरान निगम के कई रूट भी प्रभावित हुए है। इसमें अधिकतर ग्रामीण रूट शामिल है। इनमें कई ऐसे रूट भी हैं जिनकी दूरी 100 किमी से अधिक है। वहीं बारिश की वजह से आवाजाही न होने के कारण तीनों जिला के सैकड़ों लोगों को सोलन मुख्यालय नहीं पहुंच सके। एचआरटीसी के अधिकारियों के अनुसार बारिश के कारण जो रूट प्रभावित हुए हैं उनमें धारों की धार-सोलन (20 किमी), धारों की धार में, पत्योगा-करेंजी-सोलन (52 किमी) कसार में, थुंदल-सोलन (106 किमी) ज्ञानकोट में, लिहाट-शिमला (110 किमी) ज्ञानकोट में, मानवा-सोलन (75 किमी) नौरी में, धनेश्वेर-सोलन (80 किमी) शिम्लिया में, धरेच-सोलन (70 किमी) शिलाबाग, सोलन-चंधार (95 किमी) पंप हाउस में, सोलन-झिमिधार (70 किमी) रानाघाट, अर्की-पिपलुघाट वाया शेहरोल (40 किमी), अर्की से ही स्थगित, अर्की-ठांगर-पिप्लुघाट (45 किमी) अर्की से ही स्थगित, राजगढ़-रेणुकाजी (120 किमी) खैरी में, राजगढ़-पुन्नरधार (52 किमी) नोहराधार में, राजगढ़-धान ब्राइला (16 किमी) पोल्ट्री फॉर्म, राजगढ़-पिड़ग (25 किमी) चुरवाधार, राजगढ़-नाहन वाया खैरी (105 किमी) खैरी में, राजगढ़-मुरला (18 किमी), राजगढ़-फागू (16 किमी), राजगढ़-सेरजगास (17 किमी) राजगढ़ से ही स्थगित रहा, जबकि राजगढ़-संगडाह (80 किमी), राजगढ़-कैथलीभरण (35 किमी) भनोग में और सोलन-बनी बखौली  (70 किमी) नैना टिक्कर में भू-स्खलन होने सेस्थगित रहा। एचआरटीसी सोलन के क्षेत्रीय प्रबंधक सुरेश धीमान ने कहा कि एचआरटीसी डिपो सोलन के अंतर्गत 22 रूट प्रभावित हुए हैं। कई बसें विभिन्न रूटों पर फंसी हुई है। इससे डिपो को एक दिन में लाखों रुपए का नुकसान हुआ है।

You might also like