बारिश में बच्चों को बचाएं एलर्जी से

मानसून में बारिश का मजा सभी लेते हैं, लेकिन  इस मौसम में आप अपने स्वास्थ्य को लेकर हल्की सी भी असावधानी बरतते हैं, तो बीमारियों को न्योता दे सकते हैं। इस मौसम में बरसाती पानी  के संपर्क में आने से त्वचा की एलर्जी हो सकती है। एलर्जी का सबसे बड़ा कारण पर्यावरण में एलर्जी फैलाने वाले एलर्गन तत्त्वों के संपर्क में आने से होता है। आमतौर पर जुकाम, खांसी, नाक से पानी निकलना, आंखें लाल हो जाना और टांसिल्स जैसी बीमारियां होना शुरू हो जाती हैं। बरसात के मौसम में बच्चों को एलर्जी होना आम बात है। इसमें नाक बंद होना, गले में खराश और कभी-कभी बुखार जैसे लक्षण भी देखने को मिलते हैं।

बड़ों से लेकर बच्चों में भी एलर्जी के कई कारण हो सकते हैं । कभी-कभी बच्चों में कुछ और कारणों से भी एलर्जी हो सकती है। जिसे समझ पाना मुश्किल होता है। जैसे कि बच्चों का पालतू जानवरों के साथ-साथ, धूल-मिट्टी में खेलना, फूलों या पेड़-पौधों को सूंघना, खाने-पीने में लापरवाही करना।

एलर्जी के लक्षण-  हमारा शरीर बहुत ही संवेदनशील होता है। इसमें कई सारे संवेदनशील अंग होते हैं, जिनमें नाक, कान व आंख प्रमुख अंग हैं, जिनमें एलर्जी बहुत ही आसानी से हो जाती है। एलर्जी कई प्रकार की होती है और यह कई कारणों से हमारे शरीर में होती है। इसका मुख्य कारण आजकल की प्रदूषित हवा है। एलर्जी से चर्म रोग जैसी बीमारी भी होती है, जिससे  त्वचा लाल हो जाती है, त्वचा पर फुंसियां निकल आती हैं। यदि आपको भी त्वचा में खुजली या सांस लेने में तकलीफ  होती है या फिर आपको बार-बार छींक आती है, तो यह भी एलर्जी का ही लक्षण है। पेट दर्द, उल्टी, दस्त, दाद, खाज, खुजली, नाक बंद होना, स्किन पर दाने बन जाना आदि कई लक्षण हैं, जो एलर्जी को दर्शाते हैं।

एलर्जी का घरेलू इलाज-  अगर आपको त्वचा में किसी भी प्रकार की एलर्जी हो रही है, तो आप कपूर और नारियल के तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसका इस्तेमाल करने के लिए आपको कपूर को पीस कर और नारियल के तेल में अच्छी तरह मिलाकर अपनी खुजली वाली जगह पर लगाना है, ऐसा करने से आपको जल्दी राहत मिलेगी। अधिकतर लोगों की नाक में खुजली, खांसी व सिरदर्द आदि इस उपाय से ठीक हो जाते हैं। एक कप पानी में कटे हुए अदरक को दालचीनी के साथ और थोड़ी सी लौंग मिलाकर 5 से 10 मिनट के लिए उबाल लेना है। जब यह काढ़ा बनकर तैयार हो जाए, तो इसमें शहद मिलाकर उसे चाय की तरह पीना है। ऐसा करने से आपकी नाक की एलर्जी दूर हो जाती है, ध्यान रहे इसका सेवन आपको दिन में कम से कम तीन बार करना है। एलर्जी की समस्या से बचने व इसे दूर करने के लिए घर में ही मौजूद अदरक, काली मिर्च, तुलसी के पत्ते, लौंग व मिसरी को मिलाकर बनाई गई हर्बल चाय पीनी चाहिए। इस चाय से न सिर्फ एलर्जी से निजात मिलती है, बल्कि एनर्जी भी मिलती है और ये आपको बीमार होने से बचाती हैं। एलोवेरा के अंदर जीवाणुरोधी जानी एंटीबैक्टीरियल गुण होता है त्वचा पर होने वाली लाली और खुजली को ठीक करने के लिए यह बहुत ही ज्यादा कारगर होता है। एलोवेरा की कुछ पत्तियों को पीसकर त्वचा पर लगाने पर आपकी स्किन एलर्जी यानी त्वचा की एलर्जी खत्म हो जाती है। इसका इस्तेमाल आप कम से कम दिन में दो बार कर सकते हैं। नीम के कई सारे आयुर्वेदिक गुणों के कारण इसे आयुर्वेदिक औषधि की श्रेणी में रखा गया है और इसके भीतर बैक्टीरिया को खत्म करने की शक्ति होती है। यदि आप इसके पत्तों को रात में भिगोकर रख देते हैं और सुबह पत्तों को पीसकर खुजली वाली जगह पर लगाते हैं, तो आपकी त्वचा में होने वाली खुजली दूर हो जाती है। नीम के पत्तों को पानी में उबालकर उस पानी से बच्चों को नहला भी सकते है। त्वचा की खुजली को दूर करने के लिए यह रामबाण का काम करता है।

You might also like