बारिश से संगड़ाह की सड़कें जाम

संगड़ाह -मूसलाधार बारिश के चलते लोक निर्माण विभाग मंडल संगड़ाह के अंतर्गत आने वाली सभी मुख्य सड़कें गुरुवार बाद दोपहर दो बजे तक बंद रही। करीब 19 घंटे तक हुई बारिश के चलते बंद संगड़ाह-नाहन, संगड़ाह-चौपाल तथा हरिपुरधार-नौहराधार आदि सड़कों पर हालांकि विभाग द्वारा गुरुवार सुबह ही मलबा हटाने का कार्य शुरू किया गया, मगर संगड़ाह-राजगढ़ मार्ग पर जहां बाद दोपहर मलबा हटाए जाने के लिए जेसीबी मशीन भेजी गई, वहीं क्षेत्र के दर्जन भर अन्य सड़कों पर यातायात बहाल किए जाने के प्रयास शुरू होना शेष है। इस दौरान जगह-जगह 200 के करीब वाहन तथा दो दर्जन बसें भू-स्खलन से बंद सड़कों पर फंसी रही। सैकड़ों लोग बारिश में सड़कें बंद होने पर पैदल निकलते देखे गए। बुधवार शाम सात बजे से शुरू तेज बारिश के चलते हालांकि मध्य रात्रि ही अधिकतर सड़कें बंद हो गई थी, मगर विभाग के अनुसार सड़कों से मलबा हटाने का कार्य भारी बारिश के चलते सुबह जल्दी शुरू नहीं हो सका। लोक निर्माण विभाग के अधिशाषी अभियंता संगड़ाह का गुरुवार को क्षेत्र में मौजूद न होना भी चर्चा में रहा। इस दौरान विद्युत आपूर्ति भी बाधित रही तथा दो दर्जन गांव की पेयजल योजनाएं नालों में आई बाढ़ के कारण बंद हो चुकी है। विभाग द्वारा संगड़ाह-रेणुकाजी-नाहन व हरिपुरधार-नौहराधार मार्ग पर जहां दो-दो जेसीबी मशीन लगाई गई, वहीं संगड़ाह-पालर-राजगढ़ व संगड़ाह-हरिपुरधार-चौपाल मार्ग पर एक-एक मशीन लगाए जाने की बात अधिकारियों ने कही। विभाग के अधिशाषी अभियंता संगड़ाह केएल चौधरी ने मोबाइल पर हुई बातचीत में कहा कि वह विभागीय कार्य से क्षेत्र से बाहर गए थे तथा सड़कों पर यातायात बहाल करने का कार्य युद्ध स्तर पर जारी है। उन्होंने कहा कि विभाग के पास संगड़ाह मंडल में मौजूद दो सरकारी जेसीबी मशीनों के अलावा चार प्राइवेट मशीनों से मलबा हटाने का कार्य जारी है तथा तीन मुख्य सड़कों पर यातायात बहाल किया जा चुका है। सहायक अभियंता हरि चंद चौहान ने कहा कि संगड़ाह-रेणुकाजी-नाहन मार्ग पर यातायात बहाल किया जा चुका है तथा जल्द क्षेत्र के अन्य संपर्क मार्ग से मलबा हटाए जाने का कार्य किया जाएगा।

You might also like