बिलासपुर में डेंगू पर घेरे नड्डा-अनुराग

नम्होल –हिमाचल प्रदेश युवा कांग्रेस के सचिव एवं प्रवक्ता अभिषेक राणा ने गुरुवार को जारी बयान में कहा है कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री के गृह जिला बिलासपुर में जिस तरह डेंगू से पीडि़त मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है, उससे स्वास्थ्य सुविधाओं की ढोल पीट रही सरकार व सत्तारूढ़ दल के नेताओं के वादों की पोल खुल गई है। अभिषेक राणा ने कहा कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा व हमीरपुर के सांसद अनुराग ठाकुर आए दिन बिलासपुर के एम्स अस्पताल केसरी रहने की जंग में उलझे हैं और सांसद द्वारा तो सांसद मोबाइल वैन लोगों को घर-द्वार पर मुहैया करवाई जाने के दावे भी मीडिया में किए जा रहे हैं, लेकिन सत्तारूढ़ दल के दोनों ही नेताओं ने अभी तक डेंगू मरीजों की सुंध लेना मुनासिब नहीं समझा है और न ही डेंगू पर काबू पाने के लिए बिलासपुर में माहिर चिकित्सकों को भेजा गया है। अभिषेक राणा ने कहा कि जब स्वास्थ्य मंत्री के गृह जिला में ही स्वास्थ्य सेवाएं पटरी से उतरी हुई हैं तो बाकी प्रदेश में स्वास्थ्य सुविधाओं की क्या उम्मीद की जा सकती है। उन्होंने कहा कि बिलासपुर जिला में डेंगू के आए दिन नए मामले सामने आ रहे हैं, लेकिन विभाग इस बीमारी पर नियंत्रण पाने में पूरी तरह विफल साबित हुआ है। उन्होंने कहा कि अगर कांग्रेस सरकार में इस तरह का प्रकोप हुआ होता तो भाजपा नेताओं ने अब तक आसमान सिर पर उठा लेना था, लेकिन सत्ता के नशे में मदमस्त भाजपा नेताओं को आम आदमी को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया करवाने के बारे कोई चिंता नहीं है। उन्होंने कहा हमीरपुर के मेडिकल कालेज व बिलासपुर के एम्स अस्पताल को लेकर श्रेय कि नूरा कुश्ती लड़ने के बजाय इस संसदीय क्षेत्र में स्वास्थ्य का नेटवर्क सुदृढ़ करने की तरफ  ध्यान देना चाहिए। उन्होंने इस बात पर हैरानी व्यक्त की कि सरकारी तंत्र द्वारा डेंगू की रोकथाम के लिए अभी तक कोई पुख्ता उपाय नहीं किए गए हैं।

 

You might also like