भावानगर में पीडब्ल्यूडी के 20 लाख हुए पानी

भावानगर – किन्नौर जिला में पिछले 24 घंटे से हो रही बारिश ने कहर बरपाना शुरू कर दिया है। 24 घंटे से लगातार हो रही बारिश के कारण लोक निर्माण विभाग भावानगर मंडल का करीब 20 लाख रुपए के नुक्सान का आंकलन का अनुमान है। यदि मौसम ऐसा ही रहा तो लोक निर्माण विभाग के नुक्सान का आंकडा और अधिक बढ़ सकता है। बारिश के कारण जगह-जगह ल्हासा गिरने से निचार खंड के कई क्षेत्र के संर्पक मार्ग बंद हो गए है। इससे क्षेत्र के कई संर्पक मार्गों पर वाहनों के पहिए पूरी तरह थम गए है। सूचना के अनुसार निगुलसरी तरांडा संर्पक मार्ग, छोटा कंबा संर्पक मार्ग, कंडार संर्पक मार्ग, पौंडा बरी संर्पक पूरी तरह अवरुद्ध हो गए है। काफनू-वांगतू संर्पक मार्ग में 1892 कैंची के साथ नाले से पानी गिरने के कारण यह मार्ग तीन घंटे तक बंद रहा। इस मार्ग में नाले से पानी गिरने के कारण भावावैली को गैस की सप्लाई लेकर जा रही गाडी भी वहां फंसी रही। इसके अलावा निचार के छोत्त कंडे में भूस्खलन होने से आईपीएच विभाग की र्सोस पाइप लाइनें टूट गई हैं। इससे निचार, भावानगर और सुंगरा में पानी की आपूर्ति पूरी तरह बाधित हो गई है। हालांकि विभाग ने पानी लाईन को दुरुस्त करने का प्रयास तो किया लेकिन भारी बारिश के कारण पेयजल लाइन दुरुस्त नहीं हो पाई है। उधर, गुरुवार देर सायं पानवी नाले में पानी बढ़ने से पानवी-वांगतू मार्ग में भारी नुक्सान हुआ है। पानवी मार्ग बंद होने के कारण लोक निर्माण विभाग की एक जेसीबी मशीन भी पानवी नाले के उस पार फंसी हुई है। लोक निर्माण विभाग के एक्सईन आरएल चौहान ने मार्ग बंद होने की पुष्टि की है। एसडीएम घनश्याम दास ने क्षेत्र के लोगों से बारिश के समय घरों से बाहर नहीं निकलने की अपील की है। उन्होंने कहा कि बारिश के कारण जगह-जगह पहाड़ी से पत्थर गिरने का खतरा बना हुआ है। इसके अलावा उन्होंने कहा कि सतलुज और सहायक नदियों और नाले में  बारिश के कारण पानी का स्तर बढ़ रहा है। ऐसे में लोग बारिश के समय नदी नालों के निकट नहीं जाएं।

You might also like