मत खेलो एशिया कप

एक के बाद एक मैच कार्यक्रम को देख गुस्साए पूर्व बल्लेबाज वीरू की सलाह

नई दिल्ली— गत चैंपियन भारतीय क्रिकेट टीम के इस वर्ष सितंबर में होने वाले एशिया कप में एक के बाद एक मैच के कार्यक्रम को लेकर चौतरफा आलोचना शुरू हो गई है। पूर्व बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने तो यह तक कह दिया है कि टीम इंडिया को ऐसे में टूर्नामेंट में ही नहीं खेलना चाहिए। गत चैंपियन भारतीय क्रिकेट टीम चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान के खिलाफ 19 सितंबर को एशिया कप में बड़े मैच के लिए उतरेगी, जबकि इससे एक दिन पहले उसे क्वालिफायर टीम के साथ टूर्नामेंट में अपने अभियान की शुरुआत करनी है, जिसकी अभी पुष्टि नहीं हुई है। पूर्व भारतीय क्रिकेटर ने एशिया कप के कार्यक्रम की रूपरेखा पर सवाल उठाए हैं। सहवाग ने कहा, मुझे लगता है कि भारत को तो इस टूर्नामेंट में खेलना ही नहीं चाहिए। किसी भी खिलाड़ी को एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने के बाद अगले मैच से पूर्व कम से कम एक दिन के आराम की जरूरत होती है, जबकि एशिया कप में भारतीय टीम को लगातार दो दिन मैच खेलने होंगे। मैं इस बात से बहुत हैरान हूं कि यह कैसा कार्यक्रम तैयार किया गया है कौन सा देश है, जो दो दिन में दो अंतरराष्ट्रीय मैच खेलता है। इंग्लैंड में भी ट्वेंटी-20 सीरीज में भी हर मैच में दो दिन का अंतर था और एशिया कप में तो 50 ओवर प्रारूप में खेलना है। दुबई में मौसम बहुत गर्म होता है तो खिलाडि़यों को आराम मिलना चहिए। मुझे नहीं लगता कि यह प्रारूप कहीं से ठीक है। सहवाग ने यह तक कह दिया कि भारत को खेलना ही नहीं चाहिए। हालांकि भारत का टूर्नामेंट से हटना अब मुश्किल है, क्योंकि वह एशिया कप में खेलने की पुष्टि कर चुका है। इस बीच भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के कुछ वरिष्ठ अधिकारियों ने भी एशिया कप में भारत के कार्यक्रम को लेकर सवाल उठाए हैं और इसे बहुत ही बकवास बताया है।

You might also like