मलाड़ा में शहीदों के परिवारों को सम्मान

 सिहुंता —तहसील मुख्यालय के मलाड़ा स्थित जनजातीय भवन में गुरुवार को कारगिल विजय दिवस मनाया गया। कार्यक्रम में अर्जुन अवार्ड विजेता बीएस थापा ने बतौर मुख्यातिथि, जबकि हलके के विधायक विक्रम सिंह जरयाल ने विशेषातिथि के तौर पर उपस्थिति दर्ज करवाई।  कार्यक्रम के दौरान कारगिल के दौरान शहादत का जाम पीने वाले शहीद ओमप्रकाश की माता गुलो देवी और शहीद खेमराज के पिता मुंशीराम को विधायक विक्रम जरयाल व एसडीएम भटियात बच्चन सिंह ने शाल पहनाकर सम्मानित किया। इस मौके पर विधायक विक्रम जरयाल ने कहा कि कारगिल युद्ध में देश के 527 सैनिकों ने शहादत पाई थी। जिनमें 52 सैनिक हिमाचल के थे। तत्कालीन अटल बिहारी बाजपेयी की सरकार ने शहीदों को पूरा मान-सम्मान देते हुए शहादत को सलाम ठोंका था। उन्होंने शहीदों को भावभीनी श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि सरकारी अधिकारी शहीदों व पूर्व सैनिकों के कार्यों को प्राथमिकता के आधार पर निपटाएं। कार्यक्रम में एसडीएम बच्चन सिंह ने शहीदों की शहादत को नमन करते हुए अपने सेना में गुजारे वक्त के अनुभवों को पूर्व सैनिकों के साथ सांझा भी किया।  कार्यक्रम के दौरान पूर्व सैनिकों, वीर नारियों व अन्य गणमान्य व्यक्तियों को सम्मानित भी किया। इससे पहले मुख्यातिथि ने विधायक को सम्मानित करने की रस्म भी अदा की। कार्यक्रम में नायब तहसीलदार सिहुंता देवेंद्र कुमार, बृजलाल शर्मा, अविनाश महाजन, चुनी लाल, बलदेव सिंह, दिव्यचक्षु, पूर्ण चंद वर्मा, प्यारे लाल डोगरा, पूर्व सैनिक लीग के महासचिव महेंद्र सिंह व खैदी राम समेत काफी तादाद में लोगों ने उपस्थिति दर्ज करवाई।

 

You might also like