मांगें न मानने पर होगी रैली

चंडीगढ़ इलेक्ट्रिकल वर्कमैन यूनियन ने चेताया प्रशासन

चंडीगढ़— इलेक्ट्रिकल वर्कमैन यूनियन की सेक्टर-25 में हुई कनवेंशन में चंडीगढ़ प्रशासन को कमचारियों की मांगों को पूरा करने के लिए 20 दिनों का समय दिया गया है। कनवेंशन में कहा गया है कि यदि कर्मचारियों की मांगों को बीस दिनों में पूरा नहीं किया गया तो यूनियन 24 अगस्त को रैली करेगी और इसकी पूरी जिम्मेदारी चंडीगढ़ प्रशासन व इंजीनिरिंग डिपार्टमेंट की होगी।  कनवेंशन को संबोधित करते हुए यूनियन के जनरल सेक्रेटरी  राकेश कुमार ने आउटसोर्स कर्मचरियों की हायर एंड फायर नीति की कड़ी आलोचना की। उन्होंने कहा कि कर्मचारियों की प्रशासन के साथ कई बैठक हुई है, लेकिन कोई नतीजा नहीं निकल सका है। यदि कर्मचारियों की मांगों को बीस दिनों में पूरा नहीं किया गया तो कर्मचारी 24 अगस्त को प्रोटेस्ट रैली करेगी और इसकी जिम्मेदारी चंडीगढ़ प्रशासन व इंजीयिरिंग विभाग की होगी।  राकेश कुमार ने स्थानीय सांसद किरण खेर के रवैये की भी आलोचना की। उन्होंने कहा है कि सांसद कर्मचारियों के बडे़-बडे़ मुद्दों को लेकर कोई दिलचस्पी नहीं ले रही हैं। कर्मचारियों ने  जिन मांगों को उठाया उनमें आउटसोर्स के कर्मचारियों की नौकरियों को सुरक्षित रखने और श्रमिकों के कानूनों को लागू करने आउटसोर्स पर भर्ती किए कर्मचारियों के वेतन में बढ़ोतरी करने व जो कर्मचारी 2004 के बाद रेगुलर हुए हैं, उनके लिए पुरानी पेंशन स्कीम को लागू करने की मांग खास है। इसके अलावा खाली पदों को भरने की मांग को भी उठाया जा रहा है। इस मौके पर अश्विनी कुमार कनवीनपर को-आर्डिनेशन कमेटी ऑफ  गवनर्मेंट एंड एमसी इंप्लाइज एंड वर्कर्ज किशोरी लाल अध्यक्ष इलेक्ट्रिकल वर्कमेन के अलावा दयाराम, जसपाल शर्मा, धन सिंह, रंजीत मिश्रा  दलजीत सिंह, जसवंत सिंह सतिंदर सिंह व यूनियन के चेयरमैन वरिंद्र सिंह विष्ट ने भी मौजूद रहे।

 

You might also like