माउंट कार्मल स्कूल ठाकुरद्वारा (पालमपुर)

धौलाधार की सुंदर पहाडि़यों की आगोश में बसे पालमपुर  ठाकुरद्वारा  का माउंट कार्मेल स्कूल प्रदेश में सर्वोत्तम शिक्षण संस्थानों में से एक माना जाता  है। वर्ष 1992 में निरंतर गुणवत्ता से भरपूर  शिक्षा उपलब्ध करवाने वाला यह संस्थान  किसी भी परिचय का मोहताज नहीं है।

सिस्टर  ऑफ  सेक्रेड हार्ट के सहयोग व  कार्मेलाइट  चैरिटेबल सोसायटी द्वारा संचालित माउंट कार्मल स्कूल की प्रतिष्ठा का आलम कुछ ऐसा है कि  यह स्कूल पालम पुर या कांगड़ा जिला ही नहीं बल्कि प्रदेश भर के छात्र अपने विषय के लिए यहां अध्ययनरत हैं।

शिक्षा के लिए अति उपयुक्त वातावरण में आधुनिक व  विश्व स्तरीय ज्ञान यहां  उपलब्ध करवाकर छात्रों का सर्वांगीण विकास करना इस संस्थान का सर्वोपरि लक्ष्य रहा है । ऐसा इसीलिए है ताकि यहां से पढ़कर निकले छात्र  भविष्य में चाहे किसी भी क्षेत्र में अपना  करियर तलाश करें, उन्हें  किसी भी कठिनाई  या हीनता का सामना न करना पड़े।

माउंट कार्मल स्कूल ठाकुरद्वारा में नैतिक शिक्षा का ख्याल रखा जाता है। इनका उद्देश्य यही है कि व्यक्तित्व की नींव  मजबूत हो और आने वाले कल में सफल व्यक्तित्व बनने के साथ  देश व  दुनिया को और बेहतर बनाने के लिए अपना पूरा सहयोग दे पाएं। वर्तमान में डायरेक्टर फादर के कुशल नेतृत्व में माउंट कार्मल स्कूल ठाकुरद्वारा हिमाचली नौनिहालों का भविष्य उज्ज्वल बनाने की दिशा में निरंतर  अग्रसर है।

इस स्कूल में उच्च शिक्षित 62 शिक्षक छात्रों को उनके उज्ज्वल भविष्य के लिए तैयार कर रहे हैं। सभी शिक्षक अपने-अपने विषय के विद्वान व अध्ययन के प्रति समर्पित हैं। आईसीएसई नई दिल्ली से मान्य प्राप्त माउंट कार्मल स्कूल के नाम  पर कई रिकॉर्ड दर्ज हैं।

हमेशा जमा दो व दसवीं का परीक्षा परिणाम शत प्रतिशत रहा है। इस वर्ष 2018 की 10+12 की परीक्षा का परिणाम भी शत प्रतिशत रहा, जिसमें 10वीं कक्षा की स्तुती ने 96.4 लेकर पहला स्थान अर्जित किया था। अनन्या गुप्ता ने 96 प्रतिशत अंक लेकर दूसरा, आयुष व आभा भारती ने 95 प्रतिशत अंक लेकर तीसरे स्थान पर कब्जा जमाया था।

इसी तरह जमा दो की परीक्षा में मिली मनकोटिया ने 96 प्रतिशत अंक लेकर पहला, सुनिधि ने 95 प्रतिशत अंक लेकर दूसरा, ओजस्वी अवस्थी ने 95 प्रतिशत अंक लेकर तीसरा स्थान प्राप्त किया था।

स्कूल के जमा दो के होनहार बच्चों में आयुष जग्गी, अर्श शर्मा, रोहित भाटिया, ओजस्वी अवस्थी,  रक्षित राणा, शौर्य ठाकुर, युगल सिंह, आरुष कौंडल, दीपाक्षी सूद व मिली मनकोटिया ने जेई मेन  व एनडीए की परीक्षा में सफलता पाई है और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा पर मुहर लगाई है।

इस स्कूल में छात्र-छात्राओं के सर्वांगीण विकास पर भी जोर दिया जाता है। यही कारण है कि यहां पर खेल व सांस्कृतिक गतिविधियों का भी आयोजन किया जाता है। स्कूल के सभी बच्चों को इसमें भाग लेने के लिए प्ररित किया जाता है।

-राकेश सूद, पालमपुर

 

You might also like