मीटू कैंपेन ने चौंकाई दुनिया

अब वेटिकन की नन का खुलासा, पादरी ने किया यौन शोषण

वेटिकन सिटी— दुनिया भर में यौन शोषण के खिलाफ एकजुट होकर महिलाओं ने हैशटैग मीटू कैंपेन चलाया था, अब इस अभियान का हिस्सा ऐसी महिलाएं बन रही हैं, जिनकी मुखरता से पूरी दुनिया चौंक गई हैं। वेटिकन सिटी की कुछ नन सामने आई हैं और कैथोलिक चर्च की गोपनीयता को किनारे करते हुए बता रही हैं कि किस प्रकार एक पादरी ने उनका यौन शोषण किया था। नन ने बताया कि घटना 20 साल पहले की है उस वक्त वे डर और शर्म के कारण कुछ नहीं कह पाईं थीं, लेकिन अब वे चुप नहीं रहेंगी। उन्होंने एसोसिएटेड प्रेस को अपने साथ हुए दुर्व्यवहार की पूरी जानकारी दी। उन्होंने चिली में आयोजित एक धार्मिक सभा के दौरान अपनी आपबीती सुनाई और कहा कि उनके साथ अन्याय करने वालों पर कोई कार्रवाई नहीं हुई है। एसोसिएटेड प्रेस की रिपोर्ट के अनुसार यूरोप, अफ्रीका, दक्षिण अमेरिका और एशिया में ननों के यौन शोषण की खबरें सामने आ रही हैं, जिससे यह बात साफ होती है कि यह एक वैश्विक समस्या है। चर्च में फादर, ब्रदर और सिस्टर्स की जो हेरारकी है, उसमें नन (सिस्टर) निचले पायदान पर हैं, जिसके कारण उन्हें पुरुषों के अधीन काम करना पड़ता है और यह उनके शोषण की सबसे बड़ी वजह है। पिछले दिनों भारत के केरल में भी ननों के साथ यौन शोषण का मामला सामने आया था, जिसमें कन्फेशन के बाद पादरियों ने सिस्टर्स को ब्लैकमेल किया और उनका यौन शोषण किया था। भारत में हुई घटना के बाद राष्ट्रीय महिला आयोग ने कन्फेशन की प्रथा को प्रतिबंधित करने की सिफारिश की है, हालांकि राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग ने गिरिजाघरों में कन्फेशन की प्रथा को प्रतिबंधित करने संबंधी इस अनुशंसा का कड़ा विरोध करते हुए कहा कि यह प्रथा ईसाई धर्म का अभिन्न हिस्सा है और इसमें दखल नहीं दिया जाना चाहिए।

You might also like