रोगी कल्याण समितियों से मंत्री गुस्सा

शिमला – शिक्षा मंत्री और शिमला के विधायक सुरेश भारद्वाज की अध्यक्षता में शिमला शहर के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों की रोगी कल्याण समितियोंे की बैठक आयोजित की गई। बैठक की अध्यक्षता करते हुए सुरेश भारद्वाज ने कहा कि प्रदेश सरकार लोगों को उनके घर-द्वार के निकट गुणात्मक स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान करने के प्रयास कर रही है। भारद्वाज ने रोगी कल्याण समितियों से अपनी आय सृजन के लिए आवश्यक सुझाव देने का आग्रह किया। उन्होंने सचिवालय स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र रोगी कल्याण समिति को निर्देश दिए कि सचिवालय में रोगियों की सुविधा के लिए टेस्ट व ईसीजी जैसी सुविधाएं भी आरंभ की जाएं। उन्होंने कहा कि इस अस्पताल में ये सुविधाएं आरंभ हो जाती हैं तो यहां आने वाले मरीजों को परीक्षण व अन्य जांच के लिए दूसरे जगह जाने से छुटकारा मिल जाएगा। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र अनाडेल की रोगी कल्याण समिति के साथ चर्चा करते हुए सुरेश भारद्वाज ने इस संस्थान की प्रयोगशाला को और सुदृढ़ करने पर बल दिया। उन्होंने  प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र फागली की रोगी कल्याण समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए केंद्र के चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिए कि इस संस्थान की रोगी कल्याण समिति को और सक्रिय बनाएं और संस्थान के भवन की मरम्मत व अन्य मामलों को अगली बैठक में प्रस्तुत करें। भारद्वाज ने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र संजौली की रोगी कल्याण समिति के निष्क्रिय होने पर कड़ा संज्ञान लिया और मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिए कि इस समिति को तत्काल सक्रिय करने के लिए आवश्यक पग उठाएं। भारद्वाज ने जाखू स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की रोगी कल्याण समिति की भी अध्यक्षता की। उन्होंने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र छोटा शिमला रोगी कल्याण समिति द्वारा बैठक में आवश्यक दस्तावेज उपलब्ध न करवाने पर भी असंतोष व्यक्त किया।

You might also like