रोमांस और वासना से भरपूर ‘कयामत की रात’

स्टार प्लस पर प्रसारित हो रहे शो ‘कयामत की रात’ में करिश्मा तन्ना गौरी का किरदार निभा रही है। प्रस्तुत है करिश्मा तन्ना से उनके शो को लेकर हुई वार्ता के प्रमुख अंश…

इस शो के कॉन्सेप्ट के बारे में बताएं?

‘कयामत की रात’ का कॉन्सेप्ट पहले कभी किसी ने नहीं देखा होगा। यह शो एक फैंटेसी थ्रिलर है जिसकी कहानी रोमांस, वासना और बदले की भावना से भरपूर है। यह शो अपने जबरदस्त ट्विस्ट एवं शानदार ड्रामा से दर्शकों को उनकी सीट से बांधकर रखने का वादा करता है। ‘कयामत की रात’ एक संपूर्ण फैमिली एंटरटेनर है, जिसमें एक यंग कपल की कहानी दिखाई जाएगी। इस कपल को एक तांत्रिक के श्राप की ताकत का सामना करने के दौरान कड़ी परीक्षा से गुजरते हुए दिखाया जाएगा।

इस शो में अपने किरदार के बारे में बताएं?

मैं गौरी का किरदार निभाती हुई नजर आऊंगी। वह एक मस्तमौला लड़की है, जो अपनी शर्तों पर जिंदगी जीती है। वह नेक दिल है और अपनी बहन को दुनिया की किसी भी चीज से ज्यादा प्यार करती है। उन्हें कोई अलग नहीं कर सकता, गौरी भी ठाकुर परिवार की छोटी बेटी है। आम भाई-बहनों की तरह ही वह अपनी बहन करुणा को तंग करने का कोई भी मौका नहीं छोड़ती।

गौरी की भूमिका के लिए आपने हामी क्यों भरी?

टीम ने जिस समय मुझे कहानी सुनाई, उसी पल से मैं इसकी ओर खिंची चली आई। इस शो को हां कहने की वजह थी, स्टारप्लस, एकता कपूर और बालाजी। मैंने उनके साथ कई सारे शोज किए हैं और उस टीम के साथ मेरे अंदर सहजता का भाव था। इसकी भूमिका और इसकी कहानी काफी दिलचस्प है।

इस भूमिका के लिए आपने कैसे तैयारी की?

इस शो के सारे कलाकारों को इसके निर्देशक अमित गुप्ता के साथ कई सारे वर्कशॉप से होकर गुजरना पड़ा। हममें से हरेक को एक-एक करके अपने किरदार को बैठकर समझना पड़ा। अमित ने मुझे मेरे किरदार गौरी के भावों को समझाया और उसके बॉडी लैंग्वेज के बारे में भी बताया, साथ ही इस शो में डरने का अभिनय किस तरह करना है उसे भी बताया। उन्हें रीटेक करना पसंद नहीं आता और उनकी यही एक बात मुझे बहुत अच्छी लगती है। मुझे लगता है कि यह सबसे मुश्किल जोनर में से एक हैं, क्योंकि इसमें काफी मेहनत करने की जरूरत होती है। लेकिन मुझे लगता है कि एक कलाकार तो कलाकार ही होता है। इससे फर्क नहीं पड़ता कि आपके सामने क्या चीजें आ रही हैं, इसे एक चुनौती की तरह लें और खुद को साबित करें।

अपने साथी कलाकारों के साथ आपका तालमेल है?

सैट पर सबके साथ काफी बढि़या तालमेल है। हर कोई सहज रहता है और दिल से जवान है। इसलिए हर बार सेट पर आना मिनी पार्टी की तरह लगता है। मैं सैट पर हरेक के साथ पहली बार मिली, लेकिन हम एक-दूसरे से तुरंत ही जुड़ गए जो कि बहुत ही अच्छा था। विवेक और मैं एक-दूसरे को पिछले कुछ सालों से जानते हैं, लेकिन इस शो को साइन करने के बाद ही एक-दूसरे के साथ समय बिताने का मौका मिल रहा है। वह सैट पर खूब मस्ती करते हैं। अपरा मैम और मैं ‘क्योंकि सास भी कभी बहू थी’ के 10 सालों के बाद फिर एक साथ आ रहे हैं।

पहले ‘नागिन’ और अब ‘कयामत की रात’। क्या आप डेली सोप्स और प्रेम कहानियों से ज्यादा इस जोनर में सहज हैं?

इस जोनर के प्रति ऐसा कोई झुकाव नहीं है, लेकिन हां, मुझे यह ज्यादा चुनौतीपूर्ण लगता है। ‘कयामत की रात’ एक आम शो की तरह नहीं है और यह एक वीकेंड शो है। यह शो निश्चित रूप से आपके रोंगटे खड़े करने वाला है। मैं कम अंतराल वाले शोज के साथ जुड़ना चाहती थी क्योंकि मैं खुद को एक ही तरह के किरदार को निभाते हुए सालोंसाल नहीं देख सकती। एक कलाकार के तौर पर मैं अलग-अलग चीजें करना चाहती हूं।

इस शो के लिए अलग-अलग आउटडोर लोकेशन पर शूटिंग करने का आपका अनुभव ?

मैंने अपनी शूटिंग के लिए काफी यात्राएं की हैं, लेकिन इस शो के लिए हम जिन लोकेशन पर गए वह ताउम्र याद रखने वाला अनुभव है। हमने नायगांव, फिल्मसिटी, सतारा, पुणे और हैदराबाद में अलग-अलग लोकेशन पर शूटिंग की। यह लिस्ट इसी तरह जारी रहेगी। जल्दी मुझे डर नहीं लगता लेकिन यह लोकेशंस वाकई बहुत खौफनाक और अब तक की सबसे डरावनी लोकेशन हैं।

-अजय शर्मा, दिल्ली

You might also like