लटकते डंगों की जांच को पहुंची टीम

एनएच पर चामुक्खा में जगह-जगह हुए भू-स्खलन का भी लिया जायजा, सुरक्षा बढ़ाने के आदेश

सुंदरनगर – कीरतपुर-मनाली फोरलेन पर सुंदरनगर के चामुक्खा में डंगे  गिरने की कगार पर हैं। जैसे ही इस घटना का पता नेशनल हाई-वे अथारिटी आफ इंडिया को लगा, तो सुंदरनगर में घटनास्थल पर प्रोजेक्ट डायरेक्टर, अतिरिक्त महानिदेशक जूलॉजिकल सर्वे ऑफ  इंडिया के अधिकारियों संग टीम पहुंची। वहीं 30 जुलाई तक इस घटना से संबंधित रिपोर्ट तैयार करके जिला प्रशासन समेत आला अधिकारियों को प्रेषित की जाएगी। टीम का मानना है कि लटके पड़े डंगे नहीं गिरते हैं, तो उन्हें जनहित की सुरक्षा के लिए स्वयं ही गिराया जाना उचित होगा। इस बात को लेकर भी विचार विमर्श किया गया। वहीं टीम डंगों के गिरने और क्षेत्र में पहाडि़यों के दरकने के रहस्यों को जांचने में जुट गई है। वहीं दूसरी ओर विधानसभा क्षेत्र के विधायक राकेश जम्वाल ने राष्ट्रीय राजमार्ग चामुक्खा के पास हुए भू-स्खलन स्थल का जायजा लिया। उन्होंने भू-स्खलन से किसी भी तरह का स्थानीय लोगों व उनके घरों को नुकसान न हो, इसके बारे भी अधिकारियों से विचार-विमर्श किया। इस मौके पर अतिरिक्त महानिदेशक जूलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया  एसके जम्वाल, उपमंडलाधिकारी नागरिक राहुल चौहान और सहायक प्रवक्ता आईआईटी उदय सिंह उपस्थित रहे। गौर रहे कि बचाव के तौर पर उपमंडल प्रशासन ने वैकल्पिक व्यवस्था कर ली है। फोरलेन बंद होने की सूरत में सुंदरनगर से भनवाड़, बोबर, भवाणा, वाया सरौनी और पंघ चाह का डोहरा मार्ग को खुला रखने के लोक निर्माण विभाग को निर्देश दिए हैं। वहीं दूसरी ओर प्रशासन ने फोरलेन पर 24 घंटे जवानों की तैनाती शुरू कर दी है। स्ट्रीट लाइट समेत जिला आपदा प्रबंधन  की टीम के जवान मौके पर टैंट लगाकर दिन रात सुरक्षा उपलब्ध करवा रहे हैं। साथ ही लोक निर्माण विभाग की मशीनरी व एनटीपीसी और बीबीएमबी की मशीनरी को भी हर समय तैयार रखने के निर्देश दिए हैं। उधर, एसडीएम सुंदरनगर राहुल चौहान का कहना है कि फोरलेन के बाधित होने की सूरत में दूसरे मार्गों को खुला रखा गया है, ताकि वाहनों की आवाजाही निरंतर बनी रही।

You might also like