शिलाई कालेज को मिला प्रिंसीपल

शिलाई – लंबे समय के बाद आखिरकार राजकीय महाविद्यालय शिलाई को प्रधानाचार्य मिल गए हैं। प्रधानाचार्य के ड्यूटी ज्वाइन करने से कालेज के युवाओं में खुशी की लहर है। कालेज में पढ़ने वाले छात्र व छात्राओं की मानें तो महाविद्यालय के अंदर पिछले दो वर्षों से प्रधानाचार्य का पद खाली चल रहा था, जिसके लिए कई बार कालेज में बने विभिन्न संगठनों द्वारा विभाग व सरकार को मांग पत्र सौंपे गए थे, जिस पर संज्ञान लेते हुए प्रदेश सरकार ने महाविद्यालय शिलाई को नए प्रधानाचार्य नियुक्त किए हैं। महाविद्यालय शिलाई की छात्राओं में नीलम, प्रियंका, सुनिता, सरिता, निशा, प्रतिभा, रक्षा, कविता, कल्याणी, सुनिता, अर्चना, रंजू, पूजा , प्रियंका, पीहू व सोमलता आदि ने बताया कि महाविद्यालय शिलाई में प्रधानाचार्य के युक्तिकरण से कालेज में पढ़ रहे छात्र-छात्राओं को पढ़ाई में गति मिलेगी। कालेज को ,जहां नए प्रधानाचार्य प्राप्त हुए हैं, वहीं पर छात्रों को अच्छा शिक्षक मिला है, जिससे सभी छात्रों में खुशी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार इसी तरह रिक्त पड़े बाकी पदों पर भी जल्द नियुक्तियां करें, ताकि दुर्गम क्षेत्र में पढ़ाई कर रहे छात्रों को किसी तरह की परेशानियों का सामना न करना पड़े। उन्होंने बताया कि महाविद्यालय शिलाई में 80 प्रतिशत संख्या छात्राओं की है। ऐसी स्थिति में महिला प्रधानाचार्य नियुक्त करने पर छात्राओं के लिए काफी सहयोग मिलेगा। प्रदेश सरकार को चाहिए कि महाविद्यालय के अंदर अन्य शिक्षक भी यदि महिलाएं हो तो छात्राएं उनसे बात करना व शिक्षा ग्रहण करने में किसी तरह का गुरेज नहीं करेगी और अपनी पढ़ाई को अच्छे से कर पाएंगी। महाविद्यालय शिलाई में नवनियुक्त प्रधानाचार्य प्रो. निर्मल कमल ने बताया कि उन्होंने इससे पहले शिलाई के बारे में केवल अखबार तथा लोगों से सुना था, लेकिन शिलाई आने के बाद वह खुद से रू-ब-रू हुए हैं और वह चाहते हैं कि उनका पूरा कार्यकाल शिलाई में बीते। उन्होंने बताया कि शिलाई में उन्होंने अभी हाल ही में ज्वाइन किया है तथा विश्वास दिलाया कि उनके कार्यकाल में महाविद्यालय शिलाई अत्याधिक उन्नति करेगा।

You might also like