सावन का सोमवार…भोले के द्वार भक्तों की कतार

ऊना —श्रावण माह के प्रथम सोमवार को जिला ऊना के समस्त शिवालय ओम नमः शिवाय के स्वर से गूंज उठे। शिवालयों में पूरा दिन भोले नाथ के जयकारे लगते रहे। क्षेत्र के शिव मंदिरों महादेव मंदिर कोटला कलां, ध्यूंसर सदाशिव मंदिर, बाबा गरीब नाथ मंदिर रायपुर मैदान, शिव मंदिर मेन बाजार, शिव मंदिर पुल वाला बाजार, शिव मंदिर बैहली मोहल्ला में सुबह से ही शिव भक्तों की कतारें लगनी शुरू हो गइर्ं। सुबह से शाम तक मंदिरों में भक्तों का आना लगा रहा। शिव भक्तों ने शिवलिंग पर दूध, पुष्प, अर्क, बिल्व पत्री, चने, चावल व भांग चढ़ाकर शिव से मन्नतें मांगीं। शिवालयों में पूरा दिन शिव के उद्घोष गूंजते रहे और और बारिश के बावजूद भक्तों की आस्था कम न हुई।उधर, बनौढ़े महादेव मंदिर चताढ़ा में भी सुबह से ही भक्तों की आवाजाही लगी रही। शिव भक्त सुबह से लेकर देर सायं तक मंदिर में जल चढ़ाते रहे। मंदिर परिसर में सोमवार को हजारों भक्तों ने उपस्थिति दर्ज करवाते हुए भगवान शिव से आशीर्वाद प्राप्त किया। उधर, विभिन्न मंदिर परिसरों में श्रद्धालुओं के लिए विभिन्न व्यजंनों के लंगर भी लगाए गए।

बंगाणा – तलमेहड़ा स्थित गरीब नाथ जी मंदिर में चल रही श्रीमद्भागवत कथा की सोमवार को पूर्णाहुति हुई। आचार्य शिव कुमार शास्त्री ने प्रवचन वर्षा कर भक्तों को निहाल किया। उन्होंने कहा कि जितने भी पुराण शास्त्र हु, ये सब ऋषियों मुनियों द्वारा मानव कल्याण के लिए प्रदान किए गए हैं। मनुष्य को धार्मिक यज्ञ-अनुष्ठानों का आयोजन करते रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस संसार में अगर कोई सच्चा रिश्ता है तो वह केवल भगवान का ही है।

You might also like