सोलन मंडी पहुंचे दस हजार के्रट टमाटर

सोलन —देशव्यापी ट्रक यूनियनों की हड़ताल का फल एवं सब्जी मंडी सोलन में असर फीका रहा। हालांकि सेब मंडी  में पूरा दिन सन्नाटा छाया रहा, लेकिन टमाटर उत्पादकों ने हड़ताल को ठेंगा दिखाया। हड़ताल की पूर्व सूचना होने के कारण भी किसानों ने सोलन सहित अन्य सहायक मंडियों में टमाटर पहुंचाया। हड़ताल के दिन अकेले सब्जी मंडी सोलन में करीब 10 हजार टमाटर के क्रेट पहुंचे।  यही नहीं टमाटर के भाव में भी कुछ ज्यादा अंतर नहीं पाया गया। पिछले दिनों की तरह ही शुक्रवार को भी मंडी में हिमसोना किस्म का टमाटर 400 से 500 तक व हाइब्रिड किस्म का टमाटर 300-350 रुपए प्रति क्रेट तक बिका।  यद्यपि आढ़ति एसोसिएशन ने पहले ही सीजन के मद्देनजर ऐलान कर दिया था कि सभी आढ़ती किसानों के उत्पाद खरीदेगा, ताकि किसानों को किसी भी प्रकार की समस्या से न जुझना पड़े। आढ़ती एसोसिएशन सब्जी मंडी सोलन के अध्यक्ष अमर सिंह ठाकुर का कहना है कि ट्रकों की हड़ताल का यहां कोई असर नहीं पड़ा है। किसान रोजाना की तरह अपना उत्पाद लेकर यहां पहुंचे हैं। खासतौर पर टमाटर के भाव में भी ज्यादा फर्क हड़ताल से नहीं पड़ा है। पूर्व की तरह ही उत्पादकों को टमाटर के दाम मिले हैं। उन्होंने कहा कि टमाटर की देर शाम देश की अन्य मंडियों के लिए लोडिंग की जाएगी। इसके अलावा सेब मंडी के आढ़ती सुरेश सौहटा एवं राजीव रांटा ने कहा कि पूरे दिन एक भी पेटी सेब की नहीं आई।  बागबानों को डर था कि कहीं उनका सेब मंडी में ही न फंस जाए। इस कारण दिनभर सेब मंडी सोलन में रौनक गायब रही।

You might also like