स्वच्छता को दिलाई शपथ

हरियाणा के श्रम मंत्री ने किया जिला स्तरीय स्वच्छ सर्वेक्षण का आगाज

 करनाल — हरियाणा श्रम एवं रोजगार राज्यमंत्री नायब सिंह सैणी ने पंचायत भवन में जिला स्तरीय स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण 2018 का शुभारंभ किया और उपस्थित अधिकारियों एवं कष्ट निवारण समिति के गैर सरकारी सदस्यों को स्वच्छता की शपथ दिलाई। इस मौके पर मंत्री ने स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण 2018 के दिशा-निर्देशों की पुस्तक का भी विमोचन किया। मंत्री नायब सिंह सैणी ने कहा कि राष्ट्रीय स्तर पर पेयजल एवं स्वच्छता मंत्रालय भारत सरकार द्वारा स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण 2018 का शुभारंभ 13 जुलाई 2018 को किया गया। केंद्र सरकार द्वारा शहरी क्षेत्रों के लिए किए गए स्वच्छता सर्वे के बाद अब स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण स्तर पर करवाने का फैसला किया गया है। सर्वेक्षण का कार्य 31 अगस्त तक चलेगा। भारत सरकार की ओर से नामांकित एजेंसी द्वारा यह सर्वे कार्य किया जाएगा। इस दौरान स्वच्छता मुहिम को लेकर जिला व राज्यों की प्रतियोगिता होगी। गांधी जयंती दो अक्तूबर 2018 को सर्वश्रेष्ठ रैंकिंग प्राप्त करने वाले जिलों व राज्यों को पुरस्कृत किया जाएगा। उन्होंने बताया कि राज्य स्तर पर स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण 2018 का शुभारंभ 24 जुलाई 2018 को मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से किया गया था। इस स्वच्छता सर्वेक्षण का मुख्य उद्देश्य स्वच्छता को जन आंदोलन का रूप देना है। स्वच्छता जैसे विषय में समाज की भागीदारी आवश्यक है। इस अवसर पर मंत्री ने लोगों को स्वच्छता के महत्त्व के बारे में भी बताया। उन्होंने कहा कि  हमें अपने आस-पास स्वच्छता रखनी चाहिए और इसके बारे में लोगों को जागरूक भी करना चाहिए। इस मौके पर असंध के विधायक बख्शीश सिंह विर्क, नीलोखेड़ी के विधायक भगवानदास कबीरपंथी, डीसी डा. आदित्य दहिया, एसपी सुरेंद्र सिंह भोरिया, भाजपा के जिलाध्यक्ष जगमोहन आंनद, पूर्व विधायक रमेश कश्यप व चौ. बंता राम वाल्मीकि, स्वच्छ भारत मिशन हरियाणा के कार्यकारी उपाध्यक्ष सुभाष चंद्र, नगर निगम की पूर्व मेयर रेनू बाला गुप्ता, योगेंद्र राणा, राजबीर शर्मा, शमशेर नैन, कृष्ण भुक्कल, स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के इंचार्ज नरेश कुमार, जिला कार्यक्रम प्रबधंक राजकुमार संधू, सहायक समन्वयक राजीव कुमार शर्मा, सुखदेव चौहान, विकास सिंह सहित अन्य गणमान्य लोग मौजूद थे।

You might also like