आधार के बिना कोई डिग्री नहीं

जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में 46 साल के बाद आठ अगस्त को आयोजित होने वाले दीक्षांत समारोह में आधार के बगैर डिग्री नहीं मिलेगी। दीक्षांत समारोह में भारतीय पारंपरिक परिधान को ड्रेस कोड में लागू किया गया है। इसमें लड़कों को सफेद कुर्ता-पायजामा और लड़कियों को सफेद कुर्ता-चूड़ीदार सलवार या फिर सफेद बार्डर वाली साड़ी ही पहननी पड़ेगी। जबकि सतरंगी दुपट्टा दीक्षांत समारोह में मिलेगा। विश्वविद्यालय प्रबंधन ने पहली जनवरी, 2017 से 30 जून, 2018 तक पीएचडी पूरी करने वाले छात्रों को दीक्षांत समारोह का परफार्मा भेजा है। परफार्मा कापी में छात्रों को पूरी जानकारी अनिवार्य रूप से भरने का निर्देश था। इसी परफार्मा में आधार नंबर भरना था। आधार नंबर न भरने वाले आवदेन को स्वीकार नहीं किया गया है। जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में 46 साल के बाद आठ अगस्त को आयोजित होने वाले दीक्षांत समारोह में आधार के बगैर डिग्री नहीं मिलेगी। दीक्षांत समारोह में भारतीय पारंपरिक परिधान को ड्रेस कोड में लागू किया गया है। इसमें विश्वविद्यालय प्रबंधन ने एक जनवरी 2017 से 30 जून 2018 तक पीएचडी पूरी करने वाले छात्रों को दीक्षांत समारोह का परफार्मा भेजा है।

वीसी व शिक्षकों के लिए भी ड्रेस कोड

कुलाधिपति, कुलपति, रजिस्ट्रार, डीनए, चेयरपर्सन व सुपरवाइजर को भी उक्त ड्रेस कोड पहनना अनिवार्य है। यदि कोई ड्रेस कोड के तहत परिधान नहीं पहनेगा तो उसे समारोह में भाग लेने वाले की अनुमति नहीं होगी। ड्रेस कोड के साथ-साथ सभी को फार्मल फुटवियर पहनना अनिवार्य है।

रिहर्सल में भाग लेना अनिवार्य

दीक्षांत समारोह में भाग लेने वाले सभी छात्रों को सात अगस्त की रिहर्सल में भाग लेना अनिवार्य है। यदि कोई छात्र अनुपस्थित रहता है तो उसे समारोह सूची से बाहर कर दिया जाएगा। छात्र समारोह में अभिभावक या परिवार से किसी एक व्यक्ति को लाने की अनुमति होगी, लेकिन पहली अगस्त से पहले उसे उक्त व्यक्ति का नाम विश्वविद्यालय प्रबंधन को देना अनिवार्य होगा।

You might also like