कहर बन बरस रहा अंबर

प्रदेश भर में बारिश से भारी नुकसान, 110 रोड बंद

शिमला – प्रदेश में मानसून की बौछारें कहर बनकर बरस रही है। राज्य में जगह-जगह हो रहे भू स्खलन से जनजीवन पटरी से उतर गया है। मौसम के कहर से लोग सहमे हुए हैं। रविवार को बद्दी व बरोटीवाला में एक भवन की दीवार गिरने से एक परिवार के तीन सदस्यों की मौत हो गई। बारिश से प्रदेश भर में करीब 110 के करीब मार्ग अवरुद्ध पड़े हैं। जानकारी के तहत सबसे अधिक रोड मंडी व शिमला जोन में बंद पड़े हुए हैं। राजधानी शिमला में बंद पड़ा एनएच-22 रविवार को भी वाहनों की आवाजाही के लिए बहाल नहीं हो पाया। एनएच-22 मल्याणा के समीप सड़क धंसने से 10 अगस्त से बंद है। अब यहां पहाड़ को काटकर सड़क का निर्माण किया जा रहा है। सोमवार तक मार्ग के बहाल होने की उम्मीदें जताई जा रही है। इतना ही नहीं, मौसम विभाग द्वारा प्रदेश भर आगामी दिनों में भी भारी बारिश की संभावना जताई जा रही है, इस कारण नुकसान का आंकड़ा और बढ़ा सकती है।

शिमला में डंगा धंसने से बिल्डिंग खतरे में

शिमला के विकासनगर में डंगा धंसने से हिमुडा कालोनी का एक भवन खतरे की जद में आ गया है। खतरे को देखते हुए प्रशासन ने भवन खाली करवा दिया है। भवन पर अभी भी खतरा मंडरा रहा है। यहां रहने वाले परिवारों के लिए वैकल्पिक व्यवस्था की जा रही है।

अभी तक 508 करोड़ रुपए की चपत

प्रदेश में बेरहम बारिश अभी तक 508 करोड़ की चपत लगा चुकी है। आंकड़ों के अनुसार बीते शुक्रवार तक लोक निर्माण विभाग को 391 करोड़ और आईपीएच को भारी बारिश से 117 करोड़ का नुकसान हो चुका है। आने वाले दिनों  यह आंकड़ा और बढ़ सकता है।

You might also like