केरल में भारी बारिश भू-स्खलन, 22 की मौत

तिरुवनंतपुरम— केरल के अलग-अलग हिस्सों में गुरुवार तड़के भारी बारिश और भू-स्खलन के चलते करीब 22 लोगों की मौत हो गई। आपदा नियंत्रण कक्ष के सूत्रों के अनुसार, इडुक्की में भू-स्खलन में 11 लोगों, मलप्पुरम में छह, कन्नूर में दो और वायनाड जिला में तीन की मौत हो गई। वायनाड, पलक्कड ओर कोझिकोड जिलों में एक-एक व्यक्ति लापता बताए जा रहे हैं। फिलहाल आर्मी और नेवी की टीमें रेस्क्यू के लिए पहुंच चुकी हैं। स्थिति की गंभीरता को देखते हुए कई इलाकों में रेड अलर्ट जारी किया गया है। बता दें कि भारी बारिश के कारण इडुक्की के अडीमाली शहर में एक ही परिवार के पांच लोगों की मौत हो गई है। पुलिस और स्थानीय लोगों ने मलबे से दो लोगों को जिंदा बाहर निकाला है। बताया जा रहा है कि बारिश की वजह से इडुक्की बांध का पानी का स्तर काफी ज्यादा हो गया था जो 26 साल खोला गया। गुरुवार सुबह करीब 600 क्यूसेक पानी छोड़ा गया, जिससे जल स्तर 169.95 मीटर पर पहुंच गया। इडुक्की बांध में गुरुवार सुबह आठ बजे तक जल स्तर 2,398 फुट था जो जलाशय के पूर्ण स्तर के मुकाबले 50 फीट अधिक था। राज्य के हालात का आंकलन करने के लिए मुख्यमंत्री पी विजयन ने आपात बैठक बुलाई। उधर, हालात को देखते हुए नेहरू ट्रॉफी बोट रेस रद्द कर दी गई है। जानकारी के मुताबिक, नेवी की ओर से दक्षिणी नवल कमांड ने वयानड में फंसे लोगों को बचाने के लिए चार टाइविंग टीमें और एक सी किंग हेलिकाप्टर भेजा है। इसके अलावा भारतीय थलसेना की ओर से भी अयान्नकुलु, इडुक्की और वायनाड में लगभग 75 जवानों की टीम भेजी गई है। दो और टीमें कोझिकोड और मलप्पुरम भेजी गई हैं।

You might also like