ग्रास रूट पर हुए काम की फीडबैक लेंगे मुख्यमंत्री

शिमला – प्रदेश में जयराम सरकार बने सात महीने हो चुके हैं। इस बीच सरकार ने ऊपरी स्तर पर कई योजनाएं शुरू की हैं और कई नए कार्य किए हैं। लगातार आलाधिकारियों से विभागवार इनकी समीक्षा भी होती रही है, जिसमें कमियां दूर करने के लिए भी सरकार ने कहा है। अब तक के कार्यकाल में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर पहली दफा ग्रास रूट पर हुए कार्यों की फीडबैक लेने जा रहे हैं। इसका पता जिलाधीशों और पुलिस अधीक्षकों से चलेगा कि उन्होंने धरातल पर क्या कुछ किया है। उनके सामने किस तरह की दिक्कतें पेश आ रही हैं और सरकारी योजनाओं को कितनी सफलता निचले स्तर पर मिल रही हैं। 21 अगस्त को सरकार ने सभी जिलों के जिलाधीशों व पुलिस अधीक्षकों को शिमला में तलब किया है। ये सभी अपने-अपने क्षेत्रों का फीडबैक देंगे और ये भी बताएंगे कि सरकार की कौन सी योजनाएं बेहतरीन हैं और किन योजनाओं में क्या कमियां हैं। निचले स्तर पर लोगों को किस तरह से राहत मिल रही है या फिर विभागीय कार्यप्रणाली में क्या परेशानियां हैं। अमूमन सरकार शुरुआती महीनों में ही जिलाधीशों व पुलिस अधीक्षकों के साथ बैठक करती है, लेकिन वर्तमान सरकार ने इन लोगों को पहले काम करने का समय दिया है। सात महीने बाद अब उनसे फीडबैक लेने की योजना है। सरकार द्वारा तलब किए गए जिलाधीश व पुलिस अधीक्षक अपने-अपने क्षेत्रों से आंकड़े जुटाने में लगे हुए हैं।

साझा करेंगे दिक्कतें

प्रदेश के सभी जिलों के एसपी कानून व्यवस्था की स्थिति को लेकर ब्यौरा देंगे। इसके साथ अपनी परेशानियां भी साझा करेंगे। वे बताएंगे कि कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए उन्हें किस प्रकार की जरूरतें हैं, जिन्हें सरकार द्वारा पूरा किया जाना चाहिए। उनका अभी तक का ट्रैक रिकार्ड क्या रहा है और उनके क्षेत्र में क्या विशेष कार्य पुलिस द्वारा किए गए हैं। इसमें नशाखोरी रोकने के लिए पुलिस के प्रयास विशेष तौर पर उजागर किए जाएंगे, जिसके लिए सरकार पूरे राज्य में एक बड़ी मुहिम छेड़ रही है।

पीटरहॉफ में चर्चा

बैठक से पहले जिलाधीशों व पुलिस अधीक्षकों ने अपने क्षेत्रोें में दौरे करने भी शुरू कर दिए हैं। सरकार को पूरे सात महीने के कामकाज का ब्यौरा देने के साथ इनोवेटिव आइडिया भी इस बैठक में दिए जाएंगे। इसके साथ मुख्यमंत्री द्वारा घोषित बजट पर कितने काम हो चुके हैं और कितने होने शेष हैं, इनके बारे में भी विस्तार से जानकारी ली जाएगी। यह बैठक राज्य अतिथी गृह पीटरहॉफ में होगी, जो कि पूरा दिन चलेगी। यहां मुख्यमंत्री के अलावा कुछ मंत्री और आला विभागीय अधिकारी मौजूद रहेंगे।

You might also like