चोलिंग पुल पर दौड़ी गाडि़यां

 अब रिकांगपिओ समेत ऊपरी क्षेत्रों में आवाजाही हुई आसान, सेब उत्पादकों ने ली राहत की सांस     

भावानगर -किन्नौर जिला के चोलिंग के निकट दो दिन पूर्व सतलुज नदी पर असुरक्षित हुए पुल को  छोटे वाहनों के लिए बहाल कर दिया गया। अब शिमला रामपुर व टापरी की और से आने वाली छोटे वाहन सीधे रिकांगपीओ सहित किन्नौर के ऊपरी क्षेत्रो की और आवाजाही कर पा रही है। छोटे वाहनों के लिए मार्ग बहाल होने से विशेष कर किन्नौर के सेब उत्पादकों के राहत की सांस ली है। अधिशाषी अभियंता राष्ट्रीय उच्च मार्ग-5 पीसी नेगी ने बताया कि रविवार दो पहर बाद छोटे वाहनों को ही पूल पर से बहाल किया गया है। बड़े वाहनों को इस पूल से आवाजाही होने में अभी दो दिन का समय और लग सकता है। उन्होंने कहा कि पुल को दस फिट तक बढ़ाया दिया गया है। बड़ी वाहनों के लिए दो दिन का समय लग सकता है।  पुल के किलबा की और चटटान को कैमिकल द्वारा तोड़ा जा रहा है, ताकि बड़े वाहनों को सुगमता से आवाजाही कर सके।

You might also like