नूरपुर में तैनात होगी एनडीआरएफ

नेशनल डिजास्टर मैनेजमेंट फोर्स के एक हजार जवानों की पूरी बटालियन का तोहफा

शिमला— नेशनल डिजास्टर मैनेजमेंट फोर्स (एनडीआरएफ) कांगड़ा के नुरपूर में तैनात हो गई है। गुरुवार को जारी अधिसूचना के अनुसार एनडीआरएफ की पूरी बटालियन नुरपूर में तैनात होगी। इसमें एक हजार जवान शामिल होंगे। इसके लिए केंद्र सरकार ने 765 करोड़ के बजट का प्रावधान किया है। इसमें हिमाचल, जम्मू, पंजाब तथा उत्तराखंड को एनडीआरएफ की बटालियनें दी गई हैं। प्रदेश की भौगोलिक एवं आपदा संवेदनशीलता को ध्यान में रखते हुए प्रदेश में राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल की एक बटालियन स्थापित करने के लिए मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के प्रयास के फलस्वरूप गुरुवार को केंद्रीय मंत्रिमंडल ने प्रदेश के लिए एक राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल स्वीकृत किया है। प्रदेश मंत्रिमंडल ने इस निर्णय का स्वागत करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार व्यक्त किया है। इस निर्णय से राज्य में आपदा प्रबंधन को मजबूत करने में बल मिलेगा तथा आपदा की स्थिति में राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल कम समय में आपदा ग्रस्त क्षेत्र में तैनात की जा सकेगी। इसके अतिरिक्त राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल की स्थापना से स्थानीय लोगों को परोक्ष रूप से रोजगार के अवसर भी सृजित होंगे। उल्लेखनीय है कि हिमाचल सरकार कई वर्षों से भारत सरकार के साथ राज्य में राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल की स्थापना के लिए प्रयासरत थी। जुलाई 2016 में भारत सरकार ने राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल, जाचपुर (नूरपुर) में जो राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल भटिंडा की एक टुकड़ी है को स्थापित किया था। लेकिन प्रदेश की भौगोलिक एवं आपदा संवेदनशीलता को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार ने प्रदेश में राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल की एक बटालियन स्थापित करने को मंजूरी प्रदान की है।

कैबिनेट में ये विधेयक मंजूर

मंत्रिमंडल ने विधानसभा में पेश होने वाले विधेयकों को भी अपनी स्वीकृति प्रदान की है।  इसके तहत सबसे अहम विधेयक प्रोटेक्शन ऑफ इन्वेस्टर डिपोजिट अमेंडमेंट बिल को लेकर कैबिनेट ने बड़ा फैसला लिया है। प्रदेश मंत्रिमंडल ने इस बिल को विधानसभा सत्र में वापस लेने का निर्णय लिया। इस आधार पर इस बिल में संशोधन किया जाएगा।

You might also like