मंत्री जी, भरी बरसात में घर छोड़ कहां जाएं!          

मंडी —फोरलेन की जद में आ रहे शिल्हा कीपड़ से सांबल पंडोह तक के भवनों की बिजली सात दिन में काट देने के आदेशों से हक्के-बक्के रहे प्रभावित यहां पर विधायक व ऊर्जा मंत्री अनिल शर्मा से मिले व उनसे इन तुगलकी फरमानों को वापस लेने की मांग की। बड़ी संख्या में अनिल शर्मा के आवास पर पहुंचे प्रभावितों ने बताया कि एक तरफ  बरसात चल रही है।  लोगों के पारंपरिक पुराने मकान व व्यावसायिक प्रतिष्ठान हैं। एक महीना पहले ही फोरलेन वालों ने मुआवजा दिया है अब एक महीने में ही लोग कहां जाकर बस जाएं। सामान निकालने में ही कई-कई दिन लग जाएंगे, भवन तोडऩे के लिए भी बिजली की जरूरत होगी फिर बहुत से लोग तो ऐसे हैं, जिनके पास साथ लगती दूसरी जमीन व भवन है। ऐसे में बिना तथ्य जाने से कनेक्शन काट देना कहां का न्याय है। लोगों ने सोमवार को उपायुक्त मंडी से मिलकर ज्ञापन देने का निर्णय लिया है। मांग की गई है कि पहले खाली जगह पर काम कर लिया जाए। यहां तक कि कुछ जगह की तो अभी तक नोटिफिकेशन ही नहीं हुई है फिर भी लोगों को उजाड़ने व तंग करने की जल्दी लगी हुई है। लोग धीरे-धीरे अपने दूसरे ठौर तलाश कर रहे हैं। बिजली काटने के आदेश तानाशाही वाले हैं, जिन्हें किसी भी हालत में सहन नहीं किया जाएगा।

 

You might also like