सदन की कार्यवाही दो बजे तक के लिए स्थगित की जाती है…

नई दिल्ली— राज्यसभा का उपसभापति चुने जाने के बाद हरिवंश नारायण सिंह गुरुवार को जब पहली बार आसन संभालने पहुंचे तो उनके द्वारा बोली गई पहली लाइन से सदन हंसी के ठहाकों से गूंज उठा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी मुस्कुराते दिखे। दरअसल, दोपहर करीब एक बजे वेंकैया नायडू अपनी सीट छोड़कर उठ रहे थे तभी उन्होंने हरिवंश को आमंत्रित किया। हरिवंश ने आसन पर पहुंचकर हाथ जोड़कर सभी का अभिवादन किया और फिर पढ़ा, सदन की कार्यवाही दो बजे तक के लिए स्थगित की जाती है। इस पर प्रधानमंत्री ने भी मेज थपथपाई और हंसते हुए उठे। सदन भी हंसी के ठहाकों से गूंज उठा। इससे पहले अपने संबोधन के दौरान सदस्यों को आश्वस्त करते हुए नए उपसभापति हरिवंश ने कहा कि वह उनकी उम्मीदों पर खरा उतरने की पूरी कोशिश करेंगे। उन्होंने कहा कि मैं सभापति, प्रधानमंत्री, नेता पक्ष, नेता विपक्ष, सभी पार्टियों के नेता और सदन के प्रत्येक सदस्य का धन्यवाद करता हूं। सबने मुझ पर भरोसा किया इसके लिए आभार। हरिवंश ने कहा कि डिबेट का इतिहास काफी पुराना है। ऐसे में हमें गांधी द्वारा राजनीतिक कार्यकर्ताओं को दिए गए संदेश को याद रखना होगा। उन्होंने बताया कि मैंने गरीबी देखी है, गंगा और घाघरा की बाढ़ देखी है। पेड़ के नीचे पढ़कर बड़ा हुआ हूं। आखिर में उन्होंने कहा कि मैं यकीन दिलाता हूं कि हम सब मिलकर सदन को निष्पक्ष और मर्यादित तरीके से चलाएंगे।

हंगामे के बीच राष्ट्रीय खेलकूद विश्वविद्यालय विधेयक पारित

राष्ट्रीय खेलकूद विश्वविद्यालय विधेयक 2018 को राज्यसभा ने गुरुवार को  कांग्रेस के भारी हंगामे के बीच ध्वनिमत से पारित कर दिया। इसके साथ ही पूर्वोत्तर में खेल विश्वविद्यालय स्थापित करने का प्रावधान करने वाले इस विधेयक पर संसद की मुहर लग गई। लोकसभा इसे तीन अगस्त को पारित कर चुकी है। विधेयक पर लगभग एक घंटे की चर्चा का जवाब देते हुए खेल एवं युवा मामलों के मंत्री कर्नल राज्यवर्द्धन सिंह राठौड़ ने सदस्यों को आश्वासन दिया कि मणिपुर में स्थापित देश के पहले राष्ट्रीय खेलकूद विश्वविद्यालय का कुलाधिपति और शिक्षकों के रूप में प्रतिष्ठित खिलाड़ी नियुक्त किए जाएंगे और विदेशी प्रशिक्षकों को बुला कर विश्वविद्यालय में कक्षाएं आयोजित कराई जाएंगीं। विभिन्न राज्यों में वहां की सरकारों से चर्चा करके समुचित सुविधाएं एवं जमीन मिलने पर आउटलाइन केंद्र खोले जाएंगे।

कंपोजिशन योजना की सीमा डेढ़ करोड़ करने वाला बिल पास

वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) के तहत कंपोजिशन योजना की सीमा एक करोड़ रुपए से बढ़ाकर डेढ़ करोड़ रुपए किए जाने से संबंधित संशोधन विधेयकों को लोकसभा ने गुरुवार को ध्वनिमत से पारित कर दिया। विधेयक पर हुई चर्चा का जवाब देते हुए वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि इस संबंध में पेश चार संशोधन विधेयकों के पारित होने के बाद लोकसभा ने देश की सवा सौ करोड़ की आबादी को अच्छी और सरल कर व्यवस्था की सौगात दे रही है। सरकार का यह कदम आर्थिक व्यवस्था में आमूलचूल परिवर्तन करने वाला है।

अठावले की कविता पर हंसी नहीं रोक पाए मोदी

संसद के मानसून सत्र का गुरुवार को 16वां दिन था। गुरुवार को सदन में उपसभापति चुनाव के लिए वोटिंग हुई और एनडीए के प्रत्याशी हरिवंश को उपसभारति चुना गया। इस दौरान सदन में एक मौका ऐसा भी आया जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जोर-जोर से हंसने लगे। आरपीआई के सांसद रामदास अठावले ने अपने ही अंदाज में हरिवंश को उपसभापति चुने जाने पर बधाई दी। उन्होंने एक कविता सुनाई और पूरा सदन ठहाकों से गूंज उठा। रामदास अठावले ने अपने संबोधन में कहा कि हरिवंश को आरपीआई के तरफ से देता हूं शुभेच्छा, हाउस को अच्छा चलाओ यही है इच्छा। मैं हमेशा करता रहूंगा उनका पीछा, इसलिए दे रहा हूं आपको शुभेच्छा। आगे अठावले ने कहा कि मोदी जी ने हरिवंश को दे दिया है मौका, लेकिन हरिप्रसाद को कांग्रेस ने दे दिया है धोखा। इस कविता के बाद प्रधानमंत्री मोदी समेत तमाम दलों के सांसद जोर-जोर से हंसने लगे और मेज ठप-ठपाकर अठावले की सराहना की, लेकिन आगे भी अठावले की कविता जारी रही। इस चुनाव में दोनों ही थे हरि, हार गया प्रसाद हरि, चुनकर आ गया वंश हरि। आरपीआई सांसद ने कहा कि आप चुनकर आ गए हैं। मैं हमेशा चेयरमैन साहब से डरता हूं, इसीलिए आपका समर्थन करता हूं। उन्होंने कहा कि दलित समाज और अपनी पार्टी की ओर से आपको बधाई देता हूं।

You might also like