Divya Himachal Logo May 24th, 2017

उत्‍सव


अच्छाई से मिली अच्छाई

तीन राजकुमार अपने काम की तलाश में शहर से बाहर गए। दो राजकुमारों ने तो काम ढूंढ लिया और अपने काम में लग गए, पर तीसरे राजकुमार ने  वहीं एक पेड़ के नीचे डेरा लगा लिया। थोड़ी देर के बाद एक साधु वहां से गुजर रहा था। उसने राजकुमार को  कहा- बच्चे क्या परेशानी है। राजकुमार ने कहा बाबा मैं काम की तलाश में आया हूं, पर कोई काम नहीं मिला रहा। साधु बोला उस समुद्र के पास जाओ उस तलाब में मछलियां रहती हैं, उनको रोज दाना डालो फिर देखो। साधु अपनी बात कहकर वहां से चला गया।  पहले  राजकुमार ने सोचा कि मछलियों को दाना डालने से क्या होगा, पर चलो साधु ने बोला है तो। राजकुमार उठा समुद्र के पास गया और मछलियों  को दाना डालने लगा। समुद्र में रोज-रोज अनाज मिलने से समुद्र की सारी मछलियां आने लगी थीं। उनके साथ उनका राजा भी आता था। जब राजकुमार ने अनाज फेंकना बंद कर दिया तो मछलियों के राजा ने अपनी प्रजा से कहा कि पिछले छह महीने से तो हमें आसानी से अनाज मिलता रहा, लेकिन अब बंद क्यों हो गया। लगता है राजकुमार के पास धन खत्म हो गया है। हां महाराज, यही लगता है। मछलियां बोल पड़ीं। तो तुम लोग उसे समुद्र्र से मोती निकालकर क्यों नहीं देतीं। खैर अभी भी कुछ नहीं बिगड़ा है। आज रात को हम सारी मछलियां एक-एक मोती राजकुमार को दे आएंगी। रात होने पर मछलियों ने राजकुमार के तंबू के पास मोतियों का ढेर लगा दिया। पानी में आने-जाने से एक विशेष प्रकार की सरसराहट से राजकुमार की नींद खुली तो उसने जब मोतियों का ढेर लगा देखा तो उसे दुख होने लगा कि उसने अकारण ही मन में पता नहीं क्या-क्या सोच लिया था। अब उसने फिर से मछलियों को पहले से ज्यादा अनाज देना शुरू कर दिया। बड़े राजकुमारों के आने से पूर्व उसने एक-एक मोती को एक-एक उपले में छिपा दिया ताकि वह उसकी कमाई को न देख पाएं। कुछ समय बाद दोनों राजकुमार भी वहां पहुंच गए। एक ने कपड़े का व्यवसाय कर खूब धन एकत्र किया था और दूसरे ने दुकान खोलकर। छोटे राजकुमार की कमाई के नाम पर उपले देखकर उन्होंने उसका बहुत मजाक उड़ाया। अगले दिन तीनों राजकुमार अपना-अपना सामान लादकर अपने देश को लौट गए। देश पहुंचने पर उनका बहुत स्वागत हुआ। बड़े राजकुमारों की कमाई की दरबारियों ने खूब प्रशंसा की, पर छोटे राजकुमार के उपले देखकर सब हंसने लगे, लेकिन जब उसने राजा को सारी असलियत के बारे में बताया तो सबकी आंखें फटी की फटी रह गईं। सब छोटे राजकुमार की जय जयकार करने लगे और कहने लगे यही हमारा राजा बनने के लायक है और फिर छोटे  राजकुमार को राजा बना दिया गया।

April 2nd, 2017

 
 

कैसे न भूलें पानी पीना

अब स्मार्टफोन हर किसी के पास होता है। कई ऐसे एप्स हैं, जो पानी पीने के लिए आपको नियमित अंतराल पर याद दिलाने का काम कर सकते हैं। इसी तरह का कोई एप अपने फोन में डाउनलोड कर लें। * अगर आप पानी बहुत ही […] विस्तृत....

April 2nd, 2017

 

फिटनेस : न उम्र की सीमा हो

जिंदगी की शाम जब ढलने लगती है, तो न सिर्फ  शरीर में ढेरों बीमारियां अपना घर बना लेती हैं, बल्कि जीवन में एक सूनापन भी छा जाता है। हमारे देश में बहुत कम ऐसे लोग हैं, जो 60 साल की उम्र में भी उसी जीवंतता […] विस्तृत....

April 2nd, 2017

 

हफ्ते का खास दिन

विश्व स्वास्थ्य दिवस 7 अप्रैल सात अप्रैल को पूरी दुनिया में विश्व स्वास्थ्य दिवस के रूप में मनाया जाता है। इसका मकसद दुनियाभर में लोगों को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करना और जनहित को ध्यान में रखते हुए सरकार को स्वास्थ्य नीतियों के निर्माण के […] विस्तृत....

April 2nd, 2017

 

ताकि मुस्कराहट हमेशा बनी रहे

लड़कियां कई बार लिप शेड्स को लेकर कन्फ्यूज रहती हैं। उन्हें लगता है, डार्क शेड्स उन पर अच्छे नहीं लगेंगे। इस कारण वे लिपिस्टिक से बचती हैं। लिपिस्टिक  मेकअप का सबसे जरूरी हिस्सा है पर इसे लगाने से पहले आपको लिप शेड्स से जुड़ी कुछ […] विस्तृत....

April 2nd, 2017

 

जानकारी

भारत के किन-किन लोगों को नोबेल पुरस्कार मिले हैं? 1902- रोनाल्ड रॉस भारत में जन्मे विदेशी चिकित्सा 1907- रुडयार्ड किपलिंग भारत में जन्मे विदेशी साहित्य 1913- रवींद्रनाथ टैगोर भारतीय नागरिक साहित्य 1930 सीवी रामन भारतीय नागरिक भौतिक विज्ञान 1968- डा. हरगोविंद खुराना भारत में जन्मे […] विस्तृत....

April 2nd, 2017

 

तेनालीराम कौन थे

तेनाली रामकृष्ण, तेनाली रामलिंगम या तेनाली राम तमिल, तेलुगु और कन्नड़ लोककथाओं का एक पात्र है। सोलहवीं सदी में दक्षिण भारत के विजयनगर राज्य में राजा कृष्णदेव राय हुआ करते थे। तेनालीराम उनके दरबार के कवि थे और वह अपनी समझ-बूझ और हास-परिहास के लिए […] विस्तृत....

April 2nd, 2017

 

गर्मियों में घर को बनाएं कूल

गर्मियां शुरू हो गई हैं। ऐसे में सबके मन में एक ही सवाल रहता है कि आखिर घर में दिनभर ठंडक कैसे बनी रहे। जिससे ज्यादा खर्च भी न हो और घर में  ठंडक भी रहे। आप गौर करें कि आपके घर का कौन सा […] विस्तृत....

April 2nd, 2017

 

बच्चे पर कार्टून के नकारात्मक प्रभाव

कार्टून देखने का अपना मजा और लाभ है परंतु बच्चों को लुभाने वाला यह कार्टून जब एक नशा बन जाता है तब बात अलग होती है। क्या आप जानते हैं कि कार्टून किस तरह बच्चों को प्रभावित करते हैं। अधिक जानने के लिए पढ़ें। कार्टून […] विस्तृत....

April 2nd, 2017

 

चुटकुले

डाक्टर गया  क्लिनिक  खोलने। पर देखा, वहां  तो पहले से भीड़ लगी थी। वह आगे जाता क्लिनिक  खोलने उसे लोग पकड़कर पीछे खींच लेते, एक आदमी ने कई बार आगे जाने की कोशिश की पर उसे भी लोगों ने पीछे खींच लिया! 5-6 बार पीछे […] विस्तृत....

April 2nd, 2017

 
Page 20 of 484« First...10...1819202122...304050...Last »

पोल

क्या कांग्रेस को हिमाचल में एक नए सीएम चेहरे की जरूरत है?

View Results

Loading ... Loading ...
 
Lingual Support by India Fascinates