Divya Himachal Logo Feb 24th, 2017

उत्‍सव


हफ्ते का खास दिन

शिवाजी

जन्मदिवस 19 फरवरी, 1630

शिवाजी का जन्म, 19 फरवरी, 1630 को हुआ। वह पश्चिमी भारत के मराठा साम्राज्य के संस्थापक थे। शिवाजी के पिता का नाम शाहजी भोंसले और माता का नाम जीजाबाई था। सेनानायक के रूप में शिवाजी की महानता निर्विवाद रही है। शिवाजी ने अनेक किलों का निर्माण करवाया। इनके पिताजी शाहजी भोंसले ने शिवाजी के जन्म के उपरांत ही अपनी पत्नी जीजाबाई को प्रायः त्याग दिया था। उनका बचपन बहुत उपेक्षित रहा और वह सौतेली मां के कारण बहुत दिनों तक पिता के संरक्षण से वंचित रहे। उनके पिता शूरवीर थे और अपनी दूसरी पत्नी तुकाबाई मोहिते पर आकर्षित थे। जीजाबाई उच्च कुल में उत्पन्न प्रतिभाशाली होते हुए भी तिरस्कृत जीवन जी रही थीं। जीजाबाई यादव वंश से थीं। उनके पिता एक शक्तिशाली और प्रभावशाली सामंत थे। बालक शिवाजी का लालन-पालन उनके स्थानीय संरक्षक दादाजी कोणदेव जीजाबाई तथा समर्थ गुरु रामदास की देखरेख में हुआ। शिवाजी प्रभावशाली कुलीनों के वंशज थे। उस समय भारत पर मुस्लिम शासन था। उत्तरी भारत में मुगलों तथा दक्षिण में बीजापुर और गोलकुंडा में मुस्लिम सुल्तानों का। ये तीनों ही अपनी शक्ति के जोर पर शासन करते थे और प्रजा के प्रति कर्तव्य की भावना नहीं रखते थे। शिवाजी की पैतृक जायदाद बीजापुर के सुल्तान द्वारा शासित दक्कन में थी। उन्होंने मुसलमानों द्वारा किए जा रहे दमन और धार्मिक उत्पीड़न को इतना असहनीय पाया कि 16 वर्ष की आयु तक पहुंचते-पहुंचते उन्हें विश्वास हो गया कि हिंदुओं की मुक्ति के लिए ईश्वर ने उन्हें नियुक्त किया है। उनका यही विश्वास जीवन भर उनका मार्गदर्शन करता रहा। शिवाजी को कुचलने के लिए राजा जयसिंह ने बीजापुर के सुल्तान से संधि कर पुरंदर के किले को अधिकार में करने की योजना के प्रथम चरण में 24 अप्रैल, 1665 ई. को ‘राजगढ़’ के किले पर अधिकार कर लिया। पुरंदर के किले की रक्षा करते हुए शिवाजी का अत्यंत वीर सेनानायक ‘मुरार जी बाजी’ मारा गया। पुरंदर के किले को बचा पाने में अपने को असमर्थ जानकर शिवाजी ने महाराजा जयसिंह से संधि की पेशकश की। दोनों नेता संधि की शर्तों पर सहमत हो गए और 22 जून, 1665 ई. को पुरंदर की संधि संपन्न हुई। अपनी सुरक्षा का पूर्ण आश्वासन प्राप्त कर शिवाजी आगरा के दरबार में औरंगजेब से मिलने के लिए तैयार हो गए। वह 9 मई, 1666 ई. को अपने पुत्र शंभाजी एवं 4000 मराठा सैनिकों के साथ मुगल दरबार में उपस्थित हुए, 22 सितंबर, 1666 ई.को रायगढ़ पहुंचे। औरंगजेब ने शिवाजी की इन शर्तों को स्वीकार कर उसे ‘राजा’ की उपाधि प्रदान की। शिवाजी की मृत्यु 3 अप्रैल, 1680 को हुई।

February 19th, 2017

 
 

राजपुताना वैभव का जोधपुर

जोधपुर को थार के प्रवेश द्वार के रूप में भी जाना जाता है क्योंकि यह शहर थार रेगिस्तान की सीमा पर स्थित है। यह शहर 1459 ई. में राठौड़ परिवार के नेता राव जोधा द्वारा स्थापित किया गया था। इससे पहले, शहर को मारवाड़ नाम […] विस्तृत....

February 19th, 2017

 

क्या आप जानते हैं?

कुद्रेमुख राष्ट्रीय उद्यान कौन से राज्य में स्थित है? कर्नाटक भारत का राष्ट्रीय पेड़ कौन सा है ? बरगद भारत में शहीद दिवस कब मनाया जाता है ? 30 जनवरी को सबसे पहले ज्ञानपीठ पुरस्कार किन्हें दिया गया था? जी शंकर कुरुप अंतरराष्ट्रीय न्यायालय कहां […] विस्तृत....

February 19th, 2017

 

कीड़े-मकोड़े पानी पर बिना डूबे कैसे चलते हैं

आमतौर पर कीड़ों का वजन इतना कम होता है कि वे पानी के पृष्ठ तनाव या सरफेस टेंशन को तोड़ नहीं पाते। पानी और दूसरे द्रवों का एक गुण है जिसे सरफेस टेंशन कहते हैं। इसी गुण के कारण किसी द्रव की सतह किसी दूसरी […] विस्तृत....

February 19th, 2017

 

बाज की सीख

एक बार एक शिकारी जंगल में शिकार करने के लिए गया। बहुत प्रयास करने के बाद उसने जाल में एक बाज पकड़ लिया। शिकारी जब बाज को लेकर जाने लगा तब रास्ते में बाज ने शिकारी से कहा, तुम मुझे लेकर क्यों जा रहे हो।  […] विस्तृत....

February 19th, 2017

 

पानी या ओस की बूंदें गोल क्यों

पानी की बूंदों के गोल होने का कारण भी पृष्ठ तनाव है। यों तो पानी जिस पात्र में रखा जाता है उसका आकार ले लेता है। पर जब वह स्वतंत्र रूप से गिरता है, तो धार जैसा लगता है, क्योंकि गुरुत्वाकर्षण शक्ति के कारण जैसे-जैसे […] विस्तृत....

February 19th, 2017

 

एक झलक से चर्चा बटोरना नहीं चाहती

एक झलक से चर्चा बटोरना नहीं चाहतीएक्ट्रेस हुमा कुरैशी आने वाले दिनों में कई अलग-अलग तरह की फिल्मों में नजर आने वाली हैं। अक्षय कुमार के साथ वह जल्द ही ‘जॉली एलएलबी 2’ में दिखाई देंगी, वहीं गुरिंदर चड्डा निर्देशित ‘वाइसराइज हाउस’ से वह हालीवुड डेब्यू के लिए भी तैयार हैं। […] विस्तृत....

February 12th, 2017

 

फिल्म रिव्यू : जॉली एलएलबी

फिल्म रिव्यू : जॉली एलएलबीडायरेक्टरः सुभाष कपूर स्टार कास्टः अक्षय कुमार, हुमा कुरैशी,अन्नू कपूर, कुमुद मिश्र, सौरभ शुक्ल, सयानी गुप्ता, इनामुल हक, मानव कौल अवधिः2 घंटा 18 मिनट साल 2013 में ‘जॉली एलएलबी’ फिल्म रिलीज हुई थी तो उसका बजट 10 करोड़ था और फिल्म ने बॉक्स आफिस पर […] विस्तृत....

February 12th, 2017

 

अमिताभ बच्चन का दामाद यह एक्टर

अमिताभ बच्चन का दामाद यह एक्टर‘बाहुबली’ की सफलता ने लड़ाई वाली पीरियड फिल्मों के लिए नए रास्ते खोले हैं और कई एक्टर्ज अब ऐसी फिल्में कर रहे हैं। इन दिनों अमिताभ बच्चन के दामाद भी साउथ की ऐसी ही एक फिल्म की शूटिंग कर रहे हैं। इसमें वह एक योद्धा […] विस्तृत....

February 12th, 2017

 

मिथकीय फ्रेम में पद्मिनी

मिथकीय फ्रेम में पद्मिनीजावेद अख्तर जैसे स्वघोषित प्रामाणिक इतिहासकार अमीर खुसरो के साक्ष्य को प्रामाणिक क्यों नहीं मान रहे हैं, यह तो वही बता सकते हैं। इतिहास को मिथक बनाकर, उस पर फूल-माला चढ़ाने की यह कला भारतीय इतिहासकारों का प्रिय शगल रही है। इस बार दिक्कत यह […] विस्तृत....

February 12th, 2017

 
Page 3 of 45012345...102030...Last »

पोल

क्या हिमाचल में बस अड्डों के नाम बदले जाने चाहिएं?

View Results

Loading ... Loading ...
 
Lingual Support by India Fascinates