Divya Himachal Logo Jun 28th, 2017

उत्‍सव


अमोल अमोनकर

संगीत के प्रति समर्पण के कारण ही उन्होंने दुनियावी सफलताओं-असफलताओं के बारे में बहुत ध्यान नहीं दिया और न ही आलोचना-प्रशंसा को बहुत गौर से सुनने की कोशिश की। उनमें सीखने की नम्रता और ज्ञान को सम्मानित नजरिए से देखने की ठसक, दोनों मौजूद थीं। उनके समर्पण से तो सभी वाकिफ थे लेकिन उनकी ठसक से लोगों का परिचय तब हुआ जब उन्होंने कालिदास सम्मान को ठुकरा दिया…

Utsavभारत में संगीत को साधना माना जाता रहा है और इसे ईश्वर आराधना के माध्यम के रूप में अपनाया जाता रहा है। किशोरी अमोनकर को देखकर इन मान्यताओं को जीवंत रूप में महसूस किया जा सकता था। संगीत के प्रति समर्पण के कारण ही उन्होंने दुनियावी सफलताओं-असफलताओं के बारे में बहुत ध्यान नहीं दिया और न ही आलोचना-प्रशंसा को बहुत गौर से सुनने की कोशिश की। उनमें सीखने की नम्रता और ज्ञान को सम्मानित नजरिए से देखने की ठसक, दोनों मौजूद थीं। उनके समर्पण से तो सभी वाकिफ थे लेकिन उनकी ठसक से लोगों का परिचय तब हुआ जब उन्होंने कालिदास सम्मान को ठुकरा दिया।नब्बे के दशक में किशोरी अमोनकर को मध्य प्रदेश सरकार ने कालिदास सम्मान से नवाजने की घोषणा की थी, लेकिन उन्होंने यह सम्मान लेने से साफ मना कर दिया। कारण बताते हुए उन्होंने कहा था कि ‘पहली बार लता मंगेशकर को यह सम्मान मिला था, फिर मुझसे जूनियर कई कलाकारों को यह सम्मान मिल चुका है। मेरी याद इतनी देर में आई उनको? लिहाजा, मुझे अपमानजनक लगा, इसलिए मना कर दिया। ठसक और नम्रता का ऐसा दुर्लभ संयोग कम ही लोगों में देखने को मिलता है।   10 अप्रैल, 1931 को मुंबई में ही पैदा हुई किशोरी ताई ने अपनी मां और विख्यात गायिका मोगुबाई कुर्डिकर को अपना गुरु माना और संगीत साधना की। किशोरी अमोनकर का संबंध जयपुर-अतरौली घराने से था, लेकिन उन्होंने सभी सीमाओं को तोड़कर संगीत का एक राष्ट्रीय परिदृश्य रचा। साठ के दशक में उन्होंने संगीत के क्षेत्र में इतना ऊंचा मुकाम हासिल कर लिया था, सम्मान-आलोचना जैसे विषय उन पर बहुत प्रभाव नहीं डाल पाते थे।  उनकी खासियत यह थी कि उन्होंने सीखे गए रागों को अपनी कल्पना का पुट देकर नई उड़ान दी। वह किसी लीक से नहीं बंधी, उन्होंने शास्त्रीय संगीत के साथ अनेकों प्रयोग किए। आप उनकी रिकॉर्डिंग सुनिए। कोई दो रिकार्डिंग एक जैसी नहीं होगी। वह एकांत को लेकर बहुत संवेदनशील थीं। उन्हें अकेले रहना पसंद था और उसमें व्यवधान पड़ने पर उखड़ भी जाती थीं, इसी कारण कई बार बाहरी लोगों को उनका व्यक्तित्व अक्खड़ या तुनकमिजात प्रतीत होता था। वास्तव में उनका यह रूप अपने एकांत को बचाए रखने का प्रयास होता था।  उनका जाना एक युग के अवसान जैसा है। उन्होंने 1964 में आई फिल्म ‘गीत गाया पत्थरों ने’ में गायन किया था,जबकि 1991 में रिलीज हुई ‘दृष्टि’ फिल्म का उन्होंने संगीत निर्देशन किया था। शास्त्रीय संगीत में भावनाप्रधान गायन कला को पुनर्जीवित करने का श्रेय किशोरीताई को जाता है। उन्हें संगीत नाटक अकादमी सम्मान, 1985, पद्मभूषण सम्मान, 1987 संगीत सम्राज्ञी सम्मान, 1997 पद्मविभूषण सम्मान, 2002 संगीत संशोधन अकादमी सम्मान, 2002,संगीत नाटक अकादमी फेलोशिप, 2009 इत्यादि  प्रमुख अलंकरणों और पुरस्कारों से नवाजा गया। किशोरी अमोनकर को यह ऊंचाई इसलिए भी प्राप्त हुई क्योंकि किशोरी ताई की पहली और सबसे बड़ी गुरु  उनकी मां मोगूबाई कुर्दीकर थीं। मां की परवरिश और संगीत के प्रति लगाव के कारण किशोरी अमोनकर के जीवन में संगीत रच-बस गया था।  वह इस बात को स्वीकार करने में नहीं झिझकती थी नहीं थी। वह कहती थी कि मेरी मां से बड़ा कोई कलाकार मुझे दिखाई नहीं देता। मां की विरासत उनके लिए आस्था बन गई थी और इसी कारण वह अपना सर्वस्व संगीत को समर्पित कर पाईं।

-डा. जयप्रकाश सिंह 

April 9th, 2017

 
 

मुझे लोगों को ब्‍लाक करनें में मजा आता ‌है सोनाक्षी सिन्हा

मुझे लोगों को ब्‍लाक करनें में मजा आता ‌है सोनाक्षी सिन्हासोनाक्षी सिन्हा ने कम समय में ही अपनी अलग पहचान बनाई है। उनकी पिछली फिल्म अकीरा भले ही बॉक्स आफिस पर कमाल नहीं कर पाई, लेकिन उनकी एक्शन से भरपूर एक्टिंग क्रिटिक्स का दिल जीतने में कामयाब रही। आने वाली फिल्म नूर के ट्रेलर लांच […] विस्तृत....

April 9th, 2017

 

ट्रेंडी दिखने का शौक है तो जरूर ट्राई करें ‘ हॉफ बन’

ट्रेंडी दिखने का शौक है तो जरूर ट्राई करें ‘ हॉफ  बन’जब बात लुक की आती है तो सबसे पहले हेयर स्टाइल होता है फिर बाकी सब। यदि आपने बहुत अच्छे कपड़े पहने हैं जो ट्रेंडी हैं पर आपके बाल उतने ट्रेंडी नहीं तो आपकी पूरी लुक खराब हो जाती है। अगर आप भी ट्रेंडी रहना […] विस्तृत....

April 9th, 2017

 

बालीवुड में हिमाचल की पूनम

बालीवुड में  हिमाचल की पूनमसियासी और मजहबी मारकाट के बीच भारत और पाकिस्तान के बंटवारे का दर्द हिमाचली बाला के अभिनय से छलक उठा। आजादी के दौर के जोखिम कोठे जैसे अस्वीकार्र्य विषय पर बनी मेगा फिल्म में पहाड़ की बेटी बड़ी-बड़ी हस्तियों को पानी पिला रही है। दर्द, […] विस्तृत....

April 9th, 2017

 

फिर साथ दिखेंगे रणबीर-दीपिका

फिर साथ दिखेंगे रणबीर-दीपिकाएक बार फिर एक्स कपल रणबीर कपूर और दीपिका पादुकोण की जोड़ी उनके फैन्स को देखने को मिल सकती है। रणबीर कपूर और दीपिका पादुकोण की पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ  ने हमेशा से ही बालीवुड गलियारों में सुर्खिया बटोरी हैं और फिल्मों में इनकी केमिस्ट्री […] विस्तृत....

April 9th, 2017

 

फिल्म रिव्यू : मिर्जा जूलियट

फिल्म रिव्यू : मिर्जा जूलियटडायरेक्टरः राजेश राम सिंह स्टार कास्टः पिया बाजपेयी, दर्शन कुमार, चंदन रॉय सान्याल, प्रियांशु चटर्जी हीर रांझा, रोमियो जूलियट और लैला मजनू की कहानियों को लेकर कई फिल्में बनाई गई हैं। इसी तरह की प्रेम कहानी को नए अंदाज में डायरेक्टर राजेश राम सिंह ने […] विस्तृत....

April 9th, 2017

 

सादगी के लिए जानी जाती हैं जया

सादगी के लिए जानी जाती हैं जयाजया बचपन से ही जिद्दी स्वभाव की थीं। उन्हें जो चाहिए, वह हासिल कर के छोड़ती थीं। वह भोपाल के ‘सेंट जोसेफ कॉन्वेंट’ में पढ़ती थीं। खेलकूद में भी वह शिरकत करती थीं और 1966 में उन्हें प्रधानमंत्री के हाथों एनसीसी की बेस्ट कैडेट होने […] विस्तृत....

April 9th, 2017

 

बिग बॉस विनर ने की सुसाइड की कोशिश

बिग बॉस विनर ने की सुसाइड की कोशिशबिग बॉस कन्नड़ सीजन 4 के विजेता रहे प्रथम ने बुधवार को अपने बंगलूर स्थित घर में आत्महत्या की कोशिश की। उन्होंने नींद की गोलियां खाकर सुसाइड का प्रयास किया।  इतना ही नहीं, उन्होंने इस घटना का वीडियो बनाया और उसे अपने फेसबुक अकाउंट पर […] विस्तृत....

April 9th, 2017

 

गर्मियां और पैरों से बदबू

बदबूदार पैर हम में से बहुत लोगों की समस्या है। इसका बहुत तरीकों से इलाज करने के बाद भी यह बदबू रह जाती है। यह एक बेकार स्थिति है, जिससे कि आप अपने जूते कहीं खोलने में भी असहज महसूस करते हैं… हमारे पैरों में […] विस्तृत....

April 9th, 2017

 

गार्भावस्‍था में पपीते के फायदे

गर्भावस्था के दौरान पपीता खाना सुरक्षित है, बशर्ते पपीता पूरी तरह से पका हुआ हो। अच्छी तरह पका हुआ पपीता विटामिन सी और ई से भरपूर होता है। यह फाइबर और फॉलिक एसिड का भी अच्छा स्रोत है। पपीता कब्ज तथा सीने में जलन और […] विस्तृत....

April 9th, 2017

 
Page 30 of 498« First...1020...2829303132...405060...Last »

पोल

क्रिकेट विवाद के लिए कौन जिम्मेदार है?

View Results

Loading ... Loading ...
 
Lingual Support by India Fascinates