Divya Himachal Logo Jun 24th, 2017

उत्‍सव


कब और क्यों जरूरी फिजियोथैरेपी

अधिकांश लोग फिजियोथैरेपी को ‘एक और’ वैकल्पिक चिकित्सा पद्धति से ज्यादा महत्त्व नहीं देते। कुछ इसके दायरे को मसाज तक सीमित कर देते हैं, तो कुछ इसे खेल के दौरान लगने वाली चोट को ठीक करने के लिए उपयोगी मानते हैं। फिजियोथैरेपी की उपयोगिता इससे कहीं ज्यादा है। क्यों और कब जरूरी है फिजियोथैरेपी आइए जानते हैं। अगर दवा, इंजेक्शन और आपरेशन के बिना दर्द से राहत पाना चाहते हैं, तो फिजियोथैरेपी के बारे में सोचना चाहिए। चिकित्सा और सेहत दोनों ही क्षेत्रों के लिए यह तकनीक उपयोगी है। पर जानकारी की कमी व खर्च बचाने की चाह में लोग दर्द निवारक दवाएं लेते रहते हैं। मरीज तभी फिजियोथैरेपिस्ट के पास जाते हैं, जब दर्द असहनीय हो जाता है। फिजियोथैरेपी में न्यूरोलॉजी, हड्डी, हृदय, बच्चों व वृद्धों की समस्याओं के क्षेत्र से जुड़े खास एक्सपर्ट भी होते हैं। आमतौर पर फिजियोथैरेपिस्ट इलाज शुरू करने से पहले बीमारी का पूरा इतिहास देखते हैं। उसी के अनुसार आधुनिक इलेक्ट्रोथैरेपी जिसमें इलाज के लिए करंट का इस्तेमाल किया जाता है और स्ट्रेचिंग व व्यायाम की विधि अपनाई जाती है। मांसपेशियों और जोड़ में के दर्द से राहत के लिए फिजियोथैरेपिस्ट मसाज का भी सहारा लेते हैं। कई फिजियोथैरेपिस्ट दवाएं व इंजेक्शन भी देते हैं, जिसे डाक्टर की सलाह के बिना नहीं लेना चाहिए।

नियमित हो इलाज : फिजियोथैरेपी से कुछ दर्द में तो तुरंत आराम मिलता है पर स्थायी परिणाम के लिए थोड़ा वक्त लग जाता है। दर्द निवारक दवाओं की तरह इससे कुछ ही घंटों में असर नहीं दिखाई देता। खासकर फ्रोजन शोल्डर, कमर व पीठ दर्द के मामलों में कई सिटिंग्स लेनी पड़ सकती हैं। कई मामलों में व्यायाम भी करना पड़ता है और जीवनशैली में बदलाव भी। इलाज की कोई भी पद्धति तभी कारगर साबित होती है, जब उसका पूरा कोर्स किया जाए। फिजियोथैरेपी के मामले में यह बात ज्यादा मायने रखती है।

घुटनों का हो जब बुरा हाल : ग्रस्त घुटनों के इलाज में फिजियोथैरेपी, ऑथरेस्कोपी सर्जरी जितनी ही कारगर है। शोध में शामिल ऑर्थोपेडिक सर्जन डा. रॉबर्ट लिचफील्ड के अनुसार फिजियोथैरेपी में दर्द की मूल वजहों को तलाशकर उस वजह को ही जड़ से खत्म कर दिया जाता है। मसलन यदि मांसपेशियों में खिंचाव के कारण घुटनों में दर्द है तो स्ट्रेचिंग और व्यायाम के जरिए इलाज किया जाता है, पर यदि पैरों के खराब संतुलन की वजह से दर्द हो रहा है तो फिजियोथैरेपिस्ट ऑर्थोटिक्स अध्ययन में यह बात भी सामने आई कि घुटनों के दर्द से निजात पाने में सर्जरी के 80 फीसदी मामले व्यायाम व फिजियोथैरेपी की कमी के कारण अपेक्षित परिणाम नहीं दे पाते। कई मामलों में कूल्हे व घुटने के प्रत्यारोपण व फ्रेक्चर के बाद उनके रिहैबिलिटेशन में भी फिजियोथैरेपी लेने की सलाह दी जाती है। चिकित्सक भी कई मामलों में फिजियोथैरेपी जरूरी मानते हैं।

सिखाता है सांस लेने की कलाः फिजियोथैरेपी का दायरा सिर्फ मांसपेशियों और हड्डियों तक सीमित नहीं है। इसकी सीमा में वो तंत्रिकाएं भी आती हैं जो हमारे शरीर के विभिन्न अंगों को नियंत्रित करती हैं। उदाहरण के तौर पर अस्थमा या किसी भी तरह के सांस के रोगों को ही लें। कार्डियोवस्कुलर फिजियोथैरेपिस्ट इस तरह के मरीजों को सांस रोकने और छोड़ने वाले व्यायाम या गुब्बारे फुलाने जैसे अभ्यास के जरिए ठीक करता है। वास्तव में इसके जरिए कार्डियोवस्कुलर फिजियोथैरेपिस्ट गर्दन और छाती की मांसपेशियों की स्ट्रेचिंग करवाते हैं, जिससे वह और मजबूत बनते हैं।

भारत मैट्रीमोनी पर अपना सही संगी चुनें – निःशुल्क रजिस्टर करें !

June 11th, 2017

 
 

जानवर भी हमारी तरह आंसू बहाते हैं?

प्राणियों का अध्ययन करने वाले विज्ञान विषय के साथियों का कहना है कि जानवर हमारी तरह आंसू बहाकर अपना दुख व्यक्त नहीं करते हैं। सिर्फ  बंदर ही ऐसा जीव है, जो दुख या तकलीफ  में हमारी तरह रोता या कहें कि आंसू बहाता है। फिर […] विस्तृत....

June 11th, 2017

 

हफ्ते का खास दिन

रामप्रसाद बिस्मिल जन्मदिन, 11 जून पंडित रामप्रसाद बिस्मिल किसी परिचय के मोहताज नहीं। उनके लिखे ‘सरफरोशी की तमन्ना’ जैसे अमर गीत ने हर भारतीय के दिल में जगह बनाई और अंग्रेजों से भारत की आजादी के लिए वो चिंगारी छेड़ी जिसने ज्वाला का रूप लेकर […] विस्तृत....

June 11th, 2017

 

एक बल्ब ऐसा जो पिछले 110 साल से रोशन

नॉदर्न कैलिफोर्निया के लिवरमोर स्थित फायर स्टेशन-6 में लगा है यह बल्ब। यहां इसे उस समय लगाया गया था जब क्वीन विक्टोरिया की मौत हुई थी। थॉमस एडिसन की ही तरह फेमस एडोल्फ चैलेट ने इस बल्ब को डिजाइन किया था। लेकिन यह अलग है […] विस्तृत....

June 11th, 2017

 

‘इश्कबाज’ टूटने वाली है शिव-अनिका की जोड़ी

स्टार प्लस पर आने वाले मशहूर सीरियल  ‘इश्कबाज’ के फैन्स के लिए बुरी खबर है। बताया जा रहा है कि सीरियल का कपल शिवाय सिंह ओबेरॉय (नकुल मेहता) और अनिका (सुरभि चांदना) जल्द अलग होने जा रहे हैं। कामिनी की मदद से शिवाय की मां […] विस्तृत....

June 11th, 2017

 

प्रेरक प्रसंग

कंकड़-पत्थर से भरी तिजोरी एक दिन धनीराम के सामने कुछ ऐसा काम आ पड़ा, जिसके लिए उसे परिवार के साथ बाहर जाना था। परंतु समस्या यह थी कि जाते समय धन कहां रखा जाए। परिवार के लोगों ने सलाह दी कि दोस्त किस काम आएगा, […] विस्तृत....

June 11th, 2017

 

पहेलियां

1. आग लगे तो पानी बहे पानी गिर जम जाए, दूजों को दे रोशनी अपना बदन गलाए। 2. सिर संग भी है नाता मेरा बिस्तर से भी नाता, बोझ उठा कर आपका मैं मीठी नींद सुलाता। 3. बैठा रहे एक जगह वह, घर से बाहर […] विस्तृत....

June 11th, 2017

 

व्यंजन

ड्रिंक एप्पल फे्रजल दो लोगों के लिए सामग्रीः सेब का रस 175 मिली, चीनी का सिरप 1 टीस्पून, नींबू का रस 1 टीस्पून पानी100 मिली विधिः सबसे पहले एक गिलास में क्रश की हुई बर्फ  सेब का रस, चीनी का सिरप, नींबू का रस डालकर […] विस्तृत....

June 11th, 2017

 

स्मार्ट फोन के बढ़ते प्रभाव में टूट रही हैं रिश्तों की डोर

आज के दौर में इनसानों का लोगों से ज्यादा अपने फोनों की ओर रुझान हो गया है। इन्हीं  में एक समस्या है लोगों का सोशल दुनिया की तरफ  ज्यादा रुझान। जो लोग स्मार्ट फोन का इस्तेमाल कर रहें है वह लोग अपनी वास्तविक दुनिया से […] विस्तृत....

June 11th, 2017

 

कविता

वर्षा रानी जल्दी आओ, इस गर्मी से हमें बचाओ। अपना हुकुम चलाती है, हम सबको झुलसाती है। सूखी-सूखी नदी देखकर, यह दुनिया घबराती है। पानी से डरती है गर्मी, इसको फौरन सबक सिखाओ। वर्षा रानी जल्दी आओ, इस गर्मी से हमें बचाओ। भारत मैट्रीमोनी पर […] विस्तृत....

June 11th, 2017

 
Page 5 of 495« First...34567...102030...Last »

पोल

क्रिकेट विवाद के लिए कौन जिम्मेदार है?

View Results

Loading ... Loading ...
 
Lingual Support by India Fascinates