Browsing Category

कुलभूषण उपमन्यु

जन-प्रबंधित सिंचाई योजनाओं की स्थिति

कुलभूषण उपमन्यु अध्यक्ष, हिमालयन नीति अभियान राजाओं के समय में उसे स्थानीय राजस्व प्रशासक  जिन्हें  चाड और लखन्यारा कहा जाता था, कोहली को उसके आदेशों को पालन करवाने में मदद करते थे और मौके पर ही जुर्माना करने की शक्तियों से लैस थे।…

वर्तमान राजनीतिक संस्कृति और हिंसक विरोध

कुलभूषण उपमन्यु अध्यक्ष, हिमालयन नीति अभियान फूट ही हिंसक वातावरण बनाने वाला कारक तत्त्व है। इस बात को यदि बहस में डाला जाए, तो झगड़ा ही बढ़ता है। इसलिए एक मात्र उपाय आत्म विश्लेषण द्वारा आत्म संशोधन ही है। प्रजातंत्र की परिपक्वता इसी…

पर्वतीय क्षेत्रों में जल संरक्षण की चुनौतियां

कुलभूषण उपमन्यु अध्यक्ष, हिमालयन नीति अभियान तेज ढलानों और वनस्पति की कमी के चलते बारिश के पानी का भू-जल में संचय की चुनौती के साथ सतही जल को रोकना और प्रयोग कर पाना दूसरी बड़ी चुनौती है। ग्लेशियर जल में होती कमी के चलते बारिश के पानी…

हादसों से त्रस्त हिमाचल को दिलवाओ छुटकारा

कुलभूषण उपमन्यु अध्यक्ष, हिमालयन नीति अभियान अधिकांश बाइकर बिना हेलमेट ही चलते हैं या हेलमेट को बाजू से लटका कर रखते हैं और पुलिस नाके के पास दिखाने भर के लिए पहन लेते हैं। हमें समझना चाहिए कि हेलमेट पहन कर पुलिस पर कोई एहसान नहीं किया…

बोझ न बने पशुधन

कुलभूषण उपमन्यु अध्यक्ष, हिमालयन नीति अभियान आज कल भारत के अनेक भागों में लावारिस गोवंश की संख्या बढ़ती ही जा रही है, जिससे किसानों की फसलों पर इनका हमला चिंता का कारण बनता जा रहा है। हिमाचल में भी लगभग 30 हजार पशु लावारिस हैं, किसानों…

वन प्रबंधन का मार्ग प्रशस्त करे बजट

कुलभूषण उपमन्यु लेखक, हिमालय नीति अभियान के अध्यक्ष हैं 1927 के वन अधिनियम के अध्याय तीन की धारा 28 गांव वन बनाने की व्यवस्था करती है। ऐसा करने की शक्ति भी राज्य सरकार में ही निहित है। अतः इस धारा को वर्तमान संदर्भ में परिभाषित करके…