हिमाचली पुरुषार्थ : भारत शिक्षा रत्न से गौरवान्वित दिवेंद्र गुप्ता

उन्होंने फल और वनस्पति में कीट संबंधित कई समस्याओं के समाधान सुझाए हैं और अपने विभाग में फल मक्खियों की जनसंख्या की गतिशीलता और प्रबंधन का अध्ययन करने में भी बेहतरीन कार्य किया है। उन्होंने फल मक्खियों की प्रबंधन विधियों को भी तैयार किया…

स्वरोजगार का बेहतर विकल्प

सतपाल मेहता  निदेशक मत्स्य पालन विभाग, बिलासपुर, हिमाचल प्रदेश मत्सय पालन में  करियर से संबंधित विस्तृत जानकारी प्राप्त करने के लिए हमने सतपाल मेहता से बातचीत की। प्रस्तुत हैं बातचीत के प्रमुख अंश... मत्स्य पालन में करियर का क्या स्कोप…

ज्ञान चंद टुटू धामी आंदोलन में शामिल हुए

बनारस विश्वविद्यालय में अपने आरंभिक शैक्षिक वर्षों में ज्ञान चंद टुटू पंडित पद्म देव के मार्गदर्शन में  धामी आंदोलन में शामिल हो गए। वह धामी प्रजा मंडल के सक्रिय सदस्य बन गए और 1940 ई. में वह रियासती प्रजा मंडल के महासचिव बने और 1940 ई. में…

राजा कर्ण प्रकाश ने की नाहन नगर की स्थापना

नाहन नगर राजधानी के रूप में राजा करण प्रकाश द्वारा 1621 ई. में स्थापित किया गया था। इसकी रचना की एक और कहानी यह है कि एक संत एक नाहर के साथ इस स्थान पर रहता था जहां नाहन का महल खड़ा है... नाहन यह सिरमौर जिला का मुख्यालय है, कंदराओं और हरे…

मिंजर मेले से होता है वरुण देवता की पूजा का एहसास

‘अखंड चंडी महल’ से एक सुंदर जुलूस निकाला जाता है, जो शहर की सुसज्ज्ति गलियों से निकलता हुआ रावी के किनारे पहुंचता है, जहां लोग हाथों में लिए हुए मिंजर मक्की के फूल व नारियल पानी में बहाते हैं। इसमें वरुण देवता की पूजा का भी  आभास मिलता…

कैरियर रिसोर्स

मैं इंडियन कोस्ट गार्ड से जुड़ कर करियर बनाना चाहती हूं। महिलाओं के लिए इसमें नौकरी की क्या-क्या संभावनाएं हैं? — राधा शर्मा, सोलन इंडियन आर्म्ड फोर्सेज की सबसे युवा ब्रांच इंडियन कोस्ट गार्ड है। ये हमारी 7615 किमी लंबी कोस्टलाइन की रक्षा…

1905 में हुआ बाघल रियासत में विद्रोह

1905 ई. में बाघल रियासत में फिर से विद्रोह फैल गया। राज विक्रम सिंह (1904-1922) उस समय अवयस्क था और राज्य  का प्रबंध मियां मान सिंह के हाथ में था। इसका तो राज परिवार के अपने घपले से आरंभ हुआ। बाद में क्षेत्र के सभी कनैत लोगों ने राजा के…

व्यास गुफा के नाम पर पड़ा बिलासपुर का नाम

पहले बिलासपुर का नाम व्यासपुर था। यहां पर रंगनाथ जैसे कुछ पुराने मंदिर और एक व्यास गुफा थी। संभवतः इस व्यास गुफा से ही इस स्थान का नाम व्यासपुर और फिर बिलासपुर पड़ा। इस राजा ने बिलासपुर में अपने लिए भवन, लोगों के लिए रंगनाथ मंदिर के सामने…

कैरियर रिसोर्स

हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग द्वारा निम्न पदों के लिए आवेदन आमंत्रित किए गए हैं। पद - फायर आपरेटर कम ड्राइवर।  रिक्तियां - 1646. शैक्षणिक योग्यता - 12वीं पास और निर्धारित योग्यताएं। आयु  सीमा - 17 वर्ष से  42…

संसदीय प्रणाली : इंडियन नेशनल कांग्रेस बनी जन संगठन

 गतांक से आगे... भारत सरकार अधिनियम, 1919 : 1926 के निर्वाचनों के परिणाम स्वराज पार्टी के लिए निराशाजनक रहे। मार्च, 1926 को अखिल भारत कांग्रेस समिति ने सरकार से सहयोग के कोई चिन्ह दिखाई न देने के कारण स्वराजवादियों से कहा कि वे…

सराहन में बना है गेफेंग देवता का मंदिर

चंद्रा घाटी के लाहुल क्षेत्र के अन्य प्रमुख ग्लेशियर हैं- छोटा शिगड़ी, पाचा, कुल्टी, शिपतिंग, दिंगकर्मो, तापन, गेफेंग, शिल्ली, बोलुनाग, तथा शामुद्री। गेफेंग ग्लेशियर का नामकरण लाहुल घाटी के सुप्रसिद्ध देवता गेफेंग पर किया गया है, जिनका…

स्वरोजगार का बेहतर विकल्प मुर्गीपालन

मुर्गीपालन एक ऐसा व्यवसाय है, जो आपकी आय का अतिरिक्त साधन बन सकता है। बहुत कम लागत से शुरू होने वाला यह व्यवसाय लाखों-करोड़ों का मुनाफा दे सकता है। इसमें शैक्षणिक योग्यता और पूंजी से अधिक अनुभव और मेहनत की दरकार ज्यादा होती है... अगर आपके…

वेद धारा ग्लोबल स्कूल धनोट, ज्वालामुखी

मनोरमा रामदास; प्रिंसीपल वेद धारा ग्लोबल स्कूल, जो कि ज्वालामुखी के धनोट पंचायत में स्थित है, एक उभरता हुआ स्कूल है। जिसने इतने कम समय में अपनी एक अलग पहचान बना ली है। यह  स्कूल अप्रैल 2017 में प्राइमरी विद्यालय के रूप में स्थापित हुआ। यह…

नर्मदा नायिका ‘मेधा पाटकर’

मेधा पाटकर का जन्म 1 दिसंबर,1954 में मुंबई के एक मध्यम वर्गीय परिवार में हुआ था। शुरू से ही सामाजिक कार्य में रुचि के कारण मेधा  ने टाटा इंस्टीच्यूट ऑफ सोशल साइंस, मुंबई से 1976 में समाज सेवा की  मास्टर डिग्री हासिल की। टाटा इंस्टीच्यूट ऑफ…