Divya Himachal Logo Feb 27th, 2017

कम्पीटीशन रिव्यू


परमवीर चक्र

cereerस्वतंत्र भारत में पराक्रमी वीरों को युद्ध भूमि में दिखाए गए शौर्य के लिए अनेक प्रतीक सम्मान पुरस्कारों का चलन शुरू हुआ। 15 अगस्त, 1947 से वर्ष 1950 तक भारत अपना संविधान रचने में व्यस्त रहा। 26 जनवरी 1950 को जो विधान लागू हुआ, उसे 1947 से प्रभावी माना गया। वह इसलिए जिससे 1947-48 में हुए भारत-पाक युद्ध के वीरों को, जिन्होंने जम्मू- कश्मीर के मोर्चों पर अपना शौर्य दिखाया, उन्हें भी पुरस्कारों से सम्मानित किया जा सके। इस क्रम में युद्धभूमि में सैनिकों द्वारा दिखाए गए पराक्रम के लिए 1950 में तीन पुरस्कारों का प्रावधान किया गया, जो श्रेष्ठता के क्रम से इस प्रकार हैं-

परमवीर चक्र, महावीर चक्र, वीर चक्र।

वर्ष 1952 में अशोक चक्र का प्रावधान किया गया।

शाब्दिक अर्थ

‘परमवीर चक्र’ का शाब्दिक अर्थ है वीरता का चक्र। संस्कृति के शब्द परम, वीर एवं चक्र से मिलकर यह शब्द बना है।

रिबैंड बार

यदि कोई परमवीर चक्र विजेता दोबारा शौर्य का परिचय देता है और उसे परमवीर चक्र के लिए चुना जाता है, तो इस स्थिति में उसका पहला चक्र निरस्त करके उसे रिबैंड दिया जाता है। इसके बाद हर बहादुरी पर उसके ‘रिबैंड बार’ की संख्या बढ़ाई जाती है। इस प्रक्रिया को मरणोपरांत भी किया जाता है। प्रत्येक रिबैंड बार पर इंद्र के वज्र की प्रतिकृति बनी होती है तथा इसे रिबैंड के साथ ही लगाया जाता है।

समकक्ष सम्मान

‘परमवीर चक्र’ को अमरीका के ‘सम्मान पदक’ तथा ‘यूनाइटेड किंग्डम’ के ‘विक्टोरिया क्रॉस’ के बराबर का दर्जा हासिल है।

महत्त्व

परमवीर चक्र वीरता की श्रेष्ठतम श्रेणी में, युद्ध भूमि में प्रदर्शित पराक्रम के लिए दिया जाता है। यह पुरस्कार वीर सैनिक को स्वयं या मरणोपरांत दिए जाने की स्थिति में, उसके प्रतिनिधि को सम्मानपूर्वक दिया जाता है। इस पुरस्कार को देश के तत्कालीन राष्ट्रपति विशिष्ट समारोह में अपने हाथों से प्रदान करते हैं। यह पुरस्कार तीनों सेनाओं के वीरों को समान रूप से दिया जाता है। इस पुरस्कार में स्त्री- पुरुष का भेदभाव भी मान्य नहीं है। इस पुरस्कार की विशिष्टता का अनुमान इसी से लगाया जा सकता है कि 1947 से लेकर आज तक यह पुरस्कार, चार बड़े युद्ध लड़े जाने के बाद भी केवल 21 सैनिकों को ही दिया गया है, जिनमें से 14 सैनिकों को यह पुरस्कार मरणोपरांत दिया गया है।

परमवीर चक्र का स्वरूप

भारतीय सेना के रणबांकुरों को असाधारण वीरता दर्शाने पर दिए जाने वाले सर्वोच्च पदक परमवीर चक्र का डिजाइन विदेशी मूल की एक महिला ने किया था और 1950 से अब तक इसके आरंभिक स्वरूप में किसी तरह का कोई परिवर्तन नहीं किया गया है। देश की सेना में यह सबसे बड़ा सम्मान माना गया है।

February 22nd, 2017

 
 

मेहनत मांगती है मॉडलिंग

मेहनत मांगती है मॉडलिंगनताशा सिंह मिस हिमाचल सीजन-6 मॉडलिंग में करियर संबंधित विस्तृत जानकारी प्राप्त करने के लिए हमने नताशा सिंह से बातचीत की। प्रस्तुत हैं बातचीत के प्रमुख अंश… मॉडलिंग में युवाओं के लिए करियर का क्या स्कोप है? मॉडलिंग में युवाओं के लिए करियर के बहुत […] विस्तृत....

February 22nd, 2017

 

हिमाचली पुरुषार्थ

हिमाचली पुरुषार्थपहाड़ जैसे हौसले ने अनिल को दिलाया मेडल नायब सूबेदार अनिल की छाती पर सजे तमगे ने प्रदेश का सीना चौड़ा कर दिया है। उनके अनुसार देश के लिए जीने-मरने की कसम खाई है, तो फिर दुश्मन को कैसे देश की तरफ देखने दें। उनका […] विस्तृत....

February 22nd, 2017

 

इसरो की किरण एएस किरन कुमार

इसरो की किरण एएस किरन कुमारवैज्ञानिक और इसरो प्रमुख एएस किरण कुमार पहले से ही देश की शान बढ़ाते रहे हैं। वह विश्व मौसम विज्ञान संगठन और भू-अवलोकन उपग्रह समिति जैसे कई महत्त्वपूर्ण अंतरराष्ट्रीय मंचों पर इसरो का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं। कर्नाटक के बंगलूर में 1952 में जन्मे अलुर […] विस्तृत....

February 22nd, 2017

 

विशुद्धा इंटरनेशनल पब्लिक स्कूल, बैजनाथ

विशुद्धा इंटरनेशनल पब्लिक स्कूल, बैजनाथविनय किशोर शर्मा प्रिंसीपल कम प्रबंध निदेशक विशुद्धा पब्लिक स्कूल, बैजनाथ उपमंडल बैजनाथ के सबसे पुराने निजी क्षेत्र में शिक्षा प्रदान करने वाले स्कूलों में शुमार है। वर्ष 2004 में स्वामी विशुद्धा नंद जी सरस्वती महाराज के आशीर्वाद में मात्र 23 बच्चों से शुरू किए […] विस्तृत....

February 22nd, 2017

 

खूबसूरत ‌करियर ‌की मॉडलिंग

खूबसूरत ‌करियर ‌की मॉडलिंगवैसे तो उम्र के हर पड़ाव पर मॉडलिंग संभव है। बच्चे भी मॉडल होते हैं और बुजुर्ग भी, पर वयस्क होने के दौरान मॉडल बनने का अपना ही जुनून होता है। उम्र का यह मंजर जोश का जखीरा होता है और इस दौरान उपलब्धियां हासिल […] विस्तृत....

February 22nd, 2017

 

समसामयिकी

समसामयिकीइसरो का विश्व रिकार्ड भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने अंतरिक्ष विज्ञान का एक और कीर्तिमान अपने नाम कर लिया है। एक साथ 104 उपग्रहों को प्रक्षेपित करने का इसरो का अभियान सफल रहा। अब तक एक साथ सबसे ज्यादा उपग्रहों को प्रक्षेपित करने का […] विस्तृत....

February 22nd, 2017

 

साप्ताहिक घटनाक्रम

साप्ताहिक घटनाक्रम* वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बुधवार को बताया कि कैबिनेट ने भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) में उसके 5 सहयोगी बैंकों के विलय को अनुमति दे दी है। हालांकि अभी महिला बैंक के बारे में कोई फैसला नहीं लिया जा सका है। एसबीआई में स्टेट […] विस्तृत....

February 22nd, 2017

 

करियर रिसोर्स

जिन उम्मीदवारों के पास एमबीबीएस या बीडीएस की डिग्री नहीं है, उनके लिए चिकित्सा क्षेत्र में क्या-क्या विकल्प हैं। — कुलभूषण शर्मा, नाहन एमबीबीएस एग्जाम में यदि आपका चयन नहीं होता है, तो निराश होने की आवश्यकता नहीं है। अन्य विकल्पों के सहारे आप इस […] विस्तृत....

February 22nd, 2017

 

भारत का इतिहास

भारत विभाजन की अनिवार्यता इस बारे में दो मत नहीं हो सकते कि भारतवासियों का विशाल बहुमत विभाजन का कट्टर विरोधी था। हिंदू और सिख तो उसके विरुद्ध थे ही, मुसलमानों का भी एक वर्ग उसके खिलाफ था। फिर भी, इस बारे में विभिन्न मत […] विस्तृत....

February 22nd, 2017

 
Page 1 of 47512345...102030...Last »

पोल

क्या हिमाचली युवा राजनीतिक वादों से प्रभावित होते हैं?

View Results

Loading ... Loading ...
 
Lingual Support by India Fascinates