himachal pradesh news, himachal pradesh top stories, himachal pradesh tourism

मध्य हिमालय खंड में हैं पर्याप्त चरागाह

मध्य हिमालय खंड में लोगों का मुख्य व्यवसाय कृषि और बागबानी दोनों हैं। कृषि में मक्की, गंदम, जौ आदि बोए जाते हैं। परंतु फसलें कम मात्रा में होती हैं। मुख्य फसल आलू है, जो इस क्षेत्र की नकदी फसल भी है। बागबानी के क्षेत्र में मुख्य बागीचे सेब…

बड़े राज्यों की सीमाओं का खंडन हुआ और छोटे राज्य बने

पूर्व मध्य काल में इन बड़े-बड़े राज्यों की सीमाओं का खंडन होकर अनेक नए छोटे-छोटे राज्य बने और उनकी शक्ति का हृस हुआ, वहां दूसरी ओर मैदानी भागों में आए राजपूतों ने इन निर्बल और शक्तिहीन राजाओं को अपने अधिकार में लेकर बल पकड़ना शुरू किया...…

शिगड़ू महाराज हैं रोहड़ू मेले का आकर्षण

लोगों की भारी-भरकम भीड़ मेले में शिरकत करने के लिए चली आती है। आपसी भाईचारे और स्नेह की झलक सहज ही देखी जा सकती है। लोगों का मित्र मिलन त्योहार की रौनक को चौगुना कर देता है। मेले का आकर्षण स्थानीय देवता शिगडू महाराज जी हैं... रोहड़ू मेला:…

मनोविज्ञान मन को समझने का करियर

हमारे जीवन के सभी अहम हिस्से, चाहे वह स्वास्थ्य हो, रोजगार हो या फिर समाज में रुतबा, सब कुछ मन की स्थिति पर निर्भर करते हैं। मनुष्य का पूरा जीवन मन की धुरी पर ही घूमता है। आदमी की सभी गतिविधियों को मन ही नियंत्रित करता है। इस मन को पढ़ने के…

अलग पहचान के आलोक सागर

प्रोफेसर आलोक सागर का जन्म 20 जनवरी, 1950 को दिल्ली में संभ्रांत परिवार में हुआ। मूलतः नई दिल्ली के निवासी आलोक सागर ने आईआईटी दिल्ली से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में बीटेक किया, फिर 1973 में यहीं से मास्टर डिग्री हासिल की। आईआईटी दिल्ली की…

पालमपुर की मिट्टी से निकलीं छह सौ किताबें

हिमाचली पुरुषार्थ सुदर्शन भाटिया ने अपनी सर्विस के दौरान ही इतनी क्वालिफिकेशन हासिल कर ली थी कि स्वतः ही उनमें पठन-पाठन का ऐसा जज्बा जागा कि आज वह 650 के लगभग किताबें लिख चुके हैं... इसे जुनून कहें या जुस्तजू कि एक इंजीनियर ने कलम को ही…

दिल्ली पब्लिक स्कूल, सुंदरनगर

मनप्रीत कौर प्रिंसीपल सुकेत रियासत के सुंदरनगर में चंडीगढ़- मनाली नेशनल हाई-वे पर स्थित नामधारी एजुकेशन  सोसायटी सुंदरनगर द्वारा संचालित दिल्ली पब्लिक स्कूल समाज में बच्चों को बेहतर शिक्षा देने के लिए सर्वश्रेष्ठ शिक्षण संस्थान के रूप में…

कन्नौज पर गढ़वाल वंश का भी राज रहा

गुर्जर प्रतिहार वंश के पतन के पश्चात कन्नौज (कइयों के अनुसार ये राठौर थे)पर कुछ काल के लिए गढ़वाल  वंश का अधिकार रहा, परंतु स्थायी तौर पर ये अपना अधिकार न जमा सके। अन्य राजपूत वंशों में चंदेल, कलचुरि, परमार, तोमर, चौहान तथा चालुक्य थे...…

सतलुज के दोनों किनारों पर स्थित है बिलासपुर जिला

बिलासपुर जिला सतलुज नदी के दोनों किनारों पर स्थित है तथा सुदूर पूर्व में यह नदी जिला मंडी के साथ सीमा निर्धारित करती है। इस जिला की पूर्व से पश्चिम तक की लंबाई 51 किलोमीटर तथा उत्तर से दक्षिण की चौड़ाई 43 किलोमीटर है... बिलासपुर मुख्यालय -…

गंगथ को आज भी कहते हैं ‘भांडयां आला शैर’

50 किलोमीटर के दायरे में मात्र यही एक ऐसा शहर था, जिसे स्थानीय बोली में भांडेया आला शैर कहा जाता था। बुजुर्ग आज भी इसे इसी नाम से पुकारते हैं। 200 साल पहले यहां के कारीगरों का काम बहुत ऊंचे स्तर का था... गंगथ श्री बाबा क्यालू सिद्धपीठ गंगथ…

भारत में संसदीय संस्थाओं का विकास

गतांक से आगे... प्रभुसत्ता एक बहुत बड़ी सभा में निहित रहती है और उसी सभा के सदस्य न केवल कार्यपालिका के सदस्यों को बल्कि सैनिक प्रमुखों को भी चुना करते थे। वही वैदेशिक कार्यों पर नियंत्रण रखती थी और युद्ध जैसे मामलों का फैसला भी करती थी।…

कुमारसैन में तीरअंदाजी के खेल को कहते हैं ‘ठोड’

कुमारसैन और इसके आसपास के क्षेत्रों में तीरकमान का खेल इस दिन के मेलों का विशेष खेल होता है, जिसे ‘ठोड’ का खेल कहते हैं। कहीं-कहीं आज के दिन छिंजों यानी कुश्तियों का आयोजन भी किया जाता है। ये मेलों में भी आयोजित हो सकती हैं और इनके कारण…

करियर ‌रिसोर्स

बायोटेक्नोलॉजी में करियर की क्या संभावनाएं हैं? — देशराज शर्मा,  नाहन यह एक उभरता हुआ क्षेत्र है। आने वाले समय में इसकी उपयोगिता मानव जीवन से जुड़े कार्यकलापों में बढ़ती हुई देखी जा सकती है। इस क्षेत्र में बेहतर संभावनाओं से इनकार नहीं किया…

कैरियर रिसोर्स

केनरा बैंक केनरा  बैंक  द्वारा निम्न पदों के लिए आवेदन आमंत्रित किए हैं। पद - प्रोबेशनरी अफसर रिक्तियां - 450, शैक्षणिक योग्यता - उम्मीदवार के पास 60 प्रतिशत अंकों के साथ स्नातक डिग्री होनी चाहिए। आयु  सीमा - 20 से 30 वर्ष। आवेदन की अंतिम…
?>