Divya Himachal Logo Aug 20th, 2017

कम्पीटीशन रिव्यू


सरकार के पक्षकार केके वेणुगोपाल

सरकार के पक्षकार केके वेणुगोपालसीनियर एडवोकेट केके वेणुगोपाल को भारत का15वां अटॉर्नी जनरल बनाया गया है। उन्होंने अपना  पदभार संभाल लिया। इससे पहले अटार्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने अपने कार्यकाल को आगे न बढ़ाने की गुजारिश की थी। वह 11 जून को सेवानिवृत्त हो गए हैं।  86 साल के वेणुगोपाल की नियुक्ति के प्रस्ताव पर पीएम नरेंद्र मोदी के यूएस विजिट से पहले विचार किया गया था। उसके बाद लॉ मिनिस्ट्री ने वेणुगोपाल के नाम को रैफर करते हुए फाइल को पीएमओ भेजा था। केके वेणुगोपाल यानी कोट्टयन कटंकोट वेणुगोपाल का जन्म 1931 में हुआ। वह भारत के 15वें अटार्नी जनरल (महान्यायवादी) बनाए गए हैं। वेणुगोपाल जाने-माने संवैधानिक विशेषज्ञ हैं। इससे पूर्व वह मोरारजी देसाई की सरकार में वर्ष 1977 से 1979 तक भारत के अतिरिक्त सालीसीटर जनरल रह चुके हैं। उल्लेखनीय है कि अटार्नी जनरल भारत सरकार का प्रथम विधि अधिकारी होता है। वह उच्चतम न्यायालय और राज्य के उच्च न्यायालयों में भारत सरकार का पक्ष रखता है। अटार्नी जनरल को संसद के दोनों सदनों की कार्यवाही में भाग लेने एवं बोलने का अधिकार है, लेकिन मत देने का अधिकार नहीं है। वेणुगोपाल को सन् 2002 में भारत सरकार द्वारा सार्वजनिक उपक्रम के क्षेत्र में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। हाल में 2-जी मालमे में वह सीबीआई और ईडी की ओर से सुप्रीम कोर्ट में पेश होते रहे हैं। वेणुगोपाल जजों की नियुक्ति के लिए बनाए गए एनजेएसी के पक्ष में मध्यप्रदेश सरकार की ओर से पेश हुए थे। उन्होंने केंद्र सरकार के कानून का पक्ष लिया था। अयोध्या विवाद मामले में कल्याण सिंह सरकार के लिए भी वह सुप्रीम कोर्ट में पेश हुए थे।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !

August 2nd, 2017

 
 

समसामयिकी

समसामयिकीदहेज रोकथाम कानून आईपीसी की धारा-498 ए यानी दहेज प्रताड़ना मामले में गिरफ्तारी सीधे नहीं होगी। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि दहेज प्रताड़ना मामले को देखने के लिए हर जिले में एक परिवार कल्याण समिति बनाई जाए और समिति की रिपोर्ट आने के बाद […] विस्तृत....

August 2nd, 2017

 

आईपीसी धारा-498ए

आईपीसी धारा-498एआज हमारे देश में लड़कियों और महिलाओं को लेकर कई कानून बनाए गए हैं। आज के इस दौर में जहां महिलाओं की सुरक्षा को ज्यादा सोचने की जरूरत है, वहीं सुरक्षा के लिए कुछ सख्त कानून भी बनाए गए हैं। इन कानूनों की जानकारी होना […] विस्तृत....

August 2nd, 2017

 

साप्ताहिक घटनाक्रम

साप्ताहिक घटनाक्रम* बिहार के मुख्यमंत्री के रूप में इस्तीफा देने के एक दिन से भी कम समय में, नीतीश कुमार ने पटना में राजभवन में सुबह 10 बजे फिर से शपथ ग्रहण की, जिसमें सरकार के प्रमुख सहयोगियों के रूप में भाजपा और उसके सहयोगियों को […] विस्तृत....

August 2nd, 2017

 

फार्मूलों की जानकारी ही सफलता का सूत्र

फार्मूलों की जानकारी ही सफलता का सूत्रडा. पीएल शर्मा गणित विभाग, हिमाचल प्रदेश यूनिवर्सिटी, शिमला गणित में करियर से संबंधित विस्तृत जानकारी प्राप्त करने के लिए हमने पीएल शर्मा से बातचीत की। प्रस्तुत हैं बातचीत के प्रमुख अंश… गणित विषय क्या है, इसे कैसे परिभाषित करेंगे ? गणित ऐसी विधाओं का […] विस्तृत....

August 2nd, 2017

 

गुरु स्टडी सेंटर, धर्मशाला

गुरु स्टडी सेंटर, धर्मशालारिशाद मोहम्मद निदेशक सपनों को पंख लगाने का काम करने वाले गुरु स्टडी सेंटर धर्मशाला की शुरुआत अक्तूबर, 2012 से हुई। वर्ष 2012 से लेकर अब तक अकादमी ने कई बेहतरीन परिणाम दिए हैं। 2012 में जिला कांगड़ा का पुलिस भर्ती परीक्षा का टॉपर इसी […] विस्तृत....

August 2nd, 2017

 

हिमाचली पुरुषार्थ : तपिश के ताप से अब निखरेगा फुटबाल खेल

हिमाचली पुरुषार्थ : तपिश के ताप से अब निखरेगा फुटबाल खेलहिमाचल के इतिहास में तपिश इकलौते फुटबाल खिलाड़ी हैं, जिन्होंने नया इतिहास रच दिया है। अब तपिश हिमाचल की ओर से कमिश्नर बनने के बाद ऑल इंडिया फुटबाल फेडरेशन की प्रतियोगिताओं में मैच कमिश्नर की भूमिका निभाते हुए नजर आएंगे। हिमाचल प्रदेश में फुटबाल कोच […] विस्तृत....

August 2nd, 2017

 

ऋग्वेद में जनों का उल्लेख है, जनपदों का नहीं

प्रत्येक जन में अनेक कुटुंब होते थे। अतः एक ही जाति के पुरुष से उत्पन्न विभिन्न कुटुंबों के समुदाय का नाम जन था। शुरू-शुरू में इन जनों का कोई निश्चित तथा स्थायी स्थान नहीं होता था और वे एक स्थान से दूसरे स्थान पर घूमा […] विस्तृत....

August 2nd, 2017

 

कांशी राम के बाद दूसरे नंबर पर थे बख्शी

बख्शी राम अग्रवाल भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा- 124 के तहत 11 मार्च, 1922 से 2 फरवरी, 1923 ई. तक जेल में रहे। बाद में वह दोबारा 3 दिन के लिए फिर जेल गए। 1920 के दशक में वह बाबा कांशी राम के साथ […] विस्तृत....

August 2nd, 2017

 

भारत का इतिहास

परामर्श शाखा ने तैयार किए दो पत्रक गतांक से आगे- इस स्थिति  में संविधान सभा ने और आगे प्रतीक्षा करना निरर्थक समझा  तथा 22 जनवरी, 1947 को अवसर की गंभरीता और प्रस्ताव में की गई प्रतिज्ञा की महानता का स्मरण करते हुए, बड़ी संजीदगी के […] विस्तृत....

August 2nd, 2017

 
Page 3 of 51612345...102030...Last »

पोल

क्या कांग्रेस को विस चुनाव वीरभद्र सिंह के नेतृत्व में लड़ना चाहिए?

View Results

Loading ... Loading ...
 
Lingual Support by India Fascinates