Divya Himachal Logo Feb 24th, 2017

कम्पीटीशन रिव्यू


कैसे पाएं वार्षिक परीक्षाओं से पार

परीक्षाएं नजदीक आ रही हैं आपको अपनी योग्यता, संभावनाओं तथा अन्य संबंधित कसौटियों के अनुरूप खरा उतरना चाहिए। यहां पर आपके अपने ध्यान में दो विशेष केंद्र बिंदु रखने होंगे, जो आपको परीक्षा हाल में प्रवेश करने से पहले तुम्हें उन्हें समझना होगा…

प्रिय विद्यार्थियों…

परीक्षाएं नजदीक आ रही हैं आपको अपनी योग्यता, संभावनाओं तथा अन्य संबंधित कसौटियों के अनुरूप खरा उतरना चाहिए।

यहां पर आपके अपने ध्यान में दो विशेष केंद्र बिंदु रखने होंगे, जो आपको परीक्षा हाल में प्रवेश करने से पहले तुम्हें उन्हें समझना होगा। आपको अपने प्रश्न पत्र को बड़े ध्यानपूर्वक तथा शांत स्वभाव से पढ़ना होगा तथा जो प्रश्न आपके प्रश्न पत्र में आए हैं, आपको तय करना होगा कि इनमें से कौन सा प्रश्न कैसे तथा कितने समय में करना होगा। सबसे पहले आपको प्रश्न पत्र को पढ़ना होगा। प्रश्न पत्र मिलने पर आप जरा भी विचलित न हों बड़े शांत होकर उसे एक बार पढ़कर सुनिश्चित करें।

आपके ध्यान में यह धारण होनी चाहिए कि आप इस प्रश्न हल कर सकते हैं। आपको यह भी तय करना होगा कि कौन सा प्रश्न कितना लंबा तथा कितने समय में हल करना है। आगे दी गई कुछ बातों पर ध्यान देने से आप परीक्षाओं में कुछ बेहतर कर सकते हैं।

  1. जो प्रश्न आपने करने हैं सबसे पहले उन्हें चिन्हित कर लें।
  2. आपको अपनी उत्तर-पुस्तिका साफ-सुथरी बनानी होगी। उत्तर-पुस्तिका के दोनों ओर सही-सही हाशिया रख लें। हाशिए के बाहर कार्य न करें।
  3. हैडिंग तथा सब-हैडिंग को अंडर लाइन करें। अपनी इच्छानुसार हैडिंग तथा सब-हैडिंग को काले पैन से लिख सकते हैं।
  4. उत्तर-पुस्तिका में हैडिंग तथा सब-हैडिंग के सिवाय नीली स्याही का ही प्रयोग करें, लाल, भूरी तथा अन्य किसी प्रकार की स्याही को प्रयोग में

न लाएं।

  1. समयसीमा के अनुसार आपको समझ लेना चाहिए कि आपको समय के अनुसार प्रश्न हल करने होंगे तथा यह सुनिश्चित करना होगा कि मैं इतने अंक प्राप्त कर सकता हूं।
  2. लंबे प्रश्न का उत्तर ज्यादा समय में देना होगा, जितना कि आप उसका उत्तर जानते हैं।
  3. प्रश्न का उत्तर देने के लिए उतावले न हों। उत्तर सोच-समझकर लिखना चाहिए।

इन बातों पर भी गौर करें-

  1. अंतिम दिन के बारे में न सोचें केवल जो प्रश्न आपने याद किए हैं, उन्हें पढ़ें तथा दोहराएं और अपने दिमाग में बैठाएं।
  2. अपने मन में कभी परीक्षा शुरू होने से पहले वाले दिन के बारे में न सोचें। यह केवल आपको विचलित ही करेगा और जो कुछ आपने याद किया है, उसे भुलाने की कोशिश करेगा।
  3. समय पर परीक्षा परिसर में पहुंचे और घर से चलने से पहले अच्छा नाश्ता, भोजन करें।
  4. अपने साथ परीक्षा संबंधी तथा विषयानुसार सामग्री अवश्य ले जाएं, जिनमें रोल नंबर स्लिप, बॉल पैन, पैन, रबर, क्लिप बोर्ड व ज्योमेट्री बॉक्स आदि।
  5. जहां संभव को वहां पर चित्र तथा ग्राफ आदि बनाएं, जिससे आपकी उत्तर-पुस्तिका सुंदर व साफ लगे।
  6. यदि आप यह समझें कि प्रश्न पत्र कठिन है तो चिंता न करें। यह संभवतः सबके लिए चिंता का विषय होता है। अंत में जब आप अपने प्रश्न पत्र के उत्तर कर बैठते हैं, तो एक बार अपनी उत्तर-पुस्तिका को गौर से पढ़ लें तथा सुनिश्चित कर लें कि आपके प्रश्नों की संख्या ठीक है या पूरे किए हैं इस ओर अवश्य ध्यान दें। ज्यादा घबराएं न, आपने मेहनत की है, तो नतीजे सकारात्मक ही होंगे। परीक्षा को लेकर ज्यादा तनाव से बचें।

February 15th, 2017

 
 

करियर रिसोर्स

मैं इंडियन कोस्ट गार्ड से जुड़ कर करियर बनाना चाहती हूं। महिलाओं के लिए इसमें नौकरी की क्या-क्या संभावनाएं हैं? — वंदना शर्मा, डलहौजी इंडियन आर्म्ड फोर्सेज की सबसे युवा ब्रांच इंडियन कोस्ट गार्ड है। ये हमारी 7615 किमी लंबी कोस्टलाइन की रक्षा करते हैं। […] विस्तृत....

February 15th, 2017

 

अब पंजाब नहीं, हिमाचल है पांच नदियों का प्रदेश

हिमाचल प्रदेश में असंख्य ही नदियां और नाले हैं, जिनमें सारा वर्ष अथाह जल राशि रहती है, परंतु इनमें पांच नदियां ऐसी हैं, जिनका सारे देश के भूगोल, संस्कृति और इतिहास से संबंध जुड़ा है। आधुनिक युग में पंजाब पांच नदियों का प्रदेश न होकर […] विस्तृत....

February 15th, 2017

 

भागवान नाम की नर्तकी से पड़ा नगरोटा का नाम

नगरोटा बगवां की स्थापना भागवान नाम की एक नर्तकी द्वारा की गई और उसने एक देवालय (मंदिर) भी बनवाया था। गुरुद्वारा पौड साहिब भी यहां स्थित है। यह गुरुद्वारा 1708 ई. में दसवें सिख गुरु गोबिंद सिंह की पवित्र याद में बनाया गया था… नगरोटा […] विस्तृत....

February 15th, 2017

 

सेना में हर मोर्चे पर तैयार रहूंगी

सेना में हर मोर्चे पर तैयार रहूंगीपूनम कुमारी भारतीय सेना में नर्सिंग में बतौर लेफ्टिनेंट सिलेक्ट नर्सिंग में करियर संबंधित विस्तृत जानकारी प्राप्त करने के लिए हमने पूनम कुमारी से बातचीत की। प्रस्तुत हैं बातचीत के प्रमुख अंश… आपने करियर के रूप में नर्सिंग को ही क्यों चुना मेडिकल लाइन में […] विस्तृत....

February 8th, 2017

 

नफे की नर्सिंग

नफे की नर्सिंगडाक्टरों को दूसरा भगवान कहा जाता है क्योंकि मरीजों को स्वस्थ करने की जिम्मेदारी इन्हीं पर होती है, लेकिन इसमें नर्स की भूमिका को भी नकारा नहीं जा सकता है। देखा जाए, तो मरीजों की देखभाल की पूरी जिम्मेदारी इनके ऊपर ही होती है। तभी […] विस्तृत....

February 8th, 2017

 

राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला (छात्र), घुमारवीं

राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला (छात्र), घुमारवींजोगेंद्र सिंह राव, प्रिंसीपल करीब 116 साल पहले असितत्व में आए घुमारवीं स्कूल के छात्रों ने शिक्षा के साथ खेल क्षेत्र में अपनी विशेष पहचान बनाई है। स्कूल से निकले छात्र हिमाचल विधानसभा सहित विदेशों में नाम कमा रहे हैं। इस स्कूल से निकले छात्र […] विस्तृत....

February 8th, 2017

 

समसामयिकी

समसामयिकीबजट- 2017-18 बजट के मुख बिंदु – बजट में कृषि ऋण के लिए 10 लाख करोड़ रुपए का लक्ष्य। – फसल बीमा योजना के लिए 2017-18 में 9,000 करोड़ रुपए का प्रावधान। इस योजना का कवरेज 2016-17 के 30 प्रतिशत से बढ़ाकर 2017-18 में 40 […] विस्तृत....

February 8th, 2017

 

साप्ताहिक घटनाक्रम

साप्ताहिक घटनाक्रम*  ड्यूश बैंक के पूर्व ग्लोबल स्ट्रेटजिस्ट और प्रबंध निदेशक संजीव सान्याल भारत सरकार के प्रधान आर्थिक सलाहकार नियुक्त किए गए हैं। *  पूर्व दिल्ली पुलिस आयुक्त आलोक वर्मा ने केंद्रीय खुफिया ब्यूरो (सीबीआई) के 27वें निदेशक के तौर पर पदभार संभाल लिया है। बतौर […] विस्तृत....

February 8th, 2017

 

पंचकर्म

पंचकर्मशरीर-शुद्घि की प्राचीन आयुर्वेदिक पद्घति है पंचकर्म। आयुर्वेद के अनुसार, चिकित्सा के दो प्रकार होते हैं- शोधन चिकित्सा एवं शमन चिकित्सा। जिन रोगों से मुक्ति औषधियों द्वारा संभव नहीं होती, उन रोगों के कारक दोषों को शरीर से बाहर कर देने की पद्घति शोधन कहलाती […] विस्तृत....

February 8th, 2017

 
Page 4 of 475« First...23456...102030...Last »

पोल

क्या हिमाचल में बस अड्डों के नाम बदले जाने चाहिएं?

View Results

Loading ... Loading ...
 
Lingual Support by India Fascinates