himachal pradesh news, himachal pradesh top stories, himachal pradesh tourism

जब मेरी फितरत, फितरत नहीं रह जाती

किताब के संदर्भ में लेखक कुल पुस्तकें  :        16 कुल पुरस्कार  :       05 साहित्य सेवा  :      56 वर्ष पता : गांव ग्याणा, डाकखाना मांगू, वाया दाड़लाघाट, तहसील अर्की, जिला सोलन, हि. प्र., पिन-171102, फोन : 94184-78878, 98051-99422. हिमाचल…

‘छू लेने दो आकाश’ है हौसले की उड़ान

पुस्तक समीक्षा *   पुस्तक का नाम : छू लेने दो आकाश (क्षणिका संग्रह) *         लेखिका : कमलेश सूद *           कुल पृष्ठ -109 *           मूल्य - 400 रुपए *           प्रकाशक : एजुकेशनल बुक सर्विस,   उत्तमनगर, नई दिल्ली-59 कमलेश सूद की चौथी…

वर्ष 2017 : साहित्य पर शिथिलता हावी

-डा. सुशील कुमार ‘फुल्ल’ --गतांक से आगे... हर वर्ष खुशवंत सिंह की याद में आयोजित होने वाले कसौली लिट फेस्ट में भी हर साल खास-खास लोग ही भाग लेते हैं, जबकि इसमें हिमाचल, पंजाब, हरियाणा, जम्मू-कश्मीर आदि प्रांतों से भी सृजनकर्मियों को…

संस्कृत में शपथ के मायने

डा. कुलदीप चंद अग्निहोत्री लेखक, वरिष्ठ स्तंभकार हैं हिमाचल प्रदेश विधानसभा का पहला सत्र होगा, तो सभी नवनिर्वाचित सदस्य शपथ ग्रहण करेंगे। आशा करनी चाहिए कि बड़ी संख्या में सदस्य संस्कृत में शपथ लेंगे। संस्कृत भाषा में शपथ लेना केवल कृत्रिम…

शपथ संशोधन

किशन सिंह गतवाल, सतौन, सिरमौर भारतीय संविधान में व्यवस्था है कि कार्यभार संभालने से पहले जनता का हर प्रतिनिधि शपथ ग्रहण करता है। इसमें शपथ ली जाती है कि अमुक प्रतिनिधि पद की गरिमा एवं गोपनीयता का निर्वहन करेगा और संविधान, देश और जनता के…

विकास में जनसहयोग

सूबेदार मेजर (से.नि.) केसी शर्मा, गगल प्रधानमंत्री की इस सोच की प्रशंसा करनी होगी कि सबके साथ से सबके विकास की सोच से ही व्यापक जनहित की राह निकलती है।  उम्मीद है कि हिमाचल में जयराम सरकार अपने कार्यकाल में भरपूर विकास करेगी। प्रदेश में…

जैविक खेती की ओर

अभिषेक कुमार, केंद्रीय विश्वविद्यालय, धर्मशाला जब से किसान ने जैविक खेती छोड़कर रासायनिक खेती अपनाई है, किसान तथा अन्य लोगों को फायदा कम नुकसान ज्यादा हुआ है। रासायनिक खेती से पैदावार तो होती है, लेकिन मिट्टी की शक्ति खत्म होने लगती है,…

लकीरों से बाहर सरकार-3

इसमें दो राय नहीं कि हिमाचल में भाजपा सरकार भौगोलिक, सामाजिक व आर्थिक बेडि़यों से बाहर निकल कर अपने सोच के दायरे का विस्तार करना चाह रही है। हिमाचल की छवि भी जिस लकीर पर खड़ी है, उससे बाहर खींचने और सींचने की जरूरत है। मसलन प्रदेश के प्रवेश…

तीन तलाक बिल पर सियासत

संसद का शीतकालीन सत्र पांच जनवरी को समाप्त हो गया। इस सत्र के महत्त्वपूर्ण विधायी कार्यों में तीन तलाक का बिल भी शामिल था, लेकिन इसे राजनीतिक अवसरवादिता कहें या दोगलापन अथवा मुस्लिम वोट बैंक का स्वाभाविक दबाव या भाजपा की मुस्लिम महिलाओं की…

आडंबर के बंधक बने धार्मिक संस्कार

प्रेम चंद माहिल लेखक, भोरंज, हमीरपुर से हैं मैं सनातन धर्म का अनुयायी हूं और सनातन धर्म के धर्म नियमों का कट्टर समर्थक हूं। अपने धर्म के हर धार्मिक संस्कारों पर पूर्ण विश्वास करके उनका गहन अध्ययन किया। इस मंथन के परिणाम में पाया कि इसमें…

‘आप’ का धुंधला भविष्य

राजेश कुमार चौहान, सुजानपुर टीहरा आम आदमी पार्टी एक बार फिर से सुर्खियों में है, जिसका कारण पार्टी के भीतर पैदा हुआ विवाद है। पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल द्वारा राज्यसभा की टिकटों के बंटबारे को लेकर जो फैसला लिया गया, उससे आप के कुछ…

हार के बावजूद कांग्रेस को सुधरने का मौका

प्रो. एनके सिंह लेखक, एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के पूर्व चेयरमैन हैं कांग्रेस की हार का एक कारण यह भी है कि वीरभद्र सिंह के अलावा चुनाव प्रचार में कोई और बड़ा नेता नहीं दिखा। उन्हें चुनाव के दौरान कोई मदद नहीं मिल पाई और पार्टी नेता गुजरात…

जातिवाद की आग

बलवंत पाठक (ई-मेल के मार्फत) महाराष्ट्र के पुणे के भीमा-कोरेगांव युद्ध की 200वीं सालगिरह के दौरान उपजे तनाव ने महाराष्ट्र के कई शहरों को जातीय हिंसा में झुलसा दिया। पुलिस ने जेएनयू के पूर्व छात्र उमर खालिद और गुजरात के विधायक जिग्नेश मेवाणी…

लकीरों से बाहर सरकार-2

जिस लकीर पर हिमाचल की सरकारी कार्य संस्कृति खड़ी है, वहां स्थानांतरण एक जबरदस्त जुगत है। बेशक किसी भी सरकार का उत्सव सर्वप्रथम सचिवालय में सजता है, लेकिन कभी-कभी तो यह स्थानांतरण के महल की तरह लगता है। प्रदेश तो डोडराक्वार, पांगी, किन्नौर,…

खेल सामान की खरीद पर गिद्ध निगाहें

भूपिंदर सिंह लेखक, राष्ट्रीय एथलेटिक प्रशिक्षक हैं राज्य में करोड़ों का खेल सामान प्रति वर्ष शिक्षा विभाग के संस्थान, निदेशालय व राज्य के खेल विभाग द्वारा खरीदा जाता है, मगर इसमें से अधिकतर सामान नकली होता है। यह निचले दर्जे का खेल सामान न…
?>