Divya Himachal Logo Aug 24th, 2017

विचार


मलबा बने मिट्टी के घर

(ध्रुव, पुराना मटौर, कांगड़ा )

इस बार की भारी बरसात ने मिट्टी के घरों को मिट्टी में ही मिला दिया। बेरहम बरसात ने कई जिदंगियां तो छीनी हीं, कइयों के आशियाने भी लूट लिए। यहां पर वह दोहा याद आ जाता है  देने वाले किसी को गरीबी न दे मौत दे मगर बदनसीबी न दे। यह दोहा उन गरीबों के लिए ठीक बैठता है, जिनके घर मिट्टी के हैं। इस वर्ष प्राकृतिक आपदा में जहां सैकड़ों लोग काल के गाल में समा गए हैं, कई लाशों का अभी भी कोई अता-पता नहीं। बरसात ने इनसान तो इनसान, निरीह जीव-जंतुओं को भी नहीं छोड़ा। आखिर कब तक हिमाचली समाज को प्रकृति के रौद्र रूप का सामना करना पड़ेगा?

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !

August 23rd, 2017

 
 

भगवा आतंक के सच-झूठ !

यह जीत और जश्न मनाने का वक्त और मौका नहीं है। किसी की जीत और दूसरे की हार नहीं हुई है। लेफ्टिनेंट कर्नल श्रीकांत पुरोहित को सुप्रीम कोर्ट ने जमानत दे दी है, जो अदालत और आरोपी का संवैधानिक अधिकार है। जिस शख्स ने आठ […] विस्तृत....

August 23rd, 2017

 

टीहरा के चार गांवों ने पांच साल से छोड़ी खेती

हनुमान जी की सेना के रूप में आम जनमानस के लिए पूजनीय रहे बंदर ऐसे खुराफाती हुए कि किसानों को दाने-दाने के लाले पड़ गए हैं। कल तक गुड़-चना डालकर अपने आराध्य देव को खुश करने में लगे किसान आज बंदरों के आतंक से इस […] विस्तृत....

August 22nd, 2017

 

मोदी सरकार का तीनवर्षीय लेखा-जोखा

मोदी सरकार का तीनवर्षीय लेखा-जोखाडा. भरत झुनझुनवाला लेखक, आर्थिक विश्लेषक एवं टिप्पणीकार हैं केंद्र की राजग सरकार के कार्यकाल में कई बड़ी उपलब्धियों के बावजूद ग्रोथ रेट में गिरावट आई है। वास्तव में अर्थव्यवस्था की गिरती हालत नोटबंदी एवं जीएसटी का सीधा परिणाम है। इसमें कोई संशय नहीं है […] विस्तृत....

August 22nd, 2017

 

देश की दृष्टि में हिमाचल

हिमाचल के राष्ट्रीय दृष्टि में आने के संयोग इस बार चुनाव के लिए अगर पुख्ता होते हैं, तो इसके आलोक में प्रदेश को सही परिप्रेक्ष्य में प्रस्तुत किया जा सकता है। विडंबना यह है कि दिल्ली के गलियारों में आज भी पहाड़ की छवि को […] विस्तृत....

August 22nd, 2017

 

पूर्व सैनिकों के सेवा लाभ पर गिद्ध दृष्टि

पूर्व सैनिकों के सेवा लाभ पर गिद्ध दृष्टिअनुज कुमार आचार्य लेखक, बैजनाथ से हैं पूर्व सैनिक निर्धारित सेवा शर्तों को पूरा करके ही नौकरी हासिल करते हैं, फिर इन सैनिकों की नौकरियों को लेकर इतना हो हल्ला एवं ईर्ष्या-द्वेष वाला रवैया क्यों? जब सैनिक पुनर्वास का मामला उच्चतम न्यायालय में विचाराधीन है, […] विस्तृत....

August 22nd, 2017

 

बुलेट का सपना छोड़ दें !

खतौली-मुजफ्फरनगर रेल हादसे के खलनायक और मुजरिमों के चेहरे लगभग सार्वजनिक हो चुके हैं। रेलवे बोर्ड के सदस्य, महानिदेशक और दिल्ली डीआरएम को छुट्टी पर भेजा गया है, जबकि चार इंजीनियर निलंबित कर दिए गए हैं। समझ नहीं आता कि यह कार्रवाई ही पर्याप्त है […] विस्तृत....

August 22nd, 2017

 

बेस्वादी प्रशंसा

(तुलसी राम गुप्ता, करसोग ) जब से बाली जी ने खाद्य एवं आपूर्ति विभाग संभाला है, तब से लेकर आज तक घोषणाएं तो बहुत हुईं, लेकिन धरातल पर परिणाम ज्यादा नजर नहीं आते। बाली साहब कभी घोषणा करते हैं कि अब दो पैकेट तेल के […] विस्तृत....

August 22nd, 2017

 

अंसारी के हल्के बोल

(मुकेश विग, सोलन ) उपराष्ट्रपति पद से दस वर्ष बाद सेवानिवृत्त होने वाले हामिद अंसारी ने अल्पसंख्यकों पर जो कुछ भी कहा, वह किसी भारतीय के गले उतरने वाला नहीं। आज हिंदू-मुस्लिम जिस भाईचारे की मिसाल बनकर रह रहे हैं, वह सभी को पता है। […] विस्तृत....

August 22nd, 2017

 

और यह भी…

(सुरेश कुमार, योल, कांगड़ा ) समाचारों के अनुसार प्रधानमंत्री हिमाचल में एम्स की नींव रखेंगे। आरटीआई के अनुसार अब तक केंद्र ने इसकी अधिसूचना ही जारी नहीं की है। प्रधानमंत्री जी, आप जब भी हिमाचल आएं, अधिसूचना की प्रति साथ लेकर आएं, क्योंकि ऐसे ही […] विस्तृत....

August 22nd, 2017

 
Page 3 of 2,14412345...102030...Last »

पोल

क्या कांग्रेस को विस चुनाव वीरभद्र सिंह के नेतृत्व में लड़ना चाहिए?

View Results

Loading ... Loading ...
 
Lingual Support by India Fascinates