himachal pradesh news, himachal pradesh top stories, himachal pradesh tourism

दोस्त देशों की मदद

सूबेदार मेजर (से.नि.) केसी शर्मा, गगल सीमा पर यदा कदा पाकिस्तान और चीन की हरकतों को देखकर लगता है कि ये दोनों पड़ोसी कभी भी हमारे समक्ष बड़ी मुश्किलें खड़ी कर सकते हैं। पाकिस्तान जम्मू-कश्मीर में और चीन डोकलाम और अरुणाचल में अपने एजेंडे के…

मोदी, तोगडि़या और तख्त

पीके खुराना लेखक, वरिष्ठ जनसंपर्क सलाहकार और विचारक हैं सन् 2008 में मोदी जब गुजरात के मुख्यमंत्री थे तो राज्य में अवैध मंदिरों को गिराया गया था, जिससे नाराज होकर तोगडि़या ने मोदी के विरुद्ध बोलना शुरू किया। वह दरार समय के साथ-साथ बढ़ती चली…

अनिवार्य हो नैतिक शिक्षा

नीरज मानिकटाहला, यमुनानगर, हरियाणा समाज में नैतिक मूल्यों का अनवरत अवमूल्यन चिंताजनक है। छेड़छाड़, मानमर्दन व हत्या सरीखे संगीन कृत्य और एकल परिवारों का चलन नैतिक शिक्षा को तिलांजलि का ही नतीजा है। शैशवावस्था में बालमन शून्य होता है। चूंकि…

बड़ी बातें नहीं, स्पष्ट इरादे चाहिएं

राकेश शर्मा लेखक, जसवां, कांगड़ा से हैं आर्थिक हालात को ठीक करने के लिए केवल बातों की नहीं, बल्कि मजबूती के साथ धरातल पर काम करने की जरूरत है। एक समृद्ध प्रदेश के निर्माण के लिए आज से ही सरकार को कुछ ठोस निर्णय लेने की जरूरत है, ताकि आने…

घरेलू हिंसा के दंश

अभिषेक कुमार, केंद्रीय विश्वविद्यालय, धर्मशाला समाज में आज भी कई महिलाएं तथा बच्चे घरेलू हिंसा के शिकार हैं। महिला के साथ पति या ससुराल पक्ष के अन्य लोगों द्वारा अमूमन हिंसक व्यवहार किया जाता है। इससे उसके स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ता है…

कर्मठता को सजा

अमन शर्मा, चिंतपूर्णी दो-तीन वर्ष पहले तक जब हम अपने दोपहिया वाहन से कांगड़ा जाया करते थे, तो कभी रास्ते में कोई नाका नहीं देखा। जब संजीव गांधी ने कांगड़ा के एसपी के तौर पर कार्यभार संभाला, तो हर रोज देहरा से कांगड़ा की सड़कों पर पुलिस…

हिमाचली अभिव्यक्ति के खिलाफ

अभिव्यक्ति न तो आरोहण की लत में जिंदा है और न ही लाड़लेपन की फितरत में मजबूत है, फिर भी हिमाचल में राजसत्ता में अभिव्यक्ति किसी रासलीला की तरह अपने वजूद का हिसाब बनकर दिखाई देने लगी है। अभिव्यक्ति के दम पर समाज और देश की भाषा, सभ्यता व…

हज सबसिडी पर ढक्कन

प्रधानमंत्री मोदी ने सत्ता में आने के बाद हज सबसिडी खत्म करने का जो सिलसिला शुरू किया था, अब उस पर पूरी तरह ढक्कन लगा दिया गया है। मोदी सरकार ने हज के लिए प्रस्तावित सबसिडी बिलकुल ही खत्म करने का फैसला लिया है। अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री…

मुस्लिम कल्याण के लिए

राजेश कुमार चौहान, जालंधर सरकार ने हज यात्रा के लिए दी जाने वाली सबसिडी बंद करने और पैसे को मुस्लिम वर्ग के कल्याण के लिए लगाने का फैसला लिया है। सरकार ने हज यात्रा के लिए दी जाने वाली सबसिडी में गड़बड़ी का अंदाजा लगाया होगा, तभी सरकार ने…

हिंदी-यहूदी भाई-भाई

इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने भारत के प्रधानमंत्री मोदी को ‘क्रांतिकारी’ माना है। उनके नेतृत्व में भारत चौतरफा क्रांति का संवाहक देश है। प्रधानमंत्री मोदी भारत को भविष्य का देश बनाते हुए क्रांतिकारी काम कर रहे हैं। उन्होंने…

कायदे और कारगुजारी का अंतर

वीरेंद्र पैन्यूली लेखक, स्वतंत्र टिप्पणीकार हैं जिस दिन से देश आजाद हुआ, हर नेता तो यही कहता आता है कि अधिकारियों को फाइलों तक ही सीमित नहीं रहना चाहिए, बल्कि जमीनी हकीकत जानने के लिए जनता के बीच जाना चाहिए। किस जिला अधिकारी की यह…

जनसंख्या विस्फोट से दबाव में संसाधन

कुलभूषण उपमन्यु लेखक, हिमालय नीति अभियान के अध्यक्ष  हैं आबादी बढ़ने से संसाधनों की खपत बढ़ती है, पर प्राकृतिक संसाधन सीमित मात्रा में उपलब्ध हैं। आबादी वृद्धि की कोई सीमा नहीं है। आबादी  वृद्धि से प्रति व्यक्ति भूमि की उपलब्धता घटते-घटते…

दाखिले की लूट

राजेश कुमार चौहान, सुजानपुर टीहरा जनवरी के आरंभ होते ही विद्यालयों, खास तौर पर निजी विद्यालयों में बच्चों के दाखिले को लेकर प्रचार जोर-शोर से शुरू हो जाता है। ये स्कूल पहले से इनमें पढ़ रहे विद्यार्थियों की भी री-एडमिशन करते हैं। देश-प्रदेश…

राष्ट्रीय सुरक्षा से समझौता

जोगिंद्र ठाकुर, भल्याणी, कुल्लू आवश्यकता से अधिक उदारता और राजनीतिक स्वार्थों के चलते भारत की सुरक्षा को खतरे में डाला जाता रहा है। देश के दलालों और भ्रष्ट व्यवस्था ने भारत को एक धर्मशाला बना दिया है, जहां कोई भी बेरोकटोक अवैध रूप से रह…

अंगुली टेढ़ी कीजिए

डा. सत्येंद्र शर्मा, चिंबलहार, पालमपुर बहुत नाक में दम किया, बहुत किया अंधेर, अंगुली टेढ़ी कीजिए, मत करिए अब देर। फिर ओसामा की तरह, फैलाएं अब जाल, सबक मिले नापाक को, चलें ट्रंप की चाल। बहुत कर चुके सब्र, अब बहुत बख्श दी जान, दहशत को अब नरक…
?>