कृषि हेल्पलाइन

पेड़ पर पकने के बाद ही तोड़ें फल हिमाचल प्रदेश में फलों के अंतर्गत क्षेत्र निरंतर बढ़ता जा रहा है। प्रदेश में फलों की भारी मात्रा बहुत ही कम समय में पककर तैयार हो जाती है,जिसके कारण फल की मात्रा देश की विभिन्न मंडियों में बिक्री के लिए एक ही समय पहुंच जाती है, जिससे एक ओर फलों के भाव काफी हद तक गिर…
Read More...

कृषि हेल्पलाइन

प्लास्टिक ट्रे में बिना मिट्टी ऐसे उगाएं सब्जियां सब्जियों की नर्सरी लगाना एक उपयोगी व्यवसाय के रूप में किसानों के लिए लाभकारी है। ट्रे में नर्सरी उत्पादन द्वारा ऐसी सब्जियां, जिनकी परंपरागत विधि से पौध तैयार करना संभव नहीं, जैसे बेल वाली सब्जियां, उनकी पौध भी तैयार की जा सकती है। यह तकनीक सामान्य…
Read More...

कृषि हेल्पलाइन

कीटनाशी छिड़काव के दस दिन बाद तोड़ें फल ग्रीष्मकालीन सब्जियों में भिंडी किसानों की आय का मुख्स स्रोत है, लेकिन कुछ नाशी कीट एवं व्याधियां किसानों की आय में लगभग 20 प्रतिशत  कटौती  करती हैं। विभिन्न अवस्थाओं में लगने वाली नाशी कीटों के बारे में यदि किसान भाइयों तथा बहनों को जानकारी हो तो वे समय पर…
Read More...

कृषि हेल्पलाइन

जब छिड़काव करना हो तभी घोलें बोर्डो घोल पिछले हफ्ते आपने पढ़ा पौधों में होने वाले रोगों में करें बोर्डो मिश्रण का छिड़काव और लेप अब पढ़ें किस तरह करें छिड़काव... सक्रियता का परीक्षण : बोर्डो घोल तैयार करने के बाद यह अति आवश्यक है कि इसमें विद्यमान सक्रिय तांबे के अंश के लिए इसका परीक्षण करें…
Read More...

कृषि हेल्पलाइन

पौधों पर करें बोर्डो मिश्रण का छिड़काव कैकर, अनुमोदित छिड़कावः रोगग्रस्त पत्तों और शाखाओं को काट दें और जलाकर नष्ट कर दें। वर्षा ऋतु के दौरान पौधों तथा पौधशालाओं में बोर्डो मिश्रण (4:4:50) का 15-20 दिनों के अंतराल पर छिड़काव करें। सूखी टहनियों तथा छोटी शाखाओं को काट दें। कटे हुए स्थान पर बोर्डो…
Read More...

कृषि हेल्पलाइन

स्वाद बिगड़ने से पूर्व तोड़ लें फल फल मक्खी का समन्वित प्रबंधनः ऐसे फलों को छोड़कर जिनमें समय से पहले कटाई करने पर स्वाद बिगड़ने की संभावना हो, परिपक्वता की अगेती स्थिति में कटाई कर लेनी चाहिए। फलों को सही समय पर सही प्रकार से तोड़ लेना चाहिए। बाग की स्वच्छता का विशेष ध्यान रखना बहुत जरूरी है।…
Read More...

कृषि हेल्पलाइन

फल मक्खी से सब्जियों- फलों को बचाएं फल मक्खी कई प्रकार के फलों व कद्दूवर्गीय सब्जियों का मुख्य दुश्मन है। इसके द्वारा उत्पादन में 40-80 प्रतिशत हानि पहुंचती है। एक अनुमान के अनुसार भारत में फल मक्खी के कारण वार्षिक 2945 करोड़ रुपए का नुकसान होता है। प्रायः यह देखा गया है कि किसान सोचता है कि फल…
Read More...

कृषि हेल्पलाइन

भंवरा पालन से बढ़ाएं उत्पादन-गुणवत्ता भंवरा एक वन्य कीट है, जो कृत्रिम परपरागण क्रिया में सहायक है, विदेशों, जैसे कि यूरोप, उत्तर अमरीका, हॉलैंड, चीन, जापान, तुर्की, कोरिया आदि में भंवरा पालन बड़े पैमाने में व्यावसायिक तौर पर किया जाता है। मुख्यतः इसका प्रयोग स्यंत्रित प्रक्षेत्रों (हरितगृह) में…
Read More...

कृषि हेल्पलाइन

भंवरा पालन तकनीक एवं फसलों के परपरागण में उपयोगिता भंवरा एक वन्य कीट है, जो कृत्रिम परपरागण क्रिया में सहायक है, विदेशों जैसे कि यूरोप, उत्तर अमरीका, हॉलैंड, चीन, जापान, तुर्की, कोरिया आदि में भंवरा पालन बड़े पैमाने में व्यावसायिक तौर पर किया जाता है। मुख्यतः इसका प्रयोग स्यंत्रित प्रक्षेत्रों…
Read More...

कृषि हेल्पलाइन

फफूंद व जीवाणु नाश को छिड़कें बोर्डो घोल पर्वतीय क्षेत्रों के किसानों-बागबानों के लिए बोर्डो मिश्रण अथवा बोर्डों घोल एक जाना-पहचाना नाम है। फलदार पौधों तथा सब्जियों के लिए यह रामबाण औषधि के नाम से जाना जाता है। इस मिश्रण का आविष्कार फ्रांस के बोर्डो विश्वविद्यालय के प्रोफेसर मिलारडेट ने 1885 ई. में…
Read More...

कृषि हेल्पलाइन

सेब के गीले पौधों पर दवाई का छिड़काव न करें मार्च के महीने में सेब बागबान ही स्प्रे आयल या हॉर्टिकल्चरल मिनरल आयल छिड़कने में व्यस्त रहते हैं। इसका स्प्रे विशेषकर सैनजो स्केल को मारने के लिए किया जाता है। यह सेब का एक प्रमुख हानिकारक कीट है। इससे कम प्रकोपित पौधों की छाल पर छोटे-छोटे सूई की नोक…
Read More...

सेब के गीले पौधों पर दवाई का छिड़काव न करें

मार्च के महीने में सेब बागबान ही स्प्रे आयल या हॉर्टिकल्चरल मिनरल आयल छिड़कने में व्यस्त रहते हैं। इसका स्प्रे विशेषकर सैनजो स्केल को मारने के लिए किया जाता है। यह सेब का एक प्रमुख हानिकारक कीट है। इससे कम प्रकोपित पौधों की छाल पर छोटे-छोटे सूई की नोक जैसे भूरे रंग के धब्बे नजर आते हैं और अधिक…
Read More...

कृषि हेल्पलाइन

शिमला मिर्च को बचाएं ब्लाइट डाइबैक से शिमला मिर्च को कई प्रकार के रोग और कीट नुकसान पहुंचाते हैं और इनमें फल सड़न और ब्लाइट प्रमुख हैं :  इस कारण फलों पर छोटे-छोटे पीले धब्बे पड़ जाते हैं और फल पूर्णतया सड़ जाता है। फूल आते हुए और फल बनते समय पत्तों पर छोटे-छोटे तेली धब्बे उभरते हैं, जिससे पौधे…
Read More...

कृषि हेल्पलाइन

ठंड में न दें पौधों को ज्यादा पानी सब्जियों के सफलतापूर्वक उत्पादन के लिए बीज और पौध का बीमारी तथा कीट रहित होना अनिवार्य है। अधिकांश सब्जियों की आमतौर पर सीधी बुआई की जाती है, परंतु कुछ सब्जियां जैसे कि टमाटर, बैंगन, शिमला मिर्च, मिर्च, फूलगोभी, बंदगोभी, प्याज के लिए सर्वप्रथम पौधशाला तैयारी की…
Read More...

कृषि हेल्पलाइन

गोभीनुमा सब्जियों पर छिड़कें क्वीनलफोस 25 ईसी प्रदेश के कई भागों में सितंबर-अक्तूबर से गोभीनुमा सब्जियों की रोपाई की जाती है तथा फरवरी-मार्च में इनकी सब्जियों को मार्केट में भेजकर किसान अच्छी आमदन लेते रहते हैं। इन सब्जियों में नवंबर-दिसंबर तथा जनवरी में अधिक ठंड इोने के कारण नाशीकीटों व बीमारियों…
Read More...