कुलपति की प्राथमिकताएं

सबसे पहला कार्य बीज उत्पादन योजना को और सशक्त करना है, ताकि किसान बेहतर किस्म के साथ अधिक उत्पादन कर सकें। चूंकि पशु और कृषि एक-दूसरे के पूरक हैं, लिहाजा पशुपालन क्षेत्र पर ज्यादा ध्यान देने की जरूरत है। पशुधन को बीमारियों से बचाना, नस्लों में सुधार करना और पशुपालकों की समस्याओं को समझना। कबायली क्षेत्र के किसानों की समस्याएं और उनका समाधान एक बहुत बड़ी चुनौती है। इस बार लाहुल-स्पीति प्रशासन से बातचीत की गई है और वैज्ञानिकों को ‘क्राप सीजन’ में वहां पहुंचाने के लिए हेलिकाप्टर में सीटें आरक्षित होंगी। प्रदेश में जल प्रबंधन पर भी विशेष ध्यान देंगे और जनता को जागरूक किया जाएगा। विश्वविद्यालय का मुख्य उद्देश्य मानव संसाधन तैयार करना है, लिहाजा अध्ययन क्षेत्र का विस्तार होगा और कुछ नए कोर्स शुरू होंगे। उसमें कुछ तो रोजगारपरक होंगे।

You might also like